parshuram ke pita, bhagwan parshuram ke pita ka naam, parshuram ke pita ka naam kya tha, parshuram ke pita kaun the, parshuram ke pita ka name, parshuram ke pita ka naam kya hai, parshuram ke pitaji ka naam, parshuram ke pita ka naam, parshuram ke pitaji ka kya naam tha, परशुराम के पिता का क्या नाम था, parshuram ke pita ji ka naam, parshuram ke pita ko kisne mara, parshuram ke mata pita ka naam

परशुराम के पिता का क्या नाम था? | parshuram ke pita ka kya naam tha

परशुराम के पिता का क्या नाम था ?

परशुराम के पिता का नाम ऋषि जगदग्नि था जबकि परशुराम की माता का नाम रेणुका था। परशुराम भगवान विष्णु के छठे अवतार हैं। इसलिए उन्हे भगवान का दर्जा प्राप्त हैं। परशुराम जी को न्याय का प्रतीक माना जाता हैं। उनका जन्म धरती से अन्याय को खत्म करने के लिए हुआ था। परशुराम अपने पिता के आज्ञाकारी पुत्र थे।

परशुराम ने अपनी माता का गला क्यो काटा था?

एक बार परशुराम की माता रेणुका सरोवर मे स्नान कर रही थी, उसी समय एक राजा चित्ररथ उसी सरोवर मे नौका विहार कर रहे थे। उन्हे देख कर रेणुका के मन मे विकार आ गया। रेणुका उसी मन के साथ जब ऋषि आश्रम मे पहुंची तो ऋषि जगदग्नि ने रेणुका के मन के विकार को भाँप लिया और अपने पुत्रो को आदेश दिया की वो रेणुका का सर धड़ से अलग कर दे। पर किसी ने भी ऐसा नहीं किया लेकिन जब जगदग्नि ने परशुराम को ऐसी आज्ञा दी तो उन्होने अपने माता रेणुका का सर धड़ से अलग कर दिया। यह देख का उनके पिता ऋषि जगदग्नि बहुत खुश हुये और उन्होने परशुराम जी को वरदान मागने को कहा, तब परशुराम ने अपनी माता रेणुका को फिर से जिंदा करने का वरदान मांगा। परशुराम ने अपनी माता को नवजीवन दिलाया। ऋषि जगदग्नि ने अपने पुत्र परशुराम की बुद्धि और पितृभक्ति से बहुत प्रसन्न हुये और उन्हे बहुत सारा आशीर्वाद और अस्त्र-शस्त्र प्रदान किए।

See also  सपने में बर्तन देखना | sapne me bartan dekhna

परशुराम को कौन सा पाप लगा था?

परशुराम ने अपनी माता की हत्या की थी इसलिए भगवान परशुराम को मातृ हत्या का पाप लगा था और इस पाप से मुक्ति पाने के लिए भगवान परशुराम ने महादेव शिव शंकर की कठोर तपस्या की थी और तब जाकर उनके पापों का नाश हुआ था भगवान शंकर परशुराम जी के तप से प्रसन्न होकर उन्हें एक फरसा दिया था इसी के बाद उनका नाम परशुराम हो गया वरना इसके पहले उनका नाम राम था।

परशुराम का असली नाम क्या है?

महाभारत और विष्णु पुराण के अनुसार भगवान परशुराम का असली नाम राम था। लेकिन भगवान शंकर से उन्हें वरदान के रूप में एक फरसू दिया था और उस फरसे को वह हमेशा अपने साथ रखते थे तथा बुरे लोगों का संघार करते थे इसलिए उनका नाम परशुराम हो गया। उनके बाबा ऋषि भृगु ने उनका नामकरण संस्कार के समय उन्हें राम कहकर पुकारा था।

परशुराम और विश्वामित्र का संबंध क्या हैं?

विश्वामित्र भगवान परशुराम के दादी के भाई हैं। भगवान परशुराम के दादा का नाम ऋषि ऋचिक हैं उनकी पत्नी का नाम सत्यवती हैं, सत्यवती राजा गाधी की पुत्री और विश्वामित्र की बहिन थी। ऋचिक और सत्यवती से जगदग्नि का जन्म हुआ। जगदग्नि और रेणुका से परशुराम जी का जन्म हुआ। ऋषि भृगु परशुराम के पर दादा हैं।

Keyword- parshuram ke pita, bhagwan parshuram ke pita ka naam, parshuram ke pita ka naam kya tha, parshuram ke pita kaun the, parshuram ke pita ka name, parshuram ke pita ka naam kya hai, parshuram ke pitaji ka naam, parshuram ke pita ka naam, parshuram ke pitaji ka kya naam tha, परशुराम के पिता का क्या नाम था, parshuram ke pita ji ka naam, parshuram ke pita ko kisne mara, parshuram ke mata pita ka naam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *