bharat ka sabse bada railway station, pure bharat ka sabse bada railway station, bharat ka sabse bada railway station kaun sa hai, bharat ka sabse bada railway station kahan hai, bharat ka sabse bada railway station kaun hai, bharat ka sabse bada railway station kahan per hai, भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन, bharat ka sabse bada railway station kon sa hai, bharat ka sabse bada railway station ka naam, भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन कौन सा है, भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन 2022, bharat ka sabse bada railway station 2022, sabse bada railway station bharat ka

भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन | bharat ka sabse bada railway station

भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन | bharat ka sabse bada railway station

क्षेत्र और यात्रियों को संभालने की क्षमता के मामले में भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन कोलकाता, पश्चिम बंगाल में स्थित हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन है। हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन लगभग 23.5 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है और प्रतिदिन 600 से अधिक यात्री ट्रेनों का संचालन करता है, जिसमें प्रतिदिन 10 लाख से अधिक यात्रियों के आने का अनुमान है। स्टेशन में 23 प्लेटफार्म हैं और यह भारत के पूर्वी और पूर्वोत्तर भागों में ट्रेन सेवाओं के लिए एक महत्वपूर्ण केंद्र है। यह भारत के सबसे पुराने और व्यस्ततम रेलवे स्टेशनों में से एक है, जिसका समृद्ध इतिहास ब्रिटिश काल से है।

हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन से जुड़े रोचक तथ्य

हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन के बारे में कुछ रोचक तथ्य इस प्रकार हैं:

  1. हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन भारत के सबसे पुराने और सबसे बड़े रेलवे स्टेशनों में से एक है। यह 1854 में ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा बनाया गया था और इसका नाम हावड़ा शहर के नाम पर रखा गया है, जो कोलकाता से हुगली नदी के पार स्थित है।
  2. स्टेशन में कुल 23 प्लेटफार्म हैं, जो इसे दुनिया के सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशनों में से एक बनाता है। यह प्रतिदिन 600 से अधिक यात्री ट्रेनों और 10 लाख यात्रियों को संभालता है।
  3. हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन अपने प्रतिष्ठित हावड़ा ब्रिज के लिए भी जाना जाता है, जो हावड़ा शहर को कोलकाता से जोड़ता है। पुल 1943 में बनाया गया था और इसे कोलकाता का एक मील का पत्थर माना जाता है।
  4. इस स्टेशन को बांग्लादेश से सीधा रेल संपर्क रखने वाला भारत का एकमात्र रेलवे स्टेशन होने का अनूठा गौरव प्राप्त है। मैत्री एक्सप्रेस, जो कोलकाता और ढाका के बीच चलती है, दोनों शहरों को जोड़ती है और भारत और बांग्लादेश के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान को बढ़ावा देने में मदद करती है।
  5. हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन प्रसिद्ध राजधानी एक्सप्रेस और दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेनों का घर भी है, जो अपनी गति और आरामदायक यात्रा के लिए जानी जाती हैं। ये ट्रेनें पूरे भारत में लंबी दूरी की यात्रा करने वाले यात्रियों को उच्च गुणवत्ता वाली सेवाएं और सुविधाएं प्रदान करती हैं।
See also  स्वदेशी व बहिष्कार आंदोलन के कारण और प्रभाव | Swadeshi Andolan Hindi Notes

भारत के सबसे लंबे रेल मार्ग

भारत में एक व्यापक रेलवे नेटवर्क है जो देश की लंबाई और चौड़ाई में फैला हुआ है। यहाँ नीचे भारत में कुछ शीर्ष पाँच सबसे लंबे रेलवे मार्ग हैं:

  1. डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी – विवेक एक्सप्रेस, जो लगभग 4,273 किलोमीटर की दूरी तय करती है, भारत में सबसे लंबे रेलवे मार्ग का रिकॉर्ड रखती है।
  2. जम्मू तवी से कन्याकुमारी – हिमसागर एक्सप्रेस लगभग 3,745 किलोमीटर की दूरी तय करती है और यह भारत का दूसरा सबसे लंबा रेल मार्ग है।
  3. कन्याकुमारी से श्री माता वैष्णो देवी कटरा – नवयुग एक्सप्रेस लगभग 3,627 किलोमीटर की दूरी तय करती है और भारत में तीसरा सबसे लंबा रेलवे मार्ग है।
  4. डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी – दक्षिणी समृद्धि एक्सप्रेस लगभग 3,603 किलोमीटर की दूरी तय करती है और यह भारत का चौथा सबसे लंबा रेलवे मार्ग है।
  5. कन्याकुमारी से डिब्रूगढ़ – डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस लगभग 3,535 किलोमीटर की दूरी तय करती है और यह भारत का पांचवां सबसे लंबा रेल मार्ग है।

लंबी दूरी की ये ट्रेनें देश के विभिन्न हिस्सों को जोड़ती हैं और प्रतिदिन लाखों लोगों के लिए परिवहन का एक महत्वपूर्ण साधन प्रदान करती हैं।

एशिया का सबसे बड़ा रेल मार्ग

एशिया दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे अधिक आबादी वाला महाद्वीप है, और इसका एक विशाल रेलवे नेटवर्क है जो विभिन्न देशों और क्षेत्रों को जोड़ता है। यहाँ एशिया के शीर्ष पाँच सबसे लंबे रेलवे मार्ग हैं:

  1. मास्को से व्लादिवोस्तोक – ट्रांस-साइबेरियन रेलवे दुनिया का सबसे लंबा रेलवे मार्ग है, जो लगभग 9,289 किलोमीटर की दूरी तय करता है। यह रूस की राजधानी मास्को को प्रशांत महासागर के बंदरगाह शहर व्लादिवोस्तोक से जोड़ता है।
  2. बीजिंग से ल्हासा – किन्हाई-तिब्बत रेलवे दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे है और लगभग 1,956 किलोमीटर की दूरी तय करता है। यह चीन की राजधानी बीजिंग को तिब्बत की राजधानी ल्हासा से जोड़ता है।
See also  सबसे बड़ा ग्रह कौन सा है | Sabse bada grah kaun sa hai

ये रेल मार्ग एशिया के विभिन्न हिस्सों को जोड़ने और विभिन्न देशों और क्षेत्रों के बीच व्यापार, पर्यटन और सांस्कृतिक आदान-प्रदान को सुविधाजनक बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

भारत में सबसे ज्यादा रेलवे लाइन कहाँ है?

भारतीय रेलवे नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ है, जिसकी कुल ट्रैक लंबाई लगभग 68,000 किलोमीटर है। हालांकि अगर सबसे लंबे रेल नेटवर्क वाले राज्य की बात करें तो वह उत्तर प्रदेश है। उत्तर प्रदेश में भारत का सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है, जिसकी कुल ट्रैक लंबाई लगभग 9,500 किलोमीटर है। राज्य में देश के कुछ सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन भी हैं, जैसे कानपुर सेंट्रल, लखनऊ चारबाग और इलाहाबाद जंक्शन। भारतीय रेलवे ने उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों को जोड़ने, राज्य के विभिन्न क्षेत्रों के बीच व्यापार, पर्यटन और सांस्कृतिक आदान-प्रदान को सुविधाजनक बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

भारत का कौन सा राज्य है जहां रेलवे लाइन नहीं है?

भारत के सभी राज्यों में किसी न किसी रूप में रेलवे कनेक्टिविटी है। हालाँकि, कुछ केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं जहाँ कोई रेलवे नेटवर्क नहीं है। ये प्रदेश निम्न प्रकार से है:

  1. अंडमान और निकोबार द्वीप समूह: द्वीप समुद्र और हवाई परिवहन से जुड़े हुए हैं लेकिन कोई रेलवे नेटवर्क नहीं है।
  2. लक्षद्वीप: यह केरल के तट पर स्थित द्वीपों का एक समूह है। वे रेलवे से भी नहीं जुड़े हैं, और परिवहन मुख्य रूप से समुद्र और हवा से होता है।

यह ध्यान देने योग्य है कि ये दोनों केंद्र शासित प्रदेश भौगोलिक रूप से अलग-थलग हैं और जब परिवहन बुनियादी ढांचे के विकास की बात आती है तो इनके सामने अनूठी चुनौतियाँ हैं। हालांकि, भारत सरकार इन क्षेत्रों से कनेक्टिविटी में सुधार के प्रयास कर रही है, और निकट भविष्य में कुछ क्षेत्रों में रेलवे लाइन स्थापित करने की योजना है।

ऐसा कौन सा देश है जहां ट्रेन नहीं चलता?

दुनिया में ऐसे कई देश हैं जहां कोई रेलवे बुनियादी ढांचा नहीं है, और परिवहन मुख्य रूप से सड़क, वायु या समुद्र द्वारा होता है। बिना रेलवे वाले कुछ देश हैं:

  1. एंडोरा
  2. किरिबाती
  3. मार्शल द्वीपसमूह
  4. माइक्रोनेशिया के संघीय राज्य
  5. नाउरू
  6. पलाउ
  7. समोआ
  8. टोंगा
  9. तुवालू
  10. मोनाको
See also  भारत का मैनचेस्टर किसे कहा जाता है

ये देश या तो छोटे द्वीप राष्ट्र हैं या दुर्गम भू-भाग वाले दूरस्थ क्षेत्र हैं, जो रेलवे के बुनियादी ढांचे के विकास को चुनौतीपूर्ण बनाते हैं। हालांकि, वे अपने दैनिक आवागमन और वस्तुओं और सेवाओं के परिवहन के लिए परिवहन के अन्य साधनों पर निर्भर हैं।

Keyword – bharat ka sabse bada railway station, pure bharat ka sabse bada railway station, bharat ka sabse bada railway station kaun sa hai, bharat ka sabse bada railway station kahan hai, bharat ka sabse bada railway station kaun hai, bharat ka sabse bada railway station kahan per hai, भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन, bharat ka sabse bada railway station kon sa hai, bharat ka sabse bada railway station ka naam, भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन कौन सा है, भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन 2022, bharat ka sabse bada railway station 2022, sabse bada railway station bharat ka

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *