kaar

Hindi Kahani – कार का मालिक और एक ज्ञानी वक्ता (Hindi Story of Car Driver)

जॉनसन नाम का एक सज्जन अपने उत्साहित कर देने वाले भाषणों के कारण बहुत ही लोकप्रिय थे।

एक दिन ब्रिटेन के एक कस्बे में उनका भाषण होने वाला था, उन्हें लेने के लिए स्टेशन पर एक व्यक्ति अपनी कार से आया। कार के मालिक ने जॉनसन को कार में बैठाकर, गाड़ी को उसने चलाना चालू कर दिया। इस दौरान कार के मालिक ने अपने सर पर एक भारी कपड़ा बांध लिया।

कार का मालिक कार चलाते-चलाते, बार-बार अपना सर खिड़की के आगे कर लेता। जॉनसन उसकी यह हारकर देख रहा था। इसलिए थोड़ी देर रुकने के बाद जानसन ने उससे ऐसा करने का कारण पूछा।

तब कार के मालिक ने कहा की – “खिड़की का शीशा खराब है। आपको ठंडी हवा से बचाने के लिए ऐसा कर रहा हूं।”

जानसन ने उससे कहा – “मेरे लिए इतना कष्ट उठाने की आवश्यकता तुम्हें नहीं है।”

यह सुन कार कार का मालिक ने बोला – “आपके लिए कष्ट उठाना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। किसी समय मैं एक भिखारी था, रेलवे स्टेशन के बाहर मैं भीख मांगा करता था। एक दिन मैंने आप का भाषण सुना और उससे इतना प्रेरित हुआ कि मेरा जीवन बदल गया। आज मैं जो कुछ भी हूं, आप के कारण ही हूं।”

ऐसा कहकर उसने जॉनसन का शुक्रिया अदा किया। जॉनसन जवाब मे मुस्कुराया।

शिक्षा – यदि शब्द प्रेरणा पद हो तो मनुष्य को नवजीवन दे सकते हैं (आपको यह hindi kahani कैसी लगी नीचे कमेन्ट करके जरूर बताए। और यह hindi story पसंद आने पर अपने दोस्तो के साथ शेयर करे।)

See also  Dharmik Hindi Kahani- राजा जनक और अष्टावक्र (Hindi Story- Raja Janak aur Ashtavakra)

Keyword – Hindi kahani, hidi story, hindi kahaniya, hindi kids story, hindi kahani in hindi, johnson ki kahani, kar ke malik ki kahai,

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *