आजकल बिना सोचे समझे RIP का इस्तेमाल हो रहा हैं, इसलिए RIP full form और RIP meaning in hindi पर आधारित आज यह लेख हैं। जिसे सभी हिन्दुयों को जरूर पढ़ना चाहिए।

जिस प्रकार कपड़ों का एक फैशन होता है ठीक उसी प्रकार सोशल मीडिया के आज के समय पर शब्दों का भी एक फैशन या ट्रेंड होता है। कुछ खास लोकप्रिय लोगों के द्वारा अगर कोई अंग्रेजी का नया शब्द बार बार इस्तेमाल किया जाता हैं। तो धीरे-धीरे वह पूरे समाज के द्वारा इस्तेमाल किया जाने लगता है। और इस सोशल मीडिया के समय में हम कई बार ट्रेंड हो रहे शब्दों के अर्थ को जाने बिना ही इस्तेमाल करने लगते हैं।

RIP Meaning in Hindi

इन्हीं शब्दों में से एक शब्द है RIP इस समय RIP शब्द का इस्तेमाल काफी ज्यादा चलन पर है। जब भी किसी व्यक्ति के निधन की सूचना आती है तो लोग सोशल मीडिया से लेकर व्हाट्सएप पर उस व्यक्ति के निधन पर अपनी संवेदना व्यक्त करने के लिए अंग्रेजी के कैपिटल शब्द में RIP लिख देते हैं। अब प्रश्न है RIP का मतलब श्रद्धांजलि देना है या फिर सूचना देने वाले व्यक्ति के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करना है।

RIP FULL FORM

RIP का फुल फॉर्म रेस्ट इन पीस होता है, इसका मतलब है कि दिवंगत आत्मा के लिए प्रार्थना की जा रही है कि अब वह “शांति जी से आराम करें”।

See also  नींबू घर मे लगाना चाहिए या नहीं? | Ghar Mein Nimbu ka ped lagana chahiye?

हालांकि कई लोग RIP का इस्तेमाल धोखे पर यह सोच कर कर लेते हैं की RIP का मतलब होता है कि भगवान दिवंगत आत्मा को शांति दे पर यह पूर्णता गलत है।

हिन्दुओ को RIP का इस्तेमाल करना चाहिए?

अब प्रश्न यह है कि क्या हिंदू RIP का इस्तेमाल करते कर सकते हैं, तो इसका उत्तर है नहीं। RIP हिंदू संस्कृति और भावना दोनों के विपरीत है, हिंदू मान्यता के अनुसार आत्मा एक अजर अमर दिव्य ज्योति है। आत्मा को ऊर्जा का स्वरूप माना जाता है और यह लगातार ट्रांसफॉर्म होती रहती है यानी की आत्मा एक शरीर को छोड़कर दूसरे शरीर में प्रवेश करती है। जबकि पश्चिम सभ्यता के अनुसार पुनर्जन्म की मान्यता नहीं होती और उनके मान्यता अनुसार एक बार आदमी की मृत्यु के बाद उसका कोई कोई पुनर जन्म नहीं होता हैं। इसलिए वह व्यक्ति के मरने पर उसे “रेस्ट इन पीस” कहकर अपनी संवेदना व्यक्त करते हैं।

यह पश्चिम शब्द आजकल भारत में फैशन के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है और बिना इसके आध्यात्मिक अर्थ को समझें लोग धड़ाधड़ इसका इस्तेमाल करते आ रहे हैं जोकि पूर्णता सनातन धर्म की मान्यताओं के विपरीत है।

इसलिए जब भी कभी ऐसी दुर्भाग्य स्थिति आए जब हमें किसी हिंदू व्यक्ति के देहावसान के बाद संवेदना व्यक्त करने की जरूरत पड़े तो हमें हिंदू मान्यताओं के अनुसार ही अपनी संवेदनाएं व्यक्त करनी चाहिए ना की अंग्रेजी और पश्चिमी सभ्यताओं के अनुसार व्यक्त करनी चाहिए।

RIP नहीं तो क्या बोलना चाहिए

ऐसे बहुत से हिंदी शब्द और वाक्य है जिनका इस्तेमाल हम संवेदना व्यक्त करने के लिए कर सकते हैं उदाहरण के लिए “ओम शांति”, “भगवान उनकी दिव्य ज्योति को अपने चरणों में स्थान दे”, “भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें” और ना जाने कितने ही अनेकों शब्द हमारी सनातन धर्म में मौजूद है। लेकिन फिर भी सोशल मीडिया में आए नए शब्दों के ट्रेंड में फस कर हम गलत वाक्यांश इस्तेमाल करने लगते हैं। आज ढेरो वैबसाइट हैं जीनामे हिन्दी और अँग्रेजी मे शोक संदेश दिये गए हैं। अगर आपको शोक संदेश लिखने मे दिक्कत हैं तो आप वहाँ से इन्हे कॉपी करके दुखी परिवार को भेज कर अपनी संवेदना भेज सकते हैं।

See also  Interesting 2022 : कनाडा के बारे मे 33 रोचक बाते | Important fact about Canada

गूगल मे RIP से संबन्धित लोग क्या खोजते हैं?

  1. RIP FULL FORM
  2. RIP MEANING
  3. RIP MEANING IN HINDI
  4. RIP MESSAGE
  5. RIP QUOTES
  6. RIP IMAGES
  7. Rip Full Form in Hindi

धर्म से संबन्धित हमारे अन्य पोस्ट

  1. ऐसे लोगो के पास कभी नहीं टिकती हैं लक्ष्मी, नहीं रह पाते हैं सुखी
  2. फूटी किस्मत को अपने से दूर भगाये और भाग्यशाली बने
  3. धर्म की बात – शरीर त्यागने के बाद कहां जाती है आत्मा

हमारे मित्र की वैबसाइट मे भी वीसैट जरूर करे

  1. रीवा जिले के चिराहुला मंदिर के हनुमान जी और गुजराती व्यापारी
  2. हिन्दी कहानी – अपंग पक्षी और व्यापारी की Hindi Story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *