Agale janm me, agale janm chipkalli, agale janm tota, agale janm chhachhundar, agale janm baraiya, agale janm kabootar, agale janm machchar, अगले जन्म कौनसी योनि मिलेगी, कर्मों के अनुसार जन्म, कुत्ते का जन्म क्यों मिलता है, मनुष्य जन्म कब मिलता है, कर्मों के अनुसार जन्म

कुत्ते का जन्म क्यों मिलता है? | Agale janm me kaun kya banega

इस जन्म में हम इंसान जरूर बन गए हैं लेकिन जरूरी नहीं है कि अगले जन्म में फिर से इंसान ही बने। अगले जन्म में कोई व्यक्ति किस योनि में जन्म लेगा यह उस व्यक्ति के कर्मों पर निर्भर करता है और अगर कोई व्यक्ति यह जानना चाहता है कि वह अगले जन्म में क्या बनेगा तो वह अपने वर्तमान जन्म के कर्मों से यह अंदाजा लगा सकता है की वह व्यक्ति अगले जन्म में किस योनि में जन्म लेगा। इस लेख के माध्यम से अगले जन्म से संबंधित विषय पर ही चर्चा की जा रही है।

अगले जन्म सर्प या सांप क्यों बनते हैं

अगर कोई व्यक्ति धन को बहुत ही ज्यादा मानता है और जरूरत पड़ने पर भी धन को खर्च नहीं करता है, तब इस तरह कर्म वाले व्यक्ति अगला जन्म लेते हैं तो उन्हें सांप की योनि प्राप्त होती है और सांप की योनि लेने के बाद वह किसी गड़े हुए धन की रक्षा करते हैं। इसके अलावा जो व्यक्ति गुस्सैल स्वभाव वाला होता है और बदला लेने के लिए हर समय तैयार रहता है ऐसे व्यक्ति भी अगले सात जन्म सांप बनते हैं और इंसानों के द्वारा ही उनकी मृत्यु होती है।

अगले जन्म अजगर कौन बनता है

ऐसे व्यक्ति जो लोग आलसी होते हैं और किसी भी तरह का कोई कार्य नहीं करते तथा किसी एक स्थान पर लेटे हुए घंटो तथा दिन बिता देते हैं ऐसे व्यक्ति अगले जन्म में अजगर बनते हैं। इसके अलावा जो व्यक्ति शिव पुराण लेटे-लेटे सुनता है वह भी अगले जन्म अजगर की योनि प्राप्त करता है।

See also  सपने में सांप को भागते हुए देखना

अगले जन्म में मंदबुद्धि कौन बनता है

जो व्यक्ति अपना सारा जीवन नशे में व्यतीत कर देता है ऐसे व्यक्ति अगले जन्म में मंदबुद्धि के रूप में जन्म लेते हैं। इसके अलावा जो लोग अपने को बहुत ही चतुर और होशियार समझते हैं ऐसे लोग भी अगले जन्म में मंदबुद्धि के रूप में जन्म लेते हैं।अगर कोई व्यक्ति अपने पूरे जीवन दूसरों को उल्लू बना कर धन अर्जन करता है तथा दूसरों को ठगने पर ही उसके जीवन का यापन होता है ऐसे व्यक्ति भी अगले जन्म में मंदबुद्धि के रूप में जन्म लेते हैं।

अगले जन्म गधा कौन बनता है

ऐसे व्यक्ति जो हत्यारा हो तथा दूसरों का कत्ल किया हो इसके अलावा सारा जीवन उसका बदमाशी-लूटपाट एवं गुड़गर्दी में बीता हो, ऐसा व्यक्ति अगले जन्म में गधे की योनि प्राप्त करता है और गधे की योनि मे जन्म लेने के बाद जीवन भर लात, घुसा और डंडे की मार सहना पड़ता है। उस गधे का मालिक वही होता है, जिसकी उसने पूर्व जन्म में हत्या की थी। इसके अलावा जो व्यक्ति दूसरों की झूठी, चुगली और निंदा करके दूसरे का जीवन बर्बाद करते है ऐसे व्यक्ति भी अगले जन्म में गधे बनते हैं।

अगले जन्म छछूंदर कौन बनता है

ऐसे लोग जो दूसरों के घर में होने वाली घटनाओं एवं बातों को बहुत ध्यान देते हैं, दूसरों के घर में ताक झांक करते हैं। ऐसे व्यक्ति अगले जन्म में छछूंदर बनते हैं। इसके अलावा महकने वाली वस्तुओं की चोरी करने वाला भी अगले जन्म में छछूंदर की योनि प्राप्त करता है।

अगले जन्म तोता कौन बनता है

जो व्यक्ति दिन भर बात करता और बातुनी होता है, ऐसे व्यक्ति अगले जन्म में तोता की योनि पाते हैं। इसके अलावा कपड़ों की चोरी करने वाला व्यक्ति भी अगले जन्म में तोते की योनि पाता है। जो व्यक्ति दूसरों की खेत से सब्जी-भाजी चोरी करते हैं ऐसे लोग भी अगले सात जन्म तक तोता बनते हैं और उन्हें नीम में फलने वाले कड़वे फल को खाकर अपने जीवन का यापन करना पड़ता है।

अगले जन्म कौंच चिड़िया कौन बनता है

जो व्यक्ति अपने बड़े भाई का अपमान करता है तथा अपने बड़े भाई तथा छोटे भाई की निंदा करता है ऐसे व्यक्ति अगले जन्म में कौंच चिड़िया बनते हैं। कौंच चिड़िया का जीवन मात्र 10 वर्ष का होता है।

See also  सपने में पूड़ी देखना | Sapne me puri dekhna

अगले जन्म में भेड़िया कौन बनता है

जो व्यक्ति किसी भी स्त्री का अपमान करता है और बात-बात पर परेशान करता है, वह व्यक्ति अगले जन्म में भेड़िया बनता है और भेड़िया बनने के बाद कुत्ता बनता है तथा कुत्ता बनने के बाद सियार बनता है। इसके अलावा दूसरों का हक छीन कर लेने वाला व्यक्ति भी अगले जन्म में कुत्ता बनता है और फिर सियार बनता है।

अगले जन्म छिपकली कौन बनता है

यदि कोई व्यक्ति दूसरे व्यक्ति की या दूसरे घर के लोगों की बातचीत को चोरी-छिपे सुनता है वह व्यक्ति अगले जन्म में छिपकली का जन्म पाता है। इसके अलावा जब व्यक्ति मरता है तो यमदूत उसे यमलोक ले जाते हैं और उसके कानों में खौलता हुआ तेल डालते हैं।

अगले जन्म कीड़े कौन बनता है

अगर कोई व्यक्ति स्वर्ण की चोरी करता है तथा उस स्वर्ण को बेचकर अपने घर का लालन पालन करता है, वह व्यक्ति अगले जन्म में कीड़े के रूप में जन्म लेता है। किसी दूसरे के कीमती आभूषण, सोने और चांदी को चोरी करके अपना जीवन यापन करने वाले व्यक्ति को 108 जन्म तक कीड़े की योनि प्राप्त होती है।

अगले जन्म कौआ कौन बनता है

जो व्यक्ति अपने पूर्वजों और पितरों को संतुष्ट नहीं कर पाता और संतुष्ट करने के पहले ही मर जाता है, वह व्यक्ति अगले 54 जन्म तक कौवा बनता है और प्रत्येक पितृपक्ष में कौवे के रूप में श्राद्ध का भोजन ग्रहण करके पूर्वजों तक पहुंचाता है। इसलिए हर व्यक्ति को मरने के पहले अपने पूर्वजों को संतुष्ट कर देना चाहिए तथा संभव हो तो भागवत का पाठ जरूर कराना चाहिए।

अगले जन्म बिल्ली कौन बनता है

अगर कोई व्यक्ति अपनी बहन का हक छिनता है और उसे अपमानित करता है, ऐसे व्यक्ति अगले जन्म में बिल्ली की योनि प्राप्त करते हैं और उनके हक का भोजन कोई और छीन कर खाता है।

अगले जन्म मच्छर कौन बनता है

अगर कोई व्यक्ति दूसरे का पैसा लूटता है तब उसके मरने पर यमदूत उसे रस्सी से बांधकर 127 वर्षों तक उसे पीटते हैं। फिर उन्हें 108 जन्म तक मच्छर का जन्म लेना पड़ता है।

See also  चाय का गिरना शुभ या अशुभ जानकर चौक जाएंगे

अगले जन्म कबूतर कौन बनता है

अगर कोई व्यक्ति किसी की बुराई करता है और चुगली करता है ऐसे व्यक्ति 47 जन्म तक कबूतर बनते हैं तथा जब भी उनकी मृत्यु होती है तो यमदूत उन्हें खौलते गर्म तेल पर डालते हैं और फिर उनके जीभ को सांप और बिच्छू से कटवाते हैं।

अगले जन्म बरैया कौन बनता हैं

जो व्यक्ति दूसरे की स्त्री का हरण करता हैं या फिर पराई स्त्री से प्रेम रखता हैं उसे सैकड़ों वर्ष तक नर्क भोगना होता हैं। नर्क के रक्षक उसे खौलते तेल से नहलाते हैं और फिर उसके शरीर में नमक से मालिश करते हैं। दूसरे की स्त्री पर बुरी नजर रखने वाला तथा दूसरे की स्त्री से प्रेम रखने वाला व्यक्ति अगले जन्म बरैया बनता हैं।

Keyword- Agale janm me, agale janm chipkalli, agale janm tota, agale janm chhachhundar, agale janm baraiya, agale janm kabootar, agale janm machchar, अगले जन्म कौनसी योनि मिलेगी, कर्मों के अनुसार जन्म, कुत्ते का जन्म क्यों मिलता है, मनुष्य जन्म कब मिलता है, कर्मों के अनुसार जन्म

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *