Amla Chutney : आंवले की चटनी खाने मे बहुत ही लाजवाब और स्वादिष्ट लगती हैं। आंवले की चटनी को समोसे, कचोड़ी, भाजिया आदि के साथ खाई जाती हैं। आंवले की चटनी स्वाद को तो बढ़ाती ही हैं बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभप्रद होती हैं। आंवले से खून मे लोहे की कमी दूर होती हैं तथा हाजमे को भी आंवला ठीक करता हैं।

आंवले की चटनी को बनाने की सामग्री | Amla Chutney

  • हरा धनिया – 150 ग्राम
  • आंवला – 150 ग्राम
  • काली मिर्च – 10 से 15 नग
  • हींग – 1 चुटकी
  • जीरा – आधा छोटी चम्मच
  • लहसुन – 7 से 8 कलि (फलियाँ)
  • नमक – स्वाद अनुसार
  • हरी मिर्च – 3 नाग

आंवले की चटनी बनाने की विधि | Amla Chutney

  1. सबसे पहले आंवले को अच्छी तरह से धो लीजिये, फिर उसके पानी को पोछ कर उसे अच्छे से सूखा लीजिये।
  2. इसके बाद आंवले के गूदे (पल्प) को और बीज को अलग-अलग कर लीजिये।
  3. अब धनिया लीजिये और उससे भी अच्छे से साफ कर लीजिये। इसके बाद धनिया की पत्तियों से डंडियों को तोड़कर अलग कर लीजिये। धनियाँ के पत्तों मे लगे पानी को किसी कपड़े के माध्यम से सूखा कर पत्तियों को बारीक काट लीजिये।
  4. कटे हुये आंवले के गूदे को और कटे हुए धनियाँ के पत्ती को मिक्सर के जार मे डाल लीजिये।
  5. अब इस मिश्रण मे जितना तीखा आप पसंद करते हैं उसके आधार पर हरी मिर्च को काट कर उसे भी मिक्सर मे आंवले और धनिया के साथ मिला दे।
  6. अब इसमे आधा चम्मच बुंजा हुआ जीरा पाउडर, एक चुटकी हींग, काली मिर्च 10 से 15 नग, 7 से 8 लहसुन की कलि और स्वाद अनुसार नमक मिला कर थोड़ा पानी डाल दे। अब इन सभी मिश्रण को मिक्सर की मदद से अच्छे से पीस कर पेस्ट बना लीजिये।
  7. पेस्ट जब बन जाए तो इसका मतलब हैं की आपकी चटनी सर्व करने के लिए तैयार हैं, अब आप इस चटनी (Amla Chutney) को चावल-डाल, आलू-पराठे, पूरी आदि के साथ सर्व कर सकते हैं और इसके स्वाद का आनंद ले सकते हैं।
See also  लौकी का खीर बनाने की विधि

आमले की तासीर

आंवले की तासीर ठंड होती हैं, इसलिए ठंड के मौसम मे इसे खाने से बचना चाहिए, अगर किसी को आंवले की चटनी ( Amla Chutney) खानी हैं तो कोसिस करे की इसकी चटनी मे लहसुन, कालीमिर्च आदि को मिला ले जिससे इसकी ठंड तासीर को नियंत्रित किया जा सके। आंवला फायदा तो करता हैं, लेकिन बिना विशेषज्ञ के इसका सेवन नुकसान भी पहुंचा सकता हैं।

आंवला खाने के फायदा

  1. आंवला खाने से ब्लड शुगर नियंत्रित होता हैं।
  2. आयुर्वेद के अनुसार आंवले के सेवन से शरीर मे खून की मात्रा और हीमोग्लोबिन बढ़ता हैं।
  3. आंवला आँख और बालो के लिए भी काफी फायदेमंद होता हैं।
  4. आंवले मे विटामिन सी होता हैं, जिसकी वजह से शरीर मे इम्यूनिटी सिस्टम बढ़ता हैं।

कौन सी बीमारी में आंवला नहीं खाना चाहिए?

जिस व्यक्ति को एसिडिटी की शिकायत हो ऐसे व्यक्ति को आंवले के सेवन से बचना चाहिए, इसके अलावा जिनहे आंवले से एलर्जी हो, यह उन्हे हमेशा छींक और सर्दी की शिकायत रहती हो, ऐसे व्यक्ति को आंवले के सेवन से बचना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *