दोस्तो आज हमलोग hindi story for class 2 पढ़ने वाले हैं। यह पाँच कहानियो का संग्रह हैं।

Hindi Story For Class 2 (भालू और शेर का बच्चा)

सर्दियों का मौसम था। सुबह का वक्त था चारों तरफ कोहरा ही कोहरा था। एक शेर का बच्चा सिमटकर गोल मटोल बना जामुन के पेड़ के नीचे सोया हुआ था। इधर एक मस्त मौला भालू सैर पर निकल आया था। सुबह-सुबह वह टहलने रोज घर से बाहर निकलता था। क्योंकि वह मोटा हो रहा था और स्वस्थ रहने के लिए वो टहलने लगा था। लेकिन ठंड को देखकर वह पछता रहा था कि आज पहले से उसे छुट्टी ले लेनी चाहिए थी। इसी उधेड़बुन में वह टहलते हुए जा रहा था तभी उसकी नजर जामुन के पेड़ के नीचे पड़ी। उसकी आंखें चमक गई चेहरे में एक प्रसन्नता की लहर दौड़ गई। उसने देखा की जामुन के पेड़ के नीचे कुछ गोल मटोल सा पड़ा हुआ है उसने आनंद के साथ बोला वाह फुटबॉल। उसने सोचा चलो इससे खेल कर शरीर को कुछ गर्मी मिल जाएगी और मौसम की ठंड से वह बच जाएगा। उसने आव देखा ना ताव और उस गोल मटोल गेम से दिखने वाले शेर के बच्चे पर जोर से लात दे मारा। भालू के पैर से उछल कर शेर का बच्चा अचानक जागा और दहाड़ मारने लगा और जामुन के पेड़ से नीचे झुकी हुई एक डाल को पकड़ लिया। लेकिन शेर के बच्चे की वजन से वह डाल टूट गई। भालू को मामला समझ में आ गया और उसे पछतावा होने लगा। लेकिन जल्दी ही उसने फुर्ती से आगे बढ़कर अपने दोनों हाथ से गिर रहे शेर के बच्चे को पकड़ लिया। शेर के बच्चे को पकड़ते हुए उस ने राहत की सांस ली लेकिन शेर का बच्चा भालू को फिर से उठाने के लिए कहा, भालू ने बात मान कर उसे एक बार उछाला सिर दूसरी बार फिर तीसरी बार, शेर के बच्चे को इस तरह उछाल आ जाना बहुत पसंद आ रहा था इसलिए वह बार-बार भालू को उठाने के लिए कहता रहा। लेकिन भालू थक कर परेशान हो गया था। और मन में उसने सोचा ओह किस आफत में आज मैं फंस गया। 12वीं बार भालू ने जब शेर के बच्चे को हवा में उछाला उसके तुरंत बाद ही भालू घर की ओर दौड़ लगा दिया और वहां से गायब हो गया। अबकी बार शेर का बच्चा धड़ाम से जमीन पर आ गया और जामुन की डाल भी टूट गई। उसी समय वहां पर माली आ गया और शेर के बच्चे पर बरस पड़ा और शेर के बच्चे से हर्जाना मांगने लगा। शेर के बच्चे ने माली से कहा रुको जरा मैं ठीक तो हो लू। माली ने कहा ठीक है मैं अपना पर्स लेकर झोपड़ी से आ रहा हूं तुम हर्जाना निकाल कर तैयार रखो। माली जैसे ही अपनी झोपड़ी की ओर गया उसी समय शेर का बच्चा भी वहां से नौ दो ग्यारह हो गया। शेर का बच्चा मन ही मन सोचा जान बची तो लाखों पाए लौट के बुद्धू घर को आए।

Q1: शेर के बच्चे ने पेड़ की डाल क्यों पकड़े?
Ans- क्योंकि शेर का बच्चा पेड़ के नीचे गोल मटोल लेटा हुआ था भालू को लगा यह फुटबॉल है इस और भालू ने जोर से पैर मार कर शेर के बच्चे को हवा में उछाल दिया जिसकी वजह से शेर के बच्चे ने अपने को बचाने के लिए पेड़ की डाल पकड़ी।
Q2: शेर का बच्चा क्यों दहाड़ा? (Hindi Story For Class 2)
Ans- भालू की पैर लगने की वजह से वह हवा में उछल गया था और यह सब उसके लिए अचानक हुआ और इसीलिए वह दहाड़ दिया
Q3: भालू किस बात पर पछता रहा था? (Hindi Story For Class 2)
Ans- भालू को यह पता चल गया था कि उसने जिस गोल मटोल चीज को फुटबॉल समझा था वह फुटबॉल नहीं बल्कि शेर का बच्चा था इसीलिए भालू को पछतावा हुआ।
Q4: भालू ने क्यों कहा वह किस आफत में आ फंसा?
Ans- क्योंकि शेर का बच्चा बार-बार भालू को हवा में उछाल ले के लिए कह रहा था और भालू अब थका हुआ महसूस कर रहा था इसलिए उसने ऐसा कहा
Q5: भालू शेर के बच्चे को ना पकड़ता तो क्या होता
Ans- अगर भालू शेर के बच्चे को ना पकड़ता तो शेर का बच्चा जमीन में धड़ाम से गिर जाता और उसे चोट लगती
Q6: शेर का बच्चा नौ दो ग्यारह ना होता तो क्या होता अगर शेर का बच्चा नौ दो ग्यारह ना होता तो?
Ans- उसे जामुन की डाल टूटने की वजह से माली को हर्जाना देना होता

——————–(पहली कहानी समाप्त)———————-

See also  हिन्दी कहानी - छुट्टा साँड | Hindi Story - Chutta Saand

अधिक बलवान कौन (Hindi Story For Class 2)

एक बार हवा और सूरज में बहस छिड़ गई। हवा ने सूरज से कहा मैं तुम से अधिक बलवान हूं। सूरज ने हवा से कहा मैं तुमसे ज्यादा ताकतवर हूं। इतने में हवा की नजर एक आदमी पर पड़ी हवाओं ने कहा इस तरह बहस करने से कोई फायदा नहीं है जो आदमी का कोर्ट उतरवा दे वही ज्यादा बलवान है।

सूरज हवा की बात मान गया। उसने कहा ठीक है दिखाओ अपनी ताकत। हवा ने अपनी ताकत दिखानी शुरू की। आदमी की टोपी उड़ गई पर कोर्ट उसने अपने दोनों हाथों से शरीर से लपेट रखा और जल्दी-जल्दी कोर्ट के बटन बंद कर दिए। हवा और जोर से चलने लगी अंत में आदमी नीचे ही गिर पड़ा। परंतु कोर्ट उसके शरीर पर ही रहा। अब हवा थक गई थी। सूरज ने कहा अब तुम मेरी ताकत देखो कैसे मैं पल भर में इसके कोर्ट को उतरवा देता हूं। सूरज अपने लगा जिसके तुरंत बाद ही आदमी ने कोर्ट के बटन खोल दिए लेकिन उसने कोर्ट नहीं उतारा। यह देख कर हवा मुस्कुरा रही थी। सूरज ने गर्मी को और बढ़ाया आदमी ने कोर्ट उतार दिया और उसे हाथ में लेकर चलने लगा। यह देखते ही सूरज ने कहा देखी हवा मेरी ताकत को उतरवा दिया ना कोर्ट हवा ने सूरज को नमस्कार किया और कहां मान गई भाई मैंने तुम्हारी ताकत।

Q1- आदमी ने गर्मी लगने पर कोर्ट उतार दिया। तुम गर्मी लगने पर क्या करते?
Ans- मैं गर्मी लगने पर घर के सीलिंग फैन को चालू करता हूं ज्यादा गर्मी होने पर कूलर का इस्तेमाल करता हूं। अगर गांव में रहता हो तो बगीचे में जाकर पेड़ के छांव में खटिया बिछा के लेता हूं

——————–(दूसरी कहानी समाप्त)———————-

See also  ज्ञानवर्धक कहानी -दूसरों की समस्या को अपनी समस्या मानना चहिये

दोस्त की मदद (Hindi Story For Class 2)

किसी तालाब में एक कछुआ रहता था। तालाब के पास मांद में रहने वाली एक लोमड़ी से उसकी दोस्ती हो गई। एक दिन वो दोनों तालाब के किनारे गपशप कर रही थी कि एक तेंदुआ वहां आया।

दोनों अपने अपने घर की ओर जान बचाकर भागने लगे। लोमड़ी तो सरपट दौड़ कर अपनी मौज में पहुंच गई पर कछुआ अपनी धीमी चाल के कारण तालाब तक नहीं पहुंच सका। तेंदुआ एक छलांग में उस तक पहुंच गया। कछुए को कहीं छुपने का मौका ना मिला। तेंदुए ने कछुए को मुंह में पकड़ा और उसे खाने के लिए एक पेड़ के नीचे चला गया।

लेकिन दांतो और नाखूनों का पूरा जोर लगाने पर भी कछुए की सख्त खोल पर खरोच तक नहीं आई। लोमड़ी अपनी माँद से यह सब देख रही थी। उसने कछुए को बचाने की तरकीब सोची। उसने माँद से बाहर झांक कर देखा और भोलेपन के साथ बोली – “तेंदुए जी कछुए के खोल को तोड़ने का मैं एक आसान तरीका बताती हूं, इसे पानी में फेंक दो। थोड़ी देर में पानी से इसका खोल नारम हो जाएगा। चाहो तो आजमा कर देख लो।”

तेंदुए ने कहा – “ठीक है अभी देख लेता हूं।”

यह कहकर उसने कछुए को पानी में फेंक दिया। बस फिर क्या था कछुआ पानी के अंदर चला गया और तेंदुआ हाथ मलता रह गया।

 NCERT की किताब डाउनलोड करे

  1. क्लास 2 की हिन्दी की किताब download करे
  2. क्लास 3 की हिन्दी की किताब डाउनलोड करे
  3. क्लास 4 की हिन्दी की किताब डाउनलोड करे
One thought on “Best Hindi Story For Class 2 : पाँच हिन्दी कहानियाँ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *