कुंदा नदी का उद्गम, कुंदा नदी का परिचय

कुंदा नदी का उद्गम स्थल [IMP for MPPSC]

कुंदा नदी खरगोन की एक प्रमुख नदी है इसके साथ ही कुंदा नदी नर्मदा नदी की सहायक नदी भी है। इस नदी का उद्गम स्थल अंबा गांव के पास के जंगलों से होता है। इस नदी की लंबाई लगभग 169 किलोमीटर है। पश्चिम दिशा में स्थित है और इस नदी का बहाव दक्षिण से उत्तर की ओर है। यह खरगोन जिला के चार ब्लॉक से होते हुए बहती है जो की भगवानपुर, गोगांवा, खरगोन और कसरावाद हैं। कुंदा नदी में दो डैम बनाए गए हैं, इनका नाम देजला देवड़ा डैम और वनिहार डैम है। यह नदी खरगोन सिटी को पीने का पानी उपलब्ध कराती है और पानी की उपलब्धता के लिए ही इस नदी में बांध का निर्माण किया गया है।

कुंडा नदी का संगम

खरगौन की जीवनदायनी कुंदा नदी सिपटान नामके स्थान पर जा कर वेदा नदी से मिल जाती हैं। सिपटान खरगौन जिले के कसरावाद तहसील के पास स्थित एक गाँव हैं। खरगौन शहर से सिपटान उत्तर दिशा में 22 किलोमीटर दूर स्थित हैं। सिपटान वह स्थान हैं जहां से कुंदा नदी समाप्त हो जाती हैं। इस जगह के बाद कुंदा नदी को वेदा नदी के नाम से जाना जाता हैं।

गूगल में कुंदा नदी से संबन्धित FAQ

कुंदा नदी किस राज्य से संबन्धित हैं?

उत्तर – कुंदा नदी मध्य प्रदेश से संबन्धित हैं।

See also  राक्षस भुवन का युद्ध | Rakshas Bhuvan ka yuddh

कुंदा नदी का उद्गम स्थल क्या हैं?

उत्तर – कुंदा नदी का उद्गम खरगौन जिले में अम्बा गाँव के पास से होता हैं।

कुंदा नदी में कितने बांध बने हुये हैं?

उत्तर – कुंदा नदी में दो बांधो का निर्माण हुआ हैं। इन बांध को बनाने का मुख्य लक्ष्य पीने के पानी की व्यवस्था करना हैं।

खरगौन की जीवन दायनी नदी किसे कहाँ गया हैं?

उत्तर – खरगौन की जीवन दायनी नदी कुंदा नदी को कहाँ गया हैं, क्योंकि इसी नदी से खरगौन को पीने का पानी उपलब्ध कराया जाता हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *