ऊंट को मरुस्थल का जहाज क्यों कहा जाता है?, ऊंट को मरुस्थल का जहाज क्यों कहा जाता है, मरुस्थल का जहाज किसे कहते हैं, ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहा जाता है, ऊंट को रेगिस्तान का जहाज कहा जाता है, ऊँट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहा जाता है, रेगिस्तान का जहाज किसे कहा जाता है, ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहते हैं

ऊंट को मरुस्थल का जहाज क्यों कहा जाता है? | unt ko marusthal ka jahaj kyu kaha jata hai

ऊंट को मरुस्थल का जहाज क्यों कहा जाता है

रेगिस्तान में एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए ऊंट सबसे अच्छा परिवहन है, इसीलिए ऊंट को रेगिस्तान का जहाज कहा जाता है। क्योंकि ऊंट की सहायता से रेगिस्तान में यात्रा करना सरल और सुलभ हो जाता है। ऊंट की एक प्रजाति ड्रॉमेडरी ऊंट अपने पीठ पर लगभग 200 किलोग्राम से ज्यादा का वजन उठा सकता है। धूप एवं गर्मी से चिलचिलाते हुए रेगिस्तान में ऊंट 4 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकता है। 15 दिनों तक ऊंट बिना पानी के जिंदा रह सकता है। ऊंट के पीठ में कुबड़ निकले हुए होते हैं इन्हीं कुबड़ में फैट यानी वसा जमा होता है यही वसा ऊंट को बिना पानी के 15 दिनों तक जीवित रहने में मदद करता है। रेगिस्तान में पानी की कमी होती है इसीलिए वहां पर ऊंट का इस्तेमाल आने जाने के लिए तथा सामान ढोने के लिए किया जाता है।

विश्व का सबसे बड़ा मरुस्थल कौन सा है

विश्व का सबसे बड़ा मरुस्थल सहारा मरुस्थल है। इस रेगिस्तान का नाम अरबी शब्द सहरा से लिया गया है जिसका अर्थ मरुस्थल होता है। सहारा मरुस्थल का क्षेत्रफल लगभग यूरोप के बराबर है तथा भारत के क्षेत्रफल से 2 गुना है। यह मरुस्थल माली मोरक्को, मुरितानिया, अल्जीरिया, ट्यूनीशिया, लीबिया, नाइजर, सूडान और चाड देशों में फैला हुआ है। सहारा में दिन के समय बड़ी भीषण गर्मी पड़ती है तथा रात के समय बड़ी ही कठोर सर्दी पड़ती है। दिन का तापमान 58 डिग्री सेंटीग्रेड तक पहुंच जाता है तो वही रात का तापमान माइनस 4 डिग्री से भी नीचे चला जाता है।

See also  मध्य प्रदेश में कितने गांव हैं | madhya pradesh me kitne ganv hai

भारत का सबसे ठंडा मरुस्थल कौन है?

भारत का सबसे ठंडा मरुस्थल हिमालय के लद्दाख में स्थित है। लद्दाख का यह मरुस्थल 1,17,000 वर्ग किलोमीटर का है। यह संसार का सबसे ऊंचा और निर्जन पठार है। इस जगह पर सबसे कम वर्षा होती है, हालाकी लद्दाख हमेशा से ठंडा मरुस्थल नहीं था, किसी जमाने में यहां पर बहुत सारे झीलों का तंत्र था, उन झीलों में से कुछ झील आज भी अस्तित्व में हैं। इस स्थान में बहुत कम वर्षा होती है। ठंडी के समय लद्दाख क्षेत्र में माइनस 45 डिग्री सेल्सियस तक तापमान चला जाता है।

विश्व के प्रमुख मरुस्थल कौनसे हैं?

  1. सहारा मरुस्थल उत्तरी अफ्रीका में स्थित है।
  2. ऑस्ट्रेलिया में विश्व के प्रमुख रेगिस्तान मौजूद हैं इनके नाम बार्बरटन, सिम्पसन, गिब्सन, विक्टोरिया हैं।
  3. नाफुद, हमादा मरुस्थल एशिया के सऊदी अरब में स्थित मरुस्थल हैं।
  4. गोबी मरुस्थल पूर्वी एशिया में मंगोलिया और चीन में स्थित हैं।
  5. कालाहारी मरुस्थल अफ्रीका के बोत्सवाना क्षेत्र में स्थित हैं।
  6. नामीब मरुस्थल अफ्रीका के नामीबिया में स्थित एक मरुस्थल हैं।
  7. काराकुम रेगिस्थान तुर्कमेनिस्तान में स्थित मरुस्थल हैं।
  8. थार रेगिस्तान भारत और पाकिस्तान में स्थित मरुस्थल हैं।
  9. आटाकामा मरुस्थल उत्तरी चिली में स्थित एक मरुस्थल हैं।
  10. पेटागोनिया मरुस्थल अर्जेंटीना नाम के देश में स्थित एक मरुस्थल हैं।

Keyword – ऊंट को मरुस्थल का जहाज क्यों कहा जाता है?, ऊंट को मरुस्थल का जहाज क्यों कहा जाता है, मरुस्थल का जहाज किसे कहते हैं, ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहा जाता है, ऊंट को रेगिस्तान का जहाज कहा जाता है, ऊँट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहा जाता है, रेगिस्तान का जहाज किसे कहा जाता है, ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *