Tomato Flu in Hindi : स्वास्थ्य और हाजमे को ठीक रखने के लिए डॉक्टर अक्सर सलाद खाने के लिए सलाह देते हैं। और सलाद बिना टमाटर के लोग सोच भी नहीं सकते। जिस प्रकार आलू सब्जियों का राजा हैं ठीक उसी प्रकार सलाद का राजा टमाटर हैं। बिना टमाटर सलाद एक घास-फूस का मिश्रण ही लगेगा। लेकिन अब टमाटर हमे डराने लगा हैं।  । वर्तमान मे दक्षिण भारत मे “टमाटर फ्लू” नाम की बीमारी फ़ेल रही हैं। इसके नाम की वजह से लोगो को लग रहा है की इस बीमारी का संबंध टमाटर से ही हैं।

अभी पूरी दुनिया कोरोना महामारी से झूझ ही रही थी, की मंकी पोक्स ने भी परेशान करना चालू कर दिया था, उससे थोड़ी राहत मिली तो अब टमाटर फ्लू ने लोगो की नींदे चुरा ली हैं। तो आइये जानते हैं की यह टोमैटो फ्लू क्या हैं और इसके क्या लक्षण हैं।

टोमैटो फ्लू क्या है? What is Tomato Flu?

टोमैटो फ्लू एक वायरल बीमारी हैं, इस बीमारी के चलते शरीर मे चकतते, छाले, त्वचा मे जलन और छोटे बच्चो मे पानी की कमी जैसी समस्या हो रही हैं। यह बीमारी पाँच साल से छोटे बच्चो को हो रही हैं। क्योंकि इस बीमारी मे बच्चो के शरीर मे छाले और चकतते टमाटर की तरह दिखते हैं, इस लिए इसे टोमैटो फ्लू कहा गया हैं।

See also  अब जा के पता चला "lal singh chaddha" फिल्म के फ्लॉप होने का कारण, हवा हुई टाइट

टोमैटो फ्लू के कारण क्या हैं? What are the causes of tomato flu?

अभी स्वास्थ्य अधिकारी इस बीमारी पर शोध और जांच कर रहे हैं, इस लिए अभी कुछ भी स्पष्ट रूप से नहीं कहा गया हैं की इस बीमारी का कारण क्या हैं। कई विशेषज्ञ इस बीमारी को चिकनगुनिया और डेंगू से जोड़ कर भी देख रहे हैं। यह बीमारी अभी मुख्य रूप से केरल मे फैली हुई हैं। जो केवल अभी बच्चो को ही संक्रमित कर रही हैं, केन्द्रीय स्वास्थ्य विभाग इस पर अपनी नजरे बनाए हुये हैं। और देश के कई अन्य राज्यो को भी अलर्ट रहने के निर्देश दे दिये हैं।

टोमैटो फ्लू के लक्षण क्या हैं? What are the symptoms of tomato flu?

अभी तक टोमैटो फ्लू से संबन्धित जो जानकारी प्राप्त हुई हैं उसके मुताबिक इस बीमारी से संक्रमित होने वाले रोगी मे निम्न लक्षण दिखाई देते हैं।

  • तेज बुखार आना
  • शरीर मे चकतते पड़ना
  • बड़े फफोले पड़ना (देखने मे टमाटर की तरह दिखाई देंना)
  • त्वचा मे खुजली होना और खरास होना
  • निर्जलीकरण होना (पानी की कमी महशूस होना)
  • शरीर मे दर्द होना
  • जोड़ी मे सूजन आना

कुछ रोगियों में निम्न लक्षण भी दिखाई दियें है जो कि टोमैटो फ्लू की गंभीरता को दर्शाते हैं :-

  1. घुटनों, हाथों और नितंबों का मलिनकिरण
  2. उल्टी आना या महसूस होना
  3. पेट में अकड़न या ऐंठन हो जाना
  4. थकान महसूस होना और लगातार बने रहना
  5. सामान्य से अधिक खाँसना
  6. छींक आना

क्या टोमैटो फ्लू संक्रामक है? Is Tomato Flu Contagious?

टोमैटो फ्लू एक संक्रामक और वायरल बीमारी हैं। यह छूने से फैलती हैं। इसलिए अगर कोई भी व्यक्ति इस बीमारी से संक्रमित हैं तो उससे दूरी बनाना जरूरी हैं। खासकर बच्चो को रोगी से दूर ही रखे।

See also  अब जा के पता चला "lal singh chaddha" फिल्म के फ्लॉप होने का कारण, हवा हुई टाइट

क्या चिंता का कोई कारण है? Is there any cause for concern?

निश्चित रूप से यह एक संक्रामक बीमारी हैं, लेकिन स्वास्थ्य अधिकारियों ने यह विश्वास दिलाया हैं की यह घातक नहीं हैं। इस बीमारी का इलाज संभव हैं।

टोमैटो फ्लू का इलाज क्या है? What is the treatment for tomato flu?

वर्तमान मे टोमैटो फ्लू का कोई विशेष इलाज नहीं हैं, इस बीमारी का इलाज अभी केवल लक्षण के आधार पर किया जा रहा हैं। अगर किसी को टोमैटो फ्लू हो गया हैं तो उस घर मे ज्यादा से ज्यादा साफ सफाई रखे, और रोगी से जरूरी दूरी बना कर रखे। विशेषज्ञों का मानना हैं की इस बीमारी का सबसे बड़ी समस्या यह हैं की रोगी के शरीर मे पानी की कमी महसूस होना। इस बीमारी से संक्रमित रोगी को पानी, जूस और शरबत पीते रहना जरूरी हैं।

जब रोगी टोमैटो फ्लू से संक्रमित हो जाए तो क्या करें? What to do when patient gets infected with tomato flu?

अगर कोई व्यक्ति या बच्चा टोमैटो फ्लू से संक्रमित हो गया है तो निम्नलिखित बातों का विशेष ध्यान रखें :-

  1. तुरंत रोगी को निकटतम डॉक्टर के पास ले जाए।
  2. आस पास सफाई का ध्यान रखे
  3. रोगी को अगर फफोले हो रहे हैं तो ध्यान दे की रोगी फफोलो को नोचे नहीं
  4. रोगी को समय समय मे उबला हुआ पानी पिलाते रहे जिससे उसे पानी की कमी महसूस न हो
  5. रोगी को नहलाने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करें
  6. रोगी से दूरी बना कर रखे
  7. फ्लू को फैलने से रोकने के लिए संक्रमित रोगी के द्वारा इस्तेमाल किए गए कपड़े, बर्तन और अन्य सामान को अलग से साफ करना चाहिए
See also  अब जा के पता चला "lal singh chaddha" फिल्म के फ्लॉप होने का कारण, हवा हुई टाइट

सूचना/डिस्क्लेमर – इस लेख को medtalks.in नाम की वैबसाइट से आध्यान करके लिया गया हैं। इस लेख मे दिये गए कंटेन्ट के सत्यता की पुष्टि meribaate.in नहीं करता हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *