एक बार एक लड़का अपने घर में बैठे हुए, एक प्लास्टिक की बोतल को बीच से काट रहा था। उसकी यह हरकत देखकर, उसकी मां ने उसे टोका और बोतल को बीच से काटने का कारण पूछा?

तब लड़के ने कहा -“मैं यह बोतल इस लिए काट  रहा हूँ, क्योंकि जब भी दादाजी, हम लोगों के साथ बैठकर खाना खाते हैं। तो उनकी प्लेट और चम्मच की आवाज बहुत ज्यादा होती है। जिसे सुनकर आप उन्हें डांट देते हो और उन्हें अलग कमरे में बैठा कर खाना देते हो। कई बार बाबाजी के बूढ़े और कांपते हुए हाथों से चीनी मिट्टी के प्लेट गिर जाते हैं और फूट जाते हैं। प्लेट के फूटने के बाद आप बाबाजी पर बहुत गुस्सा करते हैं। इसलिए मैं यह प्लास्टिक की बोतल को आधा काट रहा हूं। क्योंकि जब आप लोग बूढ़े हो जाओगे तो, मैं इसी प्लास्टिक के बोतल के आधे हिस्से में आपको खाने के लिए दिया करूंगा। क्योंकि यह प्लास्टिक का है इसलिए ना तो यह कभी टूटेगा और ना ही कभी चम्मच के साथ टकराकर आवाज करेगा और ना आप लोगों को आपकी बहू कुछ भी अनाप-शनाप बोलेगी।”

बच्चे की बात सुनकर मां को अपनी गलती का एहसास हो गया और अगले दिन से उसने अपने ससुर को सबके साथ ही बैठा कर खाना खिलाने लगी और उनके साथ बुरे बर्ताव को करना छोड़ दिया। और बेटी की तरह अपने ससुर की सेवा करने लगी।

Keyword for This Hindi Kahani – hindi kahani, hindi story, bahu aur sasur, sasur aur bahu, dusht bahu, budha sasur, chhota ladka, ladka aur usaki maa, 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *