अमीर खान की बहू-प्रतीक्षित फिल्म लाल सिंह चड्ढा (lal singh chaddha) आखिर कार 11 अगस्त को रिलीज हो ही गई। अमीर खान बहुत प्रयास कर रहे थे की फिल्म के रिलीज करने का सही अवसर मिल सके। देखा जाए तो फिल्म ऐसे समय रिलीज हुई जब राखी और स्वतंत्र दिवस की छुट्टियाँ चल रही थी। इस लिए फिल्म के कमाई करने के आसार काफी बेहतर थे। लेकिन फिल्म रक्षाबंधन के दिन रिलीज हुई और नाक-मुह-सिर सब के बल औंधे होकर गिर गई।

हालांकि अमीर खान को लग ही रहा था की फिल्म “लाल सिंह चड्ढा” को नुकसान हो सकता हैं, इस लिए अमीर फिल्म को बायकोट न करने की अपील कर चुके थे। लेकिन बॉयकाट का असर दिखा और फिल्म अब लगभग फ्लॉप जैसी स्थिति मे आ चुकी हैं।

आखिर क्यो लोगो ने इस फिल्म को बॉयकाट किया?

अगर सोशल मीडिया ऐसे ट्विट्स पढे जाए, जो उनके फिल्म और उनसे संबन्धित हैं तो ऐसा लगता हैं की अमीर खान के फिल्म को बॉयकाट करने का सबसे बड़ा कारण हैं खुद अमीर खान हैं। अमीर खान का जरूरत से ज्यादा और पक्षपाती रूप मे मुखर (woke) होना ही उनके आज की इस स्थिति का सबसे बड़ा कारण हैं। कई ट्वीट पढ़कर आइस अलगता हैं की जनता अब ये मानती ही नहीं हैं की अमीर खान कला के लिए फिल्म बनाते हैं, बल्कि ऐसा लगता हैं की उनका कोई छिपा हुआ एजेंडा हैं, और उस एजेंडे को ध्यान रख कर अमीर खान फिल्म बनाते हैं।

उदाहरण के लिए एक ट्विटर हमे मिला जिसमे ट्वीट करने वाला लिख रहा हैं की पीके फिल्म मे उन्होने कोई ऐसा मौका नहीं छोड़ा जिसमे वो हिन्दू देवी देवता का मज़ाक न बनाया हो। एक ट्विटर यूजर लिखते हैं ठीक इसी तरह से अमीर एक टीवी शो चलाया करते थे, उसमे भी उनका निशाना हिन्दू धर्म ही होता था। इसके अलावा भारत मे उनकी पूर्व पत्नी को डर लगता हैं, जैसे ब्यान ने भी अमीर के लिए जनता के दिल मे रही सही कसर खत्म कर दी। जिस समय तुर्की भारत का 370 आर्टिकल को लेकर विरोध कर रहा था, उसी समय अमीर खान तुर्की के राष्ट्रपति की पत्नी से मुलाक़ात करने गए थे।

See also  महामारी का डर : टोमैटो फ्लू क्या है? कारण, लक्षण और उपचार | Tomato Flu in Hindi

लेकिन अमीर खान को डर तो लग ही गया था, की उनकी फिल्म को बोयकट होगा। इसके बावजूद अमीर खान नहीं सुधारे। क्योंकि वो फिल्मे मनोरंजन के लिए बनाते ही नहीं हैं। ऐसा लगता हैं की वो प्रोपेगेंडा के लिए फिल्मे बनाते हैं। इस फिल्म लाल सिंह चड्ढा (lal singh chaddha) मे भी उन्होने अपनी ऊटपटाँग आदत नहीं छोड़ी और, फिर से धर्म को निशाने मे लिया हैं, ट्विटर के एक ट्वीट ने ये दावा किया हैं की अमीर खान ने फिल्म के एक सीन मे कहा हैं की वह पूजा पाठ नहीं करते हैं, क्योंकि इससे मलेरिया फैलता हैं, दंगा फैलता हैं। इस फिल्म मे तो उन्होने आर्मी का मज़ाक भी उड़ाया हैं। भारत मे मानसिक रूप से संघर्ष करने वाले व्यक्ति को फौज मे शामिल नहीं किया जा सकता हैं, लेकिन अमीर खान ने ये कारनामा भी कर दिखाया हैं। यानि की एक मूर्खता पूर्ण हरकत हैं।

उनके फिल्म का फ्लॉप होने का एक और मुख्य कारण हैं अमीर का इस फिल्म मे हद से ज्यादा ओवर एक्टिंग, उनकी फिल्म के कुछ क्लिप सोशल मीडिया मे वाइरल हो रहे हैं, उन सींस को देख के लगता हैं की ये क्या राइयता फैला रखा हैं अमीर खान ने अपनी फिल्म मे। लेकिन कुछ लोग है इस देश मे जो उस राइयता को देखने जा रहे हैं।

करीना कपूर का एक वीडियो भी खूब वाइरल हो रहा हैं, जिसमे किसी ने करीना से नेपोटिज्म के बारे मे पूछ, तो करीना ने दर्शको पर हो आरोप मध दिया और दर्शको को चैलेंज किया की आप फिल्मे देखने मत जाओ।

See also  महामारी का डर : टोमैटो फ्लू क्या है? कारण, लक्षण और उपचार | Tomato Flu in Hindi

भारत मे तो ऐसा लगता हैं की फिल्म लाल सिंह चड्ढा (lal singh chaddha) बहुत सकारात्मक परिणाम नहीं दे पाएगी। इस लिए अब अमीर खान का पूरी आशा चाइना से ही हैं, की शायद फिल्म वहाँ कुछ कर दिखाये। सोशल मीडिया मे चीन मे फिल्म के चलने की बाटो को लेकर खूब मीम और चुट्कुले बन रहे हैं।

खैर फिल्म चलेगी या नहीं चलेगी ये तो समय ही बताएगा। लेकिन अभी की स्थिति तो देख कर लगता हैं की फिल्म के साँसे फूल चुकी हैं।

सूचना – इस लेख को सोशल मीडिया मे लोगो के कमेन्ट और ट्वीट के आधार पर लिखा गया हैं। इसलिए लिए इस पोस्ट की ज़िम्मेदारी meribaate.in नहीं लेता हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *