वह खूबसूरत कमसिन अदाओं वाली अपने बोल्ड अदाओं से लोगों को घायल कर देती थी। अपने निराले अंदाज से लोगों के दिलों में राज करती थी, वह अपनी फिल्मों की वजह से कम अपने दिल फेक अंदाज की वजह से ज्यादा चर्चाओं में बनी रहती थी। हम बात कर रहे हैं 80 के दशक की अदाकारा टीना मुनीम कि। जो आगे चलकर टीना अंबानी के नाम से जानी जाती हैं।

टीना अंबानी का जन्म और निजी जीवन |Tina Ambani

टीना का जन्म 11 फरवरी 1957 को मुंबई के गुजराती परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम नंदकुमार चुन्नीलाल मुनीम था, उनकी मां का नाम मीनाक्षी था। टीना के आठ भाई बहन थे, टीना की स्कूली शिक्षा मुंबई के एम एम पुपिल आउन स्कूल से पूरी हुई थी। टीना काफी टैलेंटेड थी, जब टीना स्कूल में ही पढ़ाई कर रही थी, तभी 17 साल की कम उम्र में टीना ने फेमिना टीन प्रिंसेस इंडिया (Famine Teen Princess India) का खिताब अपने नाम किया था। फिर अरोबा मे मीस टीन  इंटरकंटीनेंट प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। यहां पर टीना उप विजेता रही थी। फिर टीना ने अपने पढ़ाई आगे जारी रखते हुए, मुंबई के जय हिंद कालेज से आर्ट से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की।

टीना अंबानी का फिल्मों मे आने का किस्सा

जब टीना ने फेमिना टीन प्रिंसेस इंडिया (Famine Teen Princess India) का खिताब जीता था। उस समय पर टीना की कई मैगजीन में फोटो छपी थी। एक दिन प्रसिद्ध अभिनेता देवानंद की नजर मैगजीन में छपी फोटो पर पड़ी तो देवानंद ने अपनी फिल्म देश परदेश के लिए टीना को अभिनेत्री के रूप मे फिल्म मे शामिल कर लिया और उनके हीरो देवानन्द खुद बन गए।

टीना को भी काफी खुशी हुई, क्योंकि देवानन्द उस समय बहुत बड़े कलाकार थे, वह स्वयं टीना के पास फिल्म का ऑफर लेकर आए थे। लेकिन दिक्कत यह थी कि टीना को एक्टिंग कैसे करना है टीना को इसके बारे मे नहीं पता था और ना ही उन्हें एक्टिंग आती थी। फिर देवानंद ने खुद ही टीना को एक्टिंग सिखाई और उसके एक्टिंग गुरु बन गए। फिर क्या था टीना ने फिल्म मे इतनी बेहतरीन एक्टिंग की कि 1978 में आई फिल्म देश परदेश ने तो चारों तरफ तहलका मचा दिया। फिल्म सुपरहिट रही, यह फिल्म कई महीनों तक सिनेमाघरों में चलती रही थी। टीना ने अपनी पहली ही फिल्म से फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बना ली थी। अब टीना को एक के बाद एक फिल्मों के आफ़र आना शुरू हो गया।

टीना मुनीम का फिल्मी सफर

1980 में टीना अंबानी की फिल्म कर्ज रिलीज हुई, इस फिल्म में टीना के हीरो ऋषि कपूर थे। यह फिल्म भी हिट साबित हुई और टीना रातों-रात बड़ी अभिनेत्री की लिस्ट में शामिल हो गई। टीना अब तो एक के बाद एक कई हिट फिल्मों का हिस्सा बनती ही चली गई। टीना कि एक फिल्म सौतन आई थी जो कि सुपर हिट साबित हुई थी। इस फिल्म में टीना के अभिनय की खूब तारीफ हुई थी। टीना ने सभी बड़े अभिनेताओं के साथ में काम किया, टीना को फिल्मी दुनिया में महान कलाकार देवानंद लेकर आए थे। जिसके कारण टीना को देवानंद की खोज कहा जाता था।

टीना मुनीम ने देवानन्द को किया प्रेम इजहार

जब टीना की पहली फिल्म देवानंद के साथ में हिट हुई थी तभी से देवानंद ने अपनी अधिकांश फिल्मों में हीरोइन के रोल में टीना मुनीम को कास्ट कर लिया करते थे और अपने साथ फिल्मी पार्टियों में भी टीना को साथ में लेकर जाया करते थे। टीना मुनीम को देवानंद से प्यार हो गया था। अधिकांश दोनों लोग साथ में पार्टियों में जाया करते थे, जिस वजह से यह अफवाह उन दिनों बॉलीवुड में खूब चर्चा में था।

See also  2009 की Best फिल्म avatar movie Hit हुई थी या फिर Flop? आइये जानते हैं

देवानंद और टीना मुनीम का अफेयर चल रहा है,  जबकि ऐसा नहीं था,  हां टीना मुनीम देवानंद से बहुत प्यार करती थी। लेकिन देवानंद के लिए टीना केवल एक एक्टर थी जो कि उनकी फिल्मों की बेहतरीन हीरोइन हुआ करती थी। लेकिन एक दिन टीना ने अपने प्यार का इजहार किया तो देवानंद भाव चक्के रह गए।

देवानंद ने टीना को समझाया कि देखो मैं एक शादीशुदा इंसान हूं और तुम केवल मेरी दोस्त हो। फिर देवानंद ने कुछ दिनों के बाद  टीना मुनीम से दूरी बना ली और टीना के साथ फिल्मों में काम करना बंद कर दिया। फिर उस दिन से टीना ने देवानंद की फिल्मों में कभी भी काम नहीं किया। टीना उस समय देवानंद की बातों से काफी आहत हुई थी।

टीना मुनीम और संजय दत्त का प्यार

एक दिन एक पार्टी में टीना की मुलाकात उनके कॉलेज के दोस्त रहे संजय दत्त से हुई टीना और संजय ने एक ही कॉलेज से पढ़ाई की थी। जिस कारण दोनों एक दूसरे को अच्छे से जानते थे, संजय और टीना एक साथ अब ज्यादा समय बिताने लगे। फिर दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई, अब तो इनके प्यार के किस्से बॉलीवुड के हर गलियारों पर सुनने को मिलने लगे। कई मैगजीन में दोनों की तस्वीर भी छापी गई। दोनों अक्सर साथ में देखे जाने लगे। फिर एक दिन सुनील दत्त ने इन दोनों को लेकर एक फिल्म बनानी चाही फिल्म थी रॉकी जो कि संजय दत्त की पहली फिल्म थी। जब फिल्म बनकर रिलीज हुई तो हिट साबित हुई, इन दोनों की जोड़ी ने दर्शकों के बीच जैसे झंडे गाड़ दिए थे। अब तो टीना और संजय दत्त की जोड़ी दर्शकों को खूब पसंद आने लगी और पोस्टर छपने लगे।

टीना संजय के प्यार में इतनी पागल हो चुकी थी कि वह केवल संजय दत्त के साथ ही काम करना चाहती थी और किसी के साथ नहीं। यही वजह थी कि उन्होंने लव स्टोरी और एक दूजे के लिए जैसे बड़ी फिल्मों में काम करने से मना कर दिया था। संजय दत्त भी टीना के लिए काफी सीरियस थे। एक बार दिए गए अपने इंटरव्यू में संजय दत्त ने बताया था कि मैं कभी भी अपनी गर्लफ्रेंड के करियर में इंटरफेयर नहीं करता था। सिवाय कपड़ों के लिए मैं टीना के लिए बहुत सीरियस था। वह केवल मेरी थी, मैं नहीं चाहता था कि वह स्क्रीन में खुद को एक्सपोज करें। मैं बहुत इमोशनल पर्सन हूं और मेरी मां का मेरे ऊपर एक स्ट्रांग असर था। उनके जाने के बाद टीना ने उनकी जगह ले ली थी। लेकिन कुदरत को कुछ और ही मंजूर था अचानक कुछ ऐसा हुआ कि इन दोनों का यह रिश्ता टूट गया।

टीना और संजय का रिश्ता टूट गया

एक दिन टीना संजय दत्त के कमरे में गई तो देखा कि संजय दत्त नशे में चूर थे। संजय ने ड्रग्स लेना शुरू कर दिया था। टीना संजय को देखकर दंग रह गई। क्योंकि वह संजय को बहुत अच्छी तरह से जानती थी। टीना गुस्से में तमतमा कर संजय से सवाल किया कि “यह सब क्या है तुम ड्रग्स लेते हो। मुझे नहीं पता था कि तुम एक नशेड़ी हो” फिर दोनों में काफी लड़ाई हुई और पास में रखी एक बोतल को तोड़ कर संजय ने अपना हाथ काट लिया। उसके हाथ से खून निकलता देख टीना चिल्लाती हुई कमरे से बाहर भाग गई और फिर टीना ने यहीं से संजय से दूरी बनाना सही समझा। क्योंकि टीना एक नशेड़ी के साथ अपनी पूरी जिंदगी नहीं बिता सकती थी।

लेकिन संजय टीना को बहुत प्यार करते थे, टीना का यूं उन्हें छोड़ के चले जाना बर्दाश्त नहीं कर पाए और संजय दत्त ने हाथ में बंदूक लेकर आधी रात को सड़क पर फायर करते हुए दौड़ लगा दी थी फिर पड़ोसियों ने पुलिस को बुलाया। इधर टीना भी संजय को छोड़ तो चुकी थी, लेकिन उन्हें भुला नहीं पा रही थी। टीना काफी दुखी थी। फिर 1982 में टीना की फिल्म सौतन आई थी जो कि सुपरहिट साबित हुई थी।

See also  Ranjeeta Kaur : 70 के दशक की टॉप एक्ट्रेस रंजिता, पति को जान से मारने की कोशिश

टीना मुनीम और राजेश खन्ना का अफेयर

इस फिल्म के हीरो राजेश खन्ना थे, इसी फिल्म की शूटिंग के दौरान टीना और राजेश एक दूसरे के करीब आ गए थे। टीना उस समय काफी दुखी थी तो जब उन्हें राजेश खन्ना का सहारा मिला तो टीना उनके करीब आ गई, हालांकि टीना को मालूम था कि राजेश शादीशुदा है और दो बच्चों के पिता हैं। फिर भी वह उनकी तरफ खिची चली गई फिर क्या था, जब इनके अफेयर की जानकारी राजेश खन्ना की पत्नी डिंपल कपाड़िया को मिली तो वह नाराज होकर अपनी दोनों बेटियों को लेकर घर से चली गई।

इधर टीना राजेश खन्ना के साथ लिव-इन में रहने लगी यह दोनों कपल कई सालों तक साथ में रहे। जबकि राजेश टीना से 15 साल बड़े थे। लेकिन टीना को इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था वह चाहती थी कि राजेश जल्द से जल्द डिंपल को तलाक देकर, उनसे शादी कर ले। लोगों ने टीना को डिंपल की जिंदगी में काली परछाई बनकर आई है तक कहना शुरू कर दिया था। क्योंकि टीना की वजह से ही राजेश और डिंपल में गलतफहमी पैदा हुई थी और डिंपल घर से चली गई थी। जिसका असर उनकी बेटियों में भी पड़ा था।

जब राजेश और डिंपल अलग रहने लगे थे तो राजेश ने टीना से कहा था कि डिंपल से तलाक लेने के बाद मैं तुमसे शादी करूंगा। टीना उस दिन के इंतजार कर रही थी, जब राजेश डिंपल को तलाक दे और वो दोनों शादी करें। फिर जब भी टीना राजेश से इस बारे में बात करती थी तो वह बात को टाल दिया करते थे। असल में बात तो यह थी कि राजेश डिंपल को तलाक देना ही नहीं चाह रहे थे। राजेश तो केवल टीना के साथ टाइम पास कर रहे थे। जब यह बात धीरे-धीरे टीना को भी समझ आने लगी तो टीना ने राजेश से अलग होना ही सही समझा। टीना अपने आप को इस माहौल से बाहर निकालने के लिए अमेरिका चली गई और वहां पर अपनी पढ़ाई पूरी करने लगी थी।

आखिरकार टीना को मिला उनका सच्चा साथी

टीना को प्यार में बार-बार धोखा ही मिला था। जिस कारण से टीना काफी दुखी रहती थी, तभी उनके जीवन में एंट्री हुई एक नए इंसान जिसका नाम था अनिल अंबानी। जो कि भारत के सबसे अमीर परिवार के बेटे थे और बाद में टीना के जीवन साथी बने। तो आइए जानते हैं कि टीना और अनिल कैसे मिले और टीना मुनीम भारत के सबसे बड़े घराने अंबानी परिवार की बहू कैसे बनी।

बात 1983 की है जब अनिल अमेरिका के यूनिवर्सिटी आफ पेंसिलवेनिया में पढ़ाई कर रहे थे। अनिल ने एक शादी के फंक्शन में टीना को देखा था, टीना ब्लैक कलर की साड़ी पहने हुए शादी में आए सभी मेहमानों से हटकर लग रही थी। वह काफी सुंदर लग रही थी, शादी के चले पूरे फंक्शन में अनिल की नजरें टीना पर ही टिकी थी। अनिल टीना को देखते ही उनसे प्यार कर बैठे थे। लेकिन टीना की तरफ से कोई रिस्पांस नहीं था। उन्होंने अनिल को नोटिस तक नहीं किया था। अनिल ने जब अमेरिका में टीना को फिलाडेल्फिया मे देखा तो उनसे शहर घूमने की बात कही, इस पर टीना ने उनके साथ जाने से मना कर दिया।

1986 में जब फिर से अनिल और टीना अचानक टकराए तो अनिल पहले से ही टीना के बारे में सारी जानकारियां इकट्ठा कर चुके थे। अनिल अब जान गए थे कि टीना उन्हीं की तरह गुजराती है तो अनिल ने टीना से गुजराती भाषा में बात करना चाहा, अनिल का यह अंदाज टीना को बहुत पसंद आया और दोनों ने काफी देर तक गुजराती में बातें की। उनकी बातों से टीना को इतना तो पता चल गया कि यह शख्स दिल का साफ है और सीधा साधा है। टीना को अनिल का यह अंदाज बहुत पसंद आया, टीना अनिल से काफी प्रभावित हुई, धीरे-धीरे दोनों साथ में दिखाई देने लगे और काफी नजदीक भी आ गए। अनिल ने अपने परिवार वालों से टीना से शादी करने की बात सामने रखी तो उनके परिवार वालों ने इनकार कर दिया। क्योंकि उनका मानना था कि एक अभिनेत्री घर परिवार को सही ढंग से नहीं संभाल सकती है।

See also  गदर 2 फुल मूवी डाउनलोड | Gadar 2 full movie download hd

अनिल चाहते तो टीना से परिवार की मर्जी के खिलाफ जाकर शादी कर सकते थे लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। जब यह बात टीना को मालूम हुई तो वह काफी दुखी हुई। टीना ने अपनी इंटीरियर डिजाइनर की पढ़ाई करने के लिए फिर से अमेरिका चली गई। कई सालों तक अनिल और टीना की बातचीत बंद रही। फिर 1989 में लासएंजल में बहुत बड़ा भूकंप आया था, उस समय टीना वहीं पर थी। तब अनिल को टीना की बहुत चिंता हुई और उन्होंने काफी कोशिश करने के बाद टीना का नंबर पता किया और उन्हें फोन लगाकर पूछा क्या तुम ठीक हो? टीना ने कहा- हां मैं ठीक हूं। फिर तुरंत कोई और बात किए बिना अनिल ने फोन कट कर दिया। टीना को अनिल का यह व्यवहार हैरान करने वाला लगा। उन्हें लगा अनिल को मेरी कितनी चिंता है हमारी कई सालों से बातचीत बंद है फिर भी उन्होंने मेरा हालचाल पूछा। फिर दोबारा टीना ने अनिल को फोन लगाया और उन दोनों की बातचीत शुरू हो गई, इधर अनिल के लिए रोज रिश्ते आते थे मगर अनिल शादी करने से मना कर देते थे। जब कई बार अनिल ने रिश्ते ठुकरा दिए तो उनके परिवार वाले समझ गए कि अनिल टीना के सिवा किसी से शादी नहीं करेगा। आखिरकार परिवार वालों ने अनिल और टीना की शादी के लिए अपनी रजामंदी दे दी। फिर टीना को वापस इंडिया बुलाया गया और 1991 में टीना और अनिल की काफी धूमधाम से शादी हुई। 

टीना ने शादी के बाद फिल्मों में काम करना बंद कर दिया। टीना अनिल के साथ खुशहाल जिंदगी बिता रही हैं, टीना के दो बच्चे हैं जय-अनमोल और जय-अंशुल, टीना अंबानी सोशल मीडिया में काफी एक्टिव रहती हैं। तो इस तरह से टीना मुनीम अंबानी परिवार की छोटी बहू बन गई और टीना मुनीम से टीना अंबानी बन गई। टीना अंबानी की गिनती बड़ी हस्तियों में होती हैं, इन्हें ब्यूटी बीपेन भी कहा जाता है। टीना 65 साल की उम्र पार कर चुकी हैं, टीना को आर्ट और कल्चर का बहुत ज्यादा शौक है। टीना ने मुंबई नेशनल गैलरी आफ मॉडर्न आर्ट के सलाहकार बोर्ड एंड अहमदाबाद में नेशनल इंस्टीट्यूट आफ डिजाइन के साथ में काम किया है। आज टीना एलीफेंट दीप को पुनर्स्थापित करने के लिए यूनेस्को नेशनल आर्कियोलॉजी सर्वे के साथ काम कर रही हैं। इसके अलावा वह कोकिलाबेन हॉस्पिटल भी चलाती हैं।

Keyword – tina ambani, tina ambani movies, tina ambani and sanjay dutt, tina ambani kaun hai, tina ambani husband, tina ambani relationships, tina ambani actress, tina ambani all movie list

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *