घर में किस चीज का दीपक जलाना चाहिए

शिव पुराण में बताया गया है कि घर में हमेशा घी का दीपक जलाना चाहिए। घी के दीपक को जलाने से घर में सुख समृद्धि आती है। जिन लोगों का विवाह नहीं हो पा रहा है अगर वह लोग रोजाना शाम के समय घी का दीपक जलाएंगे तो जल्दी ही उनकी शादी होने की संभावना है।

वास्तु शास्त्र के हिसाब से घी का दीपक जलाना शुभ माना गया है। लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में सरसों तिल चमेली आदि तेलों के दीपक को भी जलाया जा सकता है। घर में घी का दीपक जलाने से नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होती है तथा घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ता है।

घी का दीपक किस दिशा में रखना चाहिए

नित्य कर्म पूजा प्रकाश पुस्तक के अनुसार घी का दीपक हमेशा अपने बाएं हाथ की ओर जलाना चाहिए। लेकिन यदि दीपक तेल का बना हुआ है तो उसे दाएं हाथ क्यों रखना चाहिए। जब भी पूजा घर में दीपक जलाए तो हमेशा दीपक को भगवान के प्रतिमा के सामने रखना चाहिए। अगर किसी देवी या देवता की पूजा की जा रही है तो उन्हें घी का दीपक जलाना चाहिए लेकिन मनोकामना मांग कर पूजा की जा रही है तब ऐसी स्थिति में तेल का दीपक जलाना चाहिए।

See also  नजर कैसे उतारे | nazar kaise utare

दीपक जलाने के नियम एवं लाभ

  1. अगर कोई उपासक देवी को खुश करना चाहता है और अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत करना चाहता है तो उसे घी का दीपक जलाना चाहिए।
  2. अगर किसी व्यक्ति को शनि का दोष या फिर साढ़ेसाती लगी हुई है तो उसे सरसों का तेल का दीपक जलाना चाहिए।
  3. अगर कोई व्यक्ति बजरंगबली हनुमान जी को प्रसन्न करना चाहता है तब उस व्यक्ति को चमेली के तेल से बने हुए दीपक को जलाना चाहिए और ध्यान रखें कि जो दीपक हनुमान जी की पूजा में इस्तेमाल होता है वह तीन कोणों वाला होना चाहिए।
  4. अगर कोई व्यक्ति सूर्य देव या फिर काल भैरव को प्रसन्न करना चाहता है तो उसे सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए।
  5. अगर किसी व्यक्ति को कुंडली में राहु और केतु का दोष लगा हुआ है तब उसे अलसी का तेल का दीपक जलाने से लाभ होता है और राहु केतु शांत होते हैं।

बेलपत्र के पेड़ के नीचे दीपक कब लगाना चाहिए

बेलपत्र भगवान शिव को बहुत ही प्रिय हैं, ऐसा माना जाता है की बेलपत्र की उत्पत्ति माता पार्वती के पसीने से हुई है। बेलपत्र के पेड़ में माता पार्वती जी का वास होता है। शाम के समय बेलपत्र के पेड़ नीचे दीपक जलाने से मानसिक और आर्थिक लाभ होता है। बेलपत्र के पेड़ के नीचे दीपक प्रतिदिन शाम के समय ही जलाना चाहिए।

जो भक्त भगवान शिव को प्रसन्न करना चाहते हैं कोई भगवान शिव को बेलपत्र चढ़ाते हैं। हिंदू शास्त्रों में बेलपत्र बहुत ही पूजनीय है। बेलपत्र के 3 पत्ते त्रिदेव का प्रतीक है। शाम के समय बेलपत्र की पूजा करनी चाहिए तथा उन्हीं का दीपक जलाना चाहिए। बहुत से लोगों को यह शंका होती है कि घर में बेलपत्र का पेड़ लगाना चाहिए या नहीं तो वह अपनी शंका को दूर करें क्योंकि बेलपत्र एक पवित्र पर है और इसे घर में लगाया जा सकता है। अब बात आती है की बेलपत्र को किस दिन घर में लगाना चाहिए इसके लिए सोमवार सबसे उचित दिन है। अगर कोई व्यक्ति अपने घर में बेलपत्र का पेड़ लगाना चाहता है तो वह सोमवार के दिन अपने घर में बेलपत्र के पेड़ को लगा सकता है।

See also  स्टील के बर्तन किस दिन खरीदना चाहिए

तिल के तेल का दीपक किस दिन लगाना चाहिए

तेल का दीपक जब ही जलाया जाता है जब कोई व्यक्ति किसी मन्नत के लिए पूजा पाठ कर रहा हूं। जिस व्यक्ति को शनि ग्रह शांत करना है वह व्यक्ति तिल के तेल का दीपक शनिवार और मंगलवार के दिन जलाए। इसके साथ ही भगवान विष्णु की पूजा के समय अगर कोई मन्नत मांगना चाहते हैं तब उस पूजा में भी तिल के तेल का दीपक जलाया जा सकता है। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए मुख्य रूप से सरसों का तेल इस्तेमाल किया जाता है जबकि हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए चमेली का तेल किया जाता है हिंदू धर्म ग्रंथों में है कि भगवान विष्णु को तिल का तेल बहुत ही प्रिय है। तिल के तेल को जलाने से घर में अकाल मृत्यु का दोष दूर होता है।

इसके अलावा अगर लगातार 41 पीपल के पेड़ के नीचे तिल के तेल का दीपक जलाया जाए तो यह बहुत ही शुभ फल देने वाला होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *