तनुजा का परिचय

60 और 70 के दशक कि वह बिंदास अदाकारा जिनके मुस्कुराहट और चुलबुले पन के दीवाने लाखों लोग हुआ करते थे। उनके पोस्टर उस जमाने में खूब ज्यादा बिका करते थे। एक से एक महंगे पोस्टर खरीद कर लोग अपने कमरों में सजाया करते थे। हम बात कर रहे हैं एक्ट्रेस तनुजा की, इन्होंने अपने समय की बड़ी बड़ी अभिनेत्रियों के बीच में अपने दमदार अभिनय और बिंदास अदाकारी के कारण इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में सफल रही। तनुजा का जन्म 23 सितंबर 1946 को मुंबई में हुआ था। इनकी मां अपने जमाने की फायर ब्रांड एक्ट्रेस शोभना समर्थ थी। इनके पिता कुमारसेन समर्थ प्रोड्यूसर थे। तनुजा चार भाई बहन में दूसरे नंबर की थी, तनुजा की बड़ी बहन नूतन फिल्म इंडस्ट्री की बहुत बड़ी अभिनेत्री थी। तनुजा ने अपनी पढ़ाई स्विट्जरलैंड से पूरी की थी। तनुजा को एक्टिंग उनकी मां और बहन से विरासत में मिली थी। जब तनुजा पढ़ाई पूरी करने के बाद भारत वापस आई तो उस समय उनकी बड़ी बहन नूतन बड़ी अभिनेत्री बन चुकी थी।

तनुजा का फिल्मों मे आना

तनुजा ने भी एक्टिंग को ही अपना कैरियर चुना, तनुजा को लगा कि उन्हें फिल्में आसानी से मिल जाएंगी क्योंकि उनकी बहन और उनकी मां बड़ी अभिनेत्रियां थी। लेकिन हुआ तनुजा की सोच के कुछ उलट। उस समय अभिनेत्रियों को पारंपरिक रोल निभाने होते थे जो कि दर्शक पसंद करते थे। लेकिन तनुजा बिंदास एक्टर बनकर फिल्मों में  एंट्री करना चाहती थी। तनुजा की छवि बिंदास और टॉमबॉय की बन गई थी। जिस कारण से तनुजा को किसी भी प्रोड्यूसर ने काम नहीं दिया। तब इनकी मां शोभना समर्थ 1960 में फिल्म चमेली से तनुजा को लांच किया था। हालांकि तनुजा 1950 में नूतन की फिल्म में बाल कलाकार के रूप में काम कर चुकी थी।

डायरेक्टर ने तनुजा को मारा चाटा

फिल्म चमेली मे तनुजा ने खूब नखरे दिखाए, जिस कारण से फिल्म की पूरी टीम परेशान हो जाया करती थी। जब सीन शूट करना होता था तो तनुजा सही तरीके से सूट नहीं करती थी। वह हर समय मजाक करती और हंसती रहती थी। एक सीन में तनुजा को रोना था लेकिन उन्हें बार-बार हंसी आ जाने के कारण सीन सही तरीके सूट नहीं हो रहा था। तनुजा को जब बार-बार डायरेक्टर समझा रहे थे तो वह मान ही नहीं रही थी। फिर तनुजा ने कहा आज मेरा  रोने का मन नहीं है यह सीन मैं कल सूट करूंगी आज यह सीन नहीं कर पाऊँगी। डायरेक्टर को तनुजा कि इस बात पर बहुत गुस्सा आया और फिर उन्होंने तनुजा के गाल पर जोरदार तमाचा जड़ दिया। तनुजा को बहुत बुरा लगा और तनुजा शूटिंग छोड़कर रोते हुए मां के पास पहुंच गई और मां से डायरेक्टर केदार शर्मा की शिकायत करने लगी, तब तनुजा की मां ने तनुजा को पूरी बात बताने को कहा जब तनुजा ने सारी बात बताई तो शोभना समर्थ ने तनुजा को उल्टे हाथ एक और चांटा जड़ दिया। फिर अपने साथ में तनुजा को लेकर सेट पर गई और शूटिंग शुरू हुई, मां के चाटा से तनुजा को एक बात जरूर समझ आ गई कि शूटिंग के समय टीम के साथ कैसे व्यवहार करना है।

See also  पुष्पा मूवी डाउनलोड इन हिंदी | Pushpa Movie Download in Hindi

तनुजा का फिल्मी सफर आसान नहीं था

तनुजा का स्वभाव तो चुलबुलआहट भरा था। जिस वजह से उन्हें वह कामयाबी हासिल नहीं हो पा रही थी जो कि उनकी बड़ी बहन नूतन को हो रही थी। जहां नूतन को बड़े बैनर की फिल्में मिल रही थी वहीं तनुजा को नहीं मिल रही थी। इसके बावजूद भी तनुजा ने हिम्मत नहीं हारी कुछ बेहतरीन फिल्मों में उन्हें अभिनय दिखाने का मौका जरूर मिला। तनुजा ने फिल्म ज्वेल थीफ मे देवानंद और वैजयंती माला के साथ अभिनय किया था। लेकिन तनुजा पर फिल्माया गया गाना रात अकेली है बुझ गए दिए को उन्होंने काफी मेहनत करके लोकप्रिय बनाया था। राजेश खन्ना के साथ फिल्म हाथी मेरे साथी में भी तनुजा ने अच्छा काम किया था। तनुजा के साथ हमेशा कुछ ना कुछ घटना घटी जाया करती थी। जब उन्हें अच्छे रोल का ऑफर आता था।

गुरुदत्त की फिल्म बहारें फिर भी आएंगी तनुजा ने जब साइन कि और फिल्म की कुछ ही शूटिंग हुई थी कि गुरुदत्त साहब इस दुनिया को छोड़ कर हमेशा के लिए चले गए। किसी तरीके से फिल्म बन कर रिलीज तो हो गई। लेकिन पर्दे पर कोई कमाल ना दिखा सकी और फ्लॉप हो गई। तनुजा का कैरियर ठीक नहीं चल रहा था फिर भी वह अपनी जिंदगी को बिंदास तरीके से ही जी रही थी। उन्हें इस बात की कोई चिंता नहीं हो रही थी कि उनकी फिल्में पिट रही है। फिल्म बहारें फिर भी आएंगी की शूटिंग के दौरान गुरुदत्त से तनुजा ने कहा की “ए गुरु जब तू मर जाएगा तो अपनी लाइब्रेरी मेरे नाम लिख जाना”। तनुजा की बात भी सच हो गई इसी फिल्म की शूटिंग के दौरान गुरुदत्त ने दुनिया को अलविदा कह दिया। यह किस्सा तनुजा की फिल्म चांद और सूरज के दौरान का है।

See also  मुमताज़ का परिचय तथा उनके निजी जीवन और विवाद | Mumtaj Husband name

तनुजा से जुड़े रोचक किस्से

तनुजा ने फिल्म फेयर को दिए गए इंटरव्यू में बताया था कि उस समय धर्मेंद्र शादीशुदा थे और 5 साल के बेटे सनी देओल के पिता थे। एक दिन धर्मेंद्र जी ने मेरे साथ फ्लर्ट करने की कोशिश की थी तो मैंने उन्हें एक जोरदार थप्पड़ जड़ दिया था और कहा बेशर्म तुम्हारी इतनी हिम्मत कि तुम मेरे साथ फ्लर्ट करो। फिर धर्मेंद्र काफी शर्मिंदा हो गए और मुझसे कहने लगे तुम मुझे अपना भाई बना लो फिर मैंने एक धागा उनकी कलाई में बांध दिया था  और धर्मेंद्र को अपना भाई बना लिया।

1973 में तनुजा ने प्रसिद्ध निर्देशक ससाधर मुखर्जी के छोटे बेटे शोमू मुखर्जी से शादी कर ली। शादी के बाद तनुजा ने दो बेटियों को जन्म दिया छोटी बेटी के जन्म के बाद तनुजा और सोमू के रिश्ते खराब हो गए और तनुजा अलग रहने लगी, हालांकि उन्होंने कभी तलाक नहीं लिया।

जब तनुजा लीड रोल में फिट नहीं बैठ रही थी और उनकी फिल्में पिट रही थी। तब उन्होंने सेकंड लीड रोल करना शुरू कर दिया। तनुजा फिल्मों में मां भाभी और मौसी के रोल करने लगी। तनुजा ने कुछ टीवी सीरियल में भी अभिनय किया, तनुजा कभी भी पहली पंक्ति में शामिल नहीं हुई । जहां उनकी बहन नूतन हुआ करती थी।

1967 में आई फिल्म पैसा या प्यार के लिए तनुजा को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया।

तनुजा आज उम्र के इस पड़ाव में भी काफी बिंदास है अभी कुछ समय पहले तनुजा की एक फोटो काफी वायरल हुई थी जिसमें तनुजा नीली कलर की मोनोकिनी (बिकनी का एक प्रकार) पहनी थी। तनुजा कि दोनों बेटियां काजोल और तनीषा भी अभिनेत्रियां हैं। तनुजा की बड़ी बेटी काजोल फिल्म इंडस्ट्री की बहुत बड़ी अभिनेत्री हैं और उनकी छोटी बेटी तनीषा भी कुछ फिल्मों का हिस्सा रही है, लेकिन अपनी बड़ी बहन काजोल की तरह इंडस्ट्री में अपनी जगह नहीं बना पाई। तनुजा आज अपनी छोटी बेटी तनीषा के साथ रहकर अपनी खुशहाल जिंदगी जी रही हैं।

तनुजा को मिले अवार्ड

  1. 1964 मे बंगाली एशोसिएशन से बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवार्ड मिला था फिल्म बेनजीर के लिए।
  2. 1968 मे बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए उन्हे फिल्मफेयर मे नोमिनेट किया गया था फिल्म जेवेल थीफ के लिए।
  3. 1970 मे पैसा या प्यार फिल्म के लिए उन्हे फिल्मफेयर अवार्ड दिया गया था बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए।
  4. 2014 मे उन्हे अप्सरा फिल्म के द्वारा लाइफटाइम अचिवमेंट सम्मान दिया गया था।
  5. 2014 फिल्मफेयर ने भी उन्हे लाइफटाइम अचिवमेंट सम्मान दिया गया था।
See also  पूनम ढिल्लन का जीवन परिचय और उनके विवाद | Poonam Dhillon ka parichay

तनुजा के फिल्मों की सूची

  1. हमारी बेटी 1950
  2. अंबर 1952
  3. छबीली 1960
  4. हमारी याद आएगी 1961
  5. मेम-दीदी 1961
  6. आज और कल 1963
  7. बेनजीर 1964
  8. चंद और सूरज 1965
  9. नई उमर की नई फसल 1965
  10. भूत बंगला 1965
  11. दादी माँ 1966
  12. बहारें फिर भी आएँगी 1966
  13. ज्वेल थीफ 1967
  14. अंथोनि फिरंगी 1967
  15. सपनों का सौदागर 1968
  16. जुआरी 1968
  17. इज्जत 1968
  18. दो दूनी चार 1968
  19. उस रात के बाद 1969
  20. पैसा या प्यार 1969
  21. जीने की राह 1969
  22. गुस्ताखी माफ 1969
  23. राजकुमारी 1970
  24. प्रिया 1970
  25. प्रथम कदम फूल 1970
  26. बचपन 1970
  27. प्यार की कहानी 1971
  28. प्रीत की डोरी 1971
  29. हाथी मेरे साथी 1971
  30. एक पहेली 1971
  31. दूर का राही 1971
  32. अनुभव 1971
  33. मोम की गुड़िया 1971
  34. मेरे जीवन साथी 1972
  35. एक बार मुस्कुरा दो 1972
  36. दो चोर 1972
  37. अपर्णा 1972
  38. इंसाफ 1973
  39. इम्तिहान 1974
  40. हमशक्ल 1974
  41. अमीर गरीब 1974
  42. हमराही 1974
  43. स्वर्ग नर्क 1978
  44. लाल कोठी 1978
  45. बंदिश 1980
  46. याराना 1981
  47. कमांडर 1981
  48. प्रेम रोग 1982
  49. मासूम 1983
  50. खुद्दार 1982
  51. कामचोर 1982
  52. एक जान हैं हम 1983
  53. यादगार 1984
  54. पेट प्यार और पाप 1984
  55. माती मांगे खून 1984
  56. बॉक्सर 1984
  57. जबर्दस्त 1985
  58. सोनी महीवार 1985
  59. होशियार 1985
  60. घर द्वार 1985
  61. सुहागन 1986
  62. नसीहत 1986
  63. मोहब्बत की कसम 1986
  64. माँ बेटी 1986
  65. लव 86 1986
  66. जाल 1986
  67. एक मैं और एक तू 1986
  68. अनोखा रिश्ता 1986
  69. अधिकार 1986
  70. एक और सिकंदर 1986
  71. मर्द की जुबान 1987
  72. दिलजला 1987
  73. पाप को जला कर राख़ कर दूंगा 1988
  74. मेरा मुकद्दर 1988
  75. मधुवन 1988
  76. अग्नि 1988
  77. ताकतवर 1989
  78. रखवाला 1989
  79. पराया घर 1989
  80. मेरी जबान 1889
  81. घराना 1989
  82. शानदार 1990
  83. दुश्मन 1990
  84. अंधाविचार 1990
  85. गज़ब तमाशा 1992
  86. अभी अभी 1992
  87. दीदार 1992
  88. बेखुदी 1992
  89. इज्जत की रोटी 1993
  90. अंतिम न्याय 1993
  91. विवेकानंद 1994
  92. मुकदमा 1996
  93. सफारी 1999
  94. तुम जियो हजारो साल 2002
  95. साथिया 2002
  96. रुल्स : प्यार का सुपरहिट फॉर्मूला 2003
  97. भूत 2003
  98. खाकी 2004
  99. दीवार 2004
  100. टूनपुर का सुपरहीरो 2010
  101. सन ऑफ सरदार 2010
  102. मॉडर्न लव मुंबई 2022

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *