प्रेग्नेंसी मे भिंडी खाने के फायदे | pregnancy me bhindi khane ke fayade

इंडियनपेरेंटिंग वैबसाइट के एक लेख के अनुसार -> भिंडी में बहुत अधिक फाइबर होता है जो आंतों से चीनी के अवशोषण की दर को कम करके रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करने में मदद करता है, इस प्रकार यह गर्भवती महिलाओं में गर्भकालीन मधुमेह को रोकने में मदद करता है। गर्भावस्था के दौरान कब्ज एक आम शिकायत है – भिंडी में फाइबर मल त्याग को आसान बनाने में मदद करता है और कब्ज को नियंत्रित करता है। गर्भवती महिलाओं के बढ़ते भ्रूण के लिए बहुत अधिक रक्त की आपूर्ति की आवश्यकता होती है, और भिंडी की उच्च लौह तत्व, रक्त में हीमोग्लोबिन बनाने में मदद करती है और एनीमिया के जोखिम को कम करती है। गर्भावस्था के दौरान आपको जिन सामान्य बीमारियों का सामना करना पड़ता है, उन्हें भिंडी खाने से दूर किया जा सकता है क्योंकि यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है।

भिंडी के पोशाक तत्व | bhindi ke poshak tatva

भिंडी मे कौन कौन से पोशाक तत्व होते हैं, यह जानने के लिए हमने नीचे एक तालिका दी हुई हैं, इस तालिका के माध्यम से हम जन सकते हैं की भिंडी मे कौनसे तत्व होते हैं तथा कितनी मात्रा मे यह पोशाक तत्व पाये जाते हैं।

See also  सेब मे कितनी कैलोरी मिलती हैं | ek seb mein kitni calorie hoti hai
Nutrients  Amount per 100 g 
Carbohydrates  7.45 g 
Protein  1.93 g 
Fat  0.19 g 
Fibre  3.2 g 
Sugar  1.48 g 
Water   89.6 g 
Energy  33 kcal 
Starch   0.34 g 
Sodium  7 mg 
Potassium  299 mg 
Iron  0.62 mg 
Magnesium  57 mg 
Calcium  82 mg 
Phosphorus  61 mg 
Zinc  0.58 mg 
Manganese   0.788 mg 
Copper  0.109 mg 
Selenium   0.7  µg 
Vitamin A  36  µg 
Vitamin B1  0.2 mg 
Vitamin B2  0.06 mg 
Vitamin B3  1 mg 
Vitamin B5  0.245 mg 
Vitamin B6  0.215 mg 
Vitamin C  23 mg 
Vitamin E  0.27 mg 
Vitamin K  31.3  µg3  

भिंडी खाने के फायदे | bhindi khane ke fayade

भिंडी के सेवन से निम्न प्रकार के उपचारात्मक गुण होते हैं, जिनहे आप नीचे पढ़ कर भिंडी के सेवन से होने वाले फायदे के बारे मे जन सकते हैं। लेख के इस भाग को लिखने के लिए हमने फार्मसी ईजी मे दिये आर्टिकल की मदद ली हैं। [1]

  • भिंडी के सेवन से शरीर को एंटीऑक्सीडेंट गुण मिलते हैं, जो शरीर के इम्यूनिटी को बढ़ाने मे मदद करते हैं।
  • भिंडी खाने से शरीर को थकान से लड़ने का बल मिलता हैं।
  • भिंडी मे मधुमेह को नियंत्रित करने के गुण होते हैं।
  • भिंडी जीवाणुरोधी के रूप में शरीर के लिए कार्य कर सकता है, इसके अलावा भिंडी मे एंटी-ट्यूमर गुण होते हैं।
  • भिंडी के सेवन से शरीर मे प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यूनिटी सिस्टम) को बल मिलता हैं।
  • शरीर के ऐंठन जैसी समस्या मे भिंडी का सेवन राहत दिलाने में मदद कर सकता है
  • भिंडी के सेवन से सूजन और जलन मे राहत मिलती हैं।
  • भिंडी का सेवन बुखार से पीड़ित व्यक्ति के लिए लाभदायक होता हैं। भिंडी के सेवन से लिवर स्वस्थ्य होता हैं तथा भिंडी से मिलने वाले तत्व लीवर की सुरक्षा करते हैं।
  • भिंडी के सेवन से हड्डियों मजबूत होते हैं।
See also  Calories in 1 Roti : 1 रोटी में कितनी कैलोरी मिलती हैं?

क्या मैं गर्भावस्था के दौरान भिंडी खा सकती हूं? pregnancy me bhindi khana chahiye?

इंडियनपेरेंटिंग वैबसाइट के एक लेख के अनुसार -> हाँ! निश्चित रूप से गर्भावस्था के दौरान भिंडी खाई जा सकती हैं क्योंकि भिंडी खाने से प्रेगनेंट महिला और उनके अजन्मे बच्चे को कई तरह के लाभ मिल सकते हैं। अपनी गर्भावस्था के दौरान लगभग नियमित रूप से बहुत सारी भिंडी खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि भ्रूण की वृद्धि और विकास के लिए इसके कई फायदे साबित होते हैं। तो वास्तव में गर्भावस्था के दौरान विभिन्न भिंडी व्यंजनों का आनंद ले सकते हैं – आप करी बना सकते हैं, भिंडी के सूप का सेवन कर सकते हैं।

भिंडी खाने के लगभग कोई हानिकारक प्रभाव नहीं हैं। जब कोई गर्भवती हों तो वह भिंडी को रोजाना खा सकती हैं। लेकिन फिर भी अगर किसी को भिंडी से एलर्जी महसूस हो रही है या अपने आहार में भिंडी को शामिल करने के बारे में कुछ सही नहीं लग रहा है,  तो उन्हे अपने प्रसूति विशेषज्ञ (डॉक्टर) से परामर्श करना चाहिए जो आपको आपके गर्भावस्था आहार के बारे में सबसे अच्छा बता सकते हैं।

क्या भिंडी अजन्मे बच्चे के लिए लाभदायक हैं?

जैसा कि पहले ही बताया जा चुका हैं की भ्रूण (unborn baby) को बढ़ने के लिए बहुत अधिक रक्त की आवश्यकता होती है और भिंडी रक्त मे हीमोग्लोबिन बनाने में मदद करती है क्योंकि भिंडी मे आयरन भरपूर मात्रा मे होता हैं। जो अंततः भ्रूण को उचित रक्त आपूर्ति में मदद करता है। भिंडी में उच्च मात्रा में फोलेट भी होता है जो भ्रूण के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण घटक है।

See also  काला नमक और नींबू पानी पीने के फायदे

फोलेट किसी भी जन्म न्यूरल ट्यूब दोष, जैसे स्पाइना बिफिडा के जोखिम को कम करने में मदद करता है, और बच्चे के महत्वपूर्ण अंगों के विकास के लिए भी आवश्यक है। इस प्रकार भिंडी खाने से आपको गर्भावस्था के दौरान आवश्यक फोलिक एसिड मिलता है, जो गर्भावस्था के 4-12 सप्ताह के दौरान न्यूरल ट्यूब के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। (यह पैराग्राफ इंडियनपेरेंटिंग वैबसाइट से लिया गया हैं)

नोट- इस लेख मे दी गई जानकारी इंटरनेट मे मौजूद दूसरी वैबसाइट से आध्यान करके लिखी गई हैं। इस लेख मे दी गई जानकारी की सत्यता की पुष्टि हमारी वैबसाइट meribaate.in नहीं करती हैं। कृपया विशेषज्ञ की सलाह लेकर ही कोई निर्णय ले।

Keyword- प्रेग्नेंसी मे भिंडी खाना, प्रेगनेंसी में भिंडी खाना चाहिए या नहीं, प्रेगनेंसी में भिंडी खाना, प्रेगनेंसी में भिंडी खा सकते हैं या नहीं, गर्भवती महिला को 9 महीने में क्या खाना चाहिए, pregnancy me bhindi, pregnancy me bhindi kha sakte hai kya, pregnancy me bhindi kha sakte hain, pregnancy me bhindi kha sakte h, pregnancy me bhindi khane ke fayde, pregnancy me bhindi kha skte h kya, pregnancy me bhindi khana chahiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *