bharat ke pradhanmantri ka naam, swatantra bharat ke pradhanmantri ka naam, bharat ke pradhanmantri ka naam kya hai, bharat ke pradhanmantri ka naam bataiye, bharat ke pradhanmantri ka naam in hindi, bharat ke pradhanmantri ka naam likhiye, bharat ke pradhanmantri ka naam likho, भारत के प्रधानमंत्री की सूची, स्वतंत्र भारत के प्रधानमंत्री की सूची, भारत के प्रधानमंत्री की सूची 1947 से 2020 तक, प्रधानमंत्री भारत के प्रधानमंत्रियों की सूची, भारत के प्रधानमंत्री की सूची और कार्यकाल

भारत के प्रधानमंत्री की सूची | Bharat Ke Pradhanmantri Ka Naam

Table of Contents

भारत के प्रधानमंत्री की सूची

क्रम प्रधानमंत्री का नाम कार्यकाल
पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू 15 अगस्त 1947 से 27 मई 1964
कार्यकारी गुलजारी लाल नन्दा 27 मई 1964 से 9 जून 1964
दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री 9 जून 1964 से 11 जनवरी 1966
कार्यकारी गुलजारी लाल नन्दा 11 जनवरी 1966 से 24 जनवरी 1966
तीसरे प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी 24 जनवरी 1966 से 24 मार्च 1977
चौथे प्रधानमंत्री मोरार जी देसाई 24 मार्च 1977 से 28 जुलाई 1979
पांचवे प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह 28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980
इन्दिरा गांधी 14 जनवरी 1980 से 31 अक्टूबर 1984
छठवें प्रधानमंत्री राजीव गांधी 31 अक्टूबर 1984 से 2 दिसंबर 1989
सातवें प्रधानमंत्री विश्व प्रताप सिंह 2 दिसंबर 1989 से 10 नवंबर 1990
आठवें प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर सिंह 10 नवंबर 1990 से 21 जून 1991
नौवें प्रधानमंत्री नरसिंघ राव 21 जून 1991 से 16 मई 1996
दसवें प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी 16 मई 1966 से 1 जून 1966
ग्यारवें प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा 1 जून 1966 से  21 अप्रैल 1997
बारहवें प्रधानमंत्री इंद्रकुमार गुजराल 21 अप्रैल 1997 से 19 मार्च 1998
अटल बिहारी वाजपेयी 19 मार्च 1998 से 19 अक्टूबर 1999
अटल बिहारी वाजपेयी 19 अक्टूबर 1999 से 22 मई 2004
तेरहवें प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह 22 मई 2004 से 17 मई 2014
चौदहवें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 मई 2014 से वर्तमान तक

पहले प्रधानमंत्री – जवाहर लाला नेहरू

पंडित जवाहरलाल नेहरू जी का जन्म 14 नवंबर 1889 को हुआ था। नेहरू जी का जन्म के इलाहाबाद हुआ था। इनके पिता का नाम मोतीलाल नेहरू था जो कि कश्मीरी पंडित थे। जवाहरलाल नेहरू के पिता अंग्रेजों के लिए वकालत किया करते थे। लाल किला में तिरंगा फहराने वाले जवाहरलाल नेहरू पहले व्यक्ति थे। जवाहरलाल नेहरू ने कैंब्रिज के त्रिनिटी कॉलेज से 1910 में अपना ग्रेजुएशन पूरा किया था। जवाहरलाल नेहरू शादी कमला नेहरू साथ 1916 में हुई थी। शादी के 1 साल बाद जवाहरलाल नेहरू को इंदिरा गांधी बेटी के रूप में प्राप्त हुई। नेहरू जी के कपड़े लंदन धुलाई के लिए जाया करते थे। नेहरू जी का रहन सहन पश्चिम सभ्यता के अनुसार था।

जवाहरलाल नेहरू ने प्रधानमंत्री मंत्री के रूप में 15 अगस्त 1947 से लेकर 27 मई 1964 तक अपनी सेवाएं दी थी। जवाहरलाल नेहरू का देहांत प्रधानमंत्री पद में रहते हुए हुआ था। जवाहरलाल नेहरू ने कई किताबें लिखी है उन किताबों में से एक भारत की खोज नाम की पुस्तक भी है। जवाहरलाल नेहरु जी की दो बहने थी एक का नाम विजय लक्ष्मी पंडित था जोकि यूनाइटेड नेशन जनरल असेंबली की पहली महिला अध्यक्ष थी। जवाहरलाल नेहरू 16 वर्ष की उम्र तक घर में ही रहकर अपनी शिक्षा प्राप्त की थी। नेहरू जी की सबसे बड़ी असफलता चीन का युद्ध है और सबसे बड़ी विफल निर्णायक संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में ना शामिल होने का निर्णय है।

कार्यवाहक प्रधानमंत्री – गुलजारीलाल नन्दा

गुलजारी लाल नंदा भारत के कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने। इनका जन्म 4 जुलाई 1898 को हुआ था। इनका जन्म पंजाब के सियालकोट में हुआ था। गुलजारी लाल नंदा लाहौर और इलाहाबाद से अपनी शिक्षा प्राप्त की थी। उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से अपनी शिक्षा प्राप्त की और 1921 में नेशनल कॉलेज मुंबई में अर्थशास्त्र के प्रोफ़ेसर बन गए। गुलजारी लाल नंदा प्रधानमंत्री बनने के पहले श्रममंत्री के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके थे।

See also  India History - यूरोपीय कंपनियों का भारत में प्रवेश

पंडित जवाहरलाल नेहरु जी की मृत्यु के बाद गुलजारीलाल 27 मई 1964 को भारत के कार्यवाहक प्रधानमंत्री चुने गए थे। इसके बाद ताशकंद में श्री लाल बहादुर शास्त्री जी की मृत्यु के बाद उन्हे दुबारा कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनाया गया था। 11 जनवरी 1966 को उन्होंने प्रधानमंत्री के रूप में दुबारा शपथ ली थी। गुलजारी लाल नंदा अपने पहले कार्यकाल में 27 मई 1954 से लेकर 9 जून 1964 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे। इसके बाद लाल बहादुर शास्त्री जी की मृत्यु के बाद गुलजारी लाल नंदा दोबारा कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने इस बार उनका कार्यकाल 11 जनवरी 1966 से लेकर 24 जनवरी 1966 तक रहा। गुलजारी लाल नंदा जी ने 1977 में कांग्रेस के सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था।

दूसरे प्रधानमंत्री- लाल बहादुर शास्त्री

लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर 1904 को मुगलसराय नाम के स्थान में हुआ था। । लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म एक कायस्थ परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम मुंशी शारदा प्रसाद श्रीवास्तव था और माता का नाम रामदुलारी श्रीवास्तव था। लाल बहादुर शास्त्री अपने घर में सबसे छोटे बालक थे, इसीलिए परिवार में सब लोग उन्हें नन्हे कहकर पुकारा करते थे, लाल बहादुर शास्त्री जी ने संस्कृत भाषा में स्नातक किया था इसलिए उन्हें शास्त्री की उपाधि मिली हुई। लाल बहादुर शास्त्री जी के नेतृत्व में 1965 का भारत-पाक युद्ध हुआ था। इस युद्ध में भारत ने पाकिस्तान को अच्छा सबक सिखाया था। लाल बहादुर शास्त्री जी ने इसी समय “जय जवान – जय किसान” का नारा भी दिया था।

युद्ध के बाद पाकिस्तान अपनी हार चुकी जमीन को वापस लेना चाहता था, जिसके लिए ताशकंद में समझौता हो रहा था। वहीं पर लाल बहादुर शास्त्री जी की रहस्यमई मृत्यु हो गई। उन्हें भारत रत्न से भी नवाजा गया है। लाल बहादुर शास्त्री जी की मृत्यु 11 जनवरी 1966 को सोवियत संघ के ताशकंद में हुई थी। उनकी शादी 1928 में ललिता शास्त्री जी के साथ हुई थी और उनके 6 बच्चे हैं।

भारत के दूसरे प्रधानमंत्री के रूप में 9 जून 1964 को शपथ ली थी, उस समय देश के राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन थे। गुलजारी लाल नंदा उनके पहले कार्यवाहक प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया था। नेहरू जी के प्रधानमंत्री रहते हुए लाल बहादुर शास्त्री गृहमंत्री और रेल मंत्री के रूप में कार्य कर चुके थे। लाल बहादुर शास्त्री जब प्रधानमंत्री बने तो विदेश मंत्रालय उन्होंने अपने पास रखा। लाल बहादुर शास्त्री को “मैन ऑफ पीस” के नाम से भी जाना जाता है।

कार्यवाहक प्रधानमंत्री – गुलजारी लाल नन्दा

गुलजारी लाल नन्दा दुबारा कार्यवाहक प्रधानमंत्री के रूप मे चुने गए। इस बार भी उनका कार्यकाल मात्र 13 दिन का रहा।

तीसरे प्रधानमंत्री – इन्दिरा गांधी

इंदिरा गांधी भारत की तीसरी प्रधानमंत्री हैं तथा भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री हैं। इंदिरा गांधी जवाहरलाल नेहरु की बेटी है और भारत के इतिहास में शायद यही से परिवारवाद की राजनीति प्रारंभ हुई है। इंदिरा गांधी का जन्म 19 नवंबर 1917 में हुआ था तथा उनकी मृत्यु 31 अक्टूबर 1984 को हुई थी। इंदिरा गांधी 24 जनवरी 1966 को भारत की तीसरी प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी। इसके बाद वह 24 मार्च 1977 तक प्रधानमंत्री रही। आने वाले 3 वर्षों तक सत्ता से बाहर थी, इसके बाद 14 जनवरी 1980 को इंदिरा गांधी फिर प्रधानमंत्री बनी और 31 अक्टूबर 1984 तक भारत के प्रधानमंत्री रही। प्रधानमंत्री के पद पर रहते हुए, उनकी हत्या खालिस्तानी समर्थकों के द्वारा कर दी गई थी।

इंदिरा गांधी के दो संताने थी, संजय गांधी और राजीव गांधी। संजय गांधी की मृत्यु एक विमान दुर्घटना में हो गई थी, जबकि राजीव गांधी भारत के प्रधानमंत्री बने और चुनाव प्रचार के दौरान लिट्टे समर्थकों के द्वारा उनकी हत्या कर दी गई।

See also  कैसे गोवा भारत का हिस्सा बना? क्या हैं आपरेशन विजय? | Goa ki Azadi

लाल बहादुर शास्त्री के प्रधानमंत्री काल के समय इंदिरा गांधी सूचना एवं प्रसारण मंत्री थी। इसके अलावा इंदिरा गांधी ने विदेश मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय, गृह मंत्रालय और वित्त मंत्रालय का भी अनुभव लिया है। इंदिरा गांधी का नाम इंदिरा प्रियदर्शिनी नेहरू था। इनका जन्म आज के प्रयागराज और उस समय के इलाहाबाद नाम के शहर में हुआ था। उनके समाधि स्थल को शक्ति स्थल के नाम से जाना जाता है।

उनके पति फिरोज शाह गांधी थे। इंदिरा गांधी जी को 1971 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था, हालांकि उस समय इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री के रूप में अपनी सेवाएं दे रही थी। भारत के 2 प्रधानमंत्री ऐसे हैं जिन्हें उनके प्रधानमंत्री रहते हुए, भारत रत्न दिया गया। वह दोनों इंदिरा गांधी और जवाहरलाल नेहरू जी हैं।

चौथे प्रधानमंत्री – मोरार जी देशाई

मोरार जी देशाई भारत के चौथे प्रधानमंत्री थे। मोरार जी देशाई का जन्म गुजरात के भदेली नाम के स्थान मे हुआ था, उस समय गुजरात नामका राज्य नहीं था, उस समय उसे बम्बई प्रेसीडेंसी कहा जाता था। मोरार जी देशाई का जन्म 29 फरवरी 1896 को हुआ था। मोरार जी देशाई के पिता रणछोड़ जी देसाई था, जो की स्कूल मे शिक्षक थे। स्वतन्त्रता संग्राम मे सक्रियता के कारण मोरार जी देसाई को कई वर्षो तक जेल मे रहना पड़ा। 1952 मे मोरार जी देसाई को बम्बई प्रेसीडेंसी का मुख्यमंत्री बनाया गया था। उस समय गुजरात और महाराष्ट्र दोनों एक ही राज्य थे और बम्बई प्रेसीडेंसी के नाम से जाने जाते थे। मोरार जी देसाई 81 वर्ष की उम्र मे 23 मार्च 1977 को प्रधानमंत्री बने थे।

पांचवे प्रधानमंत्री – चौधरी चरण सिंह

चौधरी चरण सिंह जाट परिवार से संबंध रखते थे, उनका जन्म पश्चिम उत्तर प्रदेश के नूरपुर गांव में हुआ था। उनका जन्म 23 दिसंबर 1902 को हुआ था। भारत की आजादी के लिए संघर्ष करते हुए वह कई बार जेल की यात्रा में भी गए हैं। बरेली की जेल में उन्होंने दो डायरी के रूप में किताबें भी लिखी थी। देश की आजादी के बाद चौधरी चरण सिंह राम मनोहर लोहिया के साथ जुड़कर ग्रामीण सुधार आंदोलन में शामिल हो गए थे। 1930 में जब महात्मा गांधी ने सविनय अवज्ञा आंदोलन को प्रारंभ किया था, तब उस समय चौधरी चरण सिंह ने हिंडन नदी (यमुना की सहायक नदी) पर नमक बनाकर सविनय अवज्ञा आंदोलन में अपनी सक्रिय भूमिका निभाई थी।

हिंडन नदी में नमक बनाने की वजह से उन्हें जेल भी जाना पड़ा था। चौधरी चरण सिंह को किसानों का नेता माना जाता था। उनके संघर्षों की वजह से 1952 में यूपी में जमीदारी प्रथा का अंत हुआ और गरीबों को उनका अधिकार मिला था। चौधरी चरण सिंह ने 1954 में उत्तर प्रदेश भूमि संरक्षण कानून को पारित करवाया था। 3 अप्रैल 1967 को चौधरी चरण सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। चौधरी चरण सिंह केंद्र सरकार में गृह मंत्री बने और 1979 में वित्त मंत्री और उपप्रधानमंत्री का कार्यभार भी संभाला, इस दौरान उन्होंने ग्रामीण विकास बैंक की स्थापना की। 28 जुलाई 1979 को समाजवादी पार्टी तथा कांग्रेस की सहायता से चौधरी चरण सिंह प्रधानमंत्री बने। चौधरी चरण सिंह 170 दिनों तक प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया था। चौधरी चरण सिंह का कार्यकाल 14 जनवरी 1980 तक रहा वो जनता पार्टी सेकुलर के सदस्य थे। और बागपत से सांसद थे। चौधरी चरण सिंह भारत के पांचवें प्रधानमंत्री थे।

FAQ about Indian Prime Minister

भारत का पहला प्रधानमंत्री कौन था?

स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू थे। 15 अगस्त 1947 को उन्होने देश के प्रधानमंत्री के रूप मे ज़िम्मेदारी को संभाला था। हालांकि चुनाव मे लोगो ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को प्रधानमंत्री के लिए चुना था, लेकिन महात्मा गांधी जी के कहने मे जवाहर लाल नेहरू देश के पहले प्रधान मंत्री बने।

See also  पुष्पमित्र सुंग कौन था? | pushyamitra shunga in hindi (Best Article 2022)

प्रधानमंत्री की नियुक्ति कौन करता हैं?

प्रधानमंत्री का चुनाव  भारत मे आम चुनाव के माध्यम से अप्रत्यक्ष रूप से होता हैं। फिर चुने हुये सांसद अपना नेता चुनते हैं, इसके बाद राष्ट्रपति बहुमत वाले दल के नेता को प्रधानमंत्री नियुक्त करते हैं।

भारत के 14 प्रधानमंत्री का नाम क्या है?

भारत के 14वे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह हैं। मनमोहन सिंह जी 2004 मे UPA गठबंधन की तरफ से नेता चुने गए और भारत के 14वे प्रधानमंत्री बने। मनमोहन सिंह जी 2014 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे हैं। मनमोहन सिंह जी ने भारत मे निजीकरण को बढ़ावा दिया।

1947 में प्रधानमंत्री कौन था?

अगस्त 1947 के पहले तक भारत स्वतंत्र नहीं था, लेकिन 15 अगस्त 1947 को जब देश आजाद हुआ तब उस समय भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप मे पंडित जवाहरलाल नेहरू को चुना गया था। इसलिए 1947 मे जवाहरलाल नेहरू जी भारत के प्रधान मंत्री थे।

भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री कौन है?

भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री इन्दिरा प्रियदर्शनी गांधी जी थी। 24 जनवरी 1966 को देश की तीसरी प्रधानमंत्री और भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री के रूप मे चुना गया था।

भारत का प्रथम उप-प्रधानमंत्री कौन था?

भारत के पहले उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल थे। इसके साथ ही वह भारत के पहले गृह मंत्री भी थे। उन्होने अपने उप-प्रधानमंत्री रहते हुये, देश को छोटे-छोटे रियाशतों और भागो मे टूटने से बचाया था।

भारत के सबसे उम्रदराज प्रधानमंत्री कौन है

गुजरात के भदेली मे जन्मे मोरार जी देसाई भारत के सबसे उम्रदराज प्रधानमंत्री थे। मोरार जी देसाई 81 वर्ष की उम्र मे भारत के प्रधानमंत्री बने थे।

दुनिया के सबसे बुद्धिमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी हैं। क्योंकि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री रहते हुये, विदेश नीति को बहुत सही तरीके से संचालित किया गया, जिसका परिणाम यह हुआ हैं की विश्व मे भारत का कद बढ़ा हैं। वही भारत मे जीतने भी पुराने विवाद थे, वो सब मोदी के प्रधानमंत्री रहते एक-एक करके हल हो रहे हैं। इसलिए मोदी दुनिया के संबसे बुद्धिमान प्रधानमंत्री हैं। वेनेजुएला नमके देश मे नोटबंदी की गई तो वहाँ की जनता सरकार के खिलाफ हो गई, लेकिन भारत मे मोदी ने नोटबंदी की तो पूरी जनता मोदी के पक्ष मे आ गई।

Keyword – bharat ke pradhanmantri ka naam, swatantra bharat ke pradhanmantri ka naam, bharat ke pradhanmantri ka naam kya hai, bharat ke pradhanmantri ka naam bataiye, bharat ke pradhanmantri ka naam in hindi, bharat ke pradhanmantri ka naam likhiye, bharat ke pradhanmantri ka naam likho, भारत के प्रधानमंत्री की सूची, स्वतंत्र भारत के प्रधानमंत्री की सूची, भारत के प्रधानमंत्री की सूची 1947 से 2020 तक, प्रधानमंत्री भारत के प्रधानमंत्रियों की सूची, भारत के प्रधानमंत्री की सूची और कार्यकाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *