किस दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए, किस दिन बाल कटवाना चाहिए, बुधवार को बाल कटवाने चाहिए, रविवार को बाल कटवाना चाहिए कि नहीं, baal kis din katna chahiye, baal kis din katne chahiye, kis din baal nahi katne chahiye, baal kis din karna chahie, शनिवार को बाल कटवाना चाहिए

किस दिन बाल कटवाना चाहिए | bal kab katne chahiye

सोमवार को बाल कटवाना चाहिए या नहीं

सोमवार का दिन भगवान शंकर को समर्पित होता है। ज्योतिष शास्त्र और अन्य वेद एवं शास्त्रों के अनुसार भगवान भोलेनाथ को बाल और दाढ़ी बहुत ही ज्यादा पसंद है। हिंदू धर्म ग्रंथों में तो यह भी वर्णित है कि भगवान शिव स्वयं जटा-जूट रखे हुए हैं और उनके चेहरे में बड़ी-बड़ी दाढ़ी है। इसलिए ऐसी मान्यता है की सोमवार के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए और ना ही सोमवार के दिन दाढ़ी और मूंछ कटवाने चाहिए। सोमवार के दिन जो भी व्यक्ति अपने बाल एवं दाढ़ी मूछ को काटता है, ऐसे व्यक्ति को मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है, इसके साथ ही उस व्यक्ति को कालसर्प योग जैसा दोष भी लग सकता है। इसलिए अगर किसी को सोमवार के दिन बाल काटने की इच्छा हो रही है तो उसे अपनी इच्छा को नियंत्रित करना चाहिए।

इसके अलावा कई पंडित पुरोहित यह भी कहते हैं जो व्यक्ति सोमवार के दिन दाढ़ी मूछ या फिर बाल बनाते है तो इसका दोष उनके पुत्र को लगता है, इसलिए जिन लोगों की संतान होती हैं, उन्हें भी सोमवार के दिन बाल कटवाने एवं दाढ़ी, मूछ बनवाने से बचना चाहिए। अगर किसी व्यक्ति को बहुत जरूरी है कि उसे सोमवार को बाल कटवाना ही पड़े, तब इसके लिए शास्त्रों में उपाय बताया गया है की जब भी बाल कटवाने के लिए बाहर जाएं तो उसके पहले अपने कुछ बालों को आप स्वयं अपने हाथों से काट ले। इसके बाद जब बाहर से बाल कटवा कर वापस आ जाएं तो तुरंत नहा कर भगवान शिव की पूजा अर्चना कर, उनसे माफी मांग ले। तब सोमवार के दिन बाल कटवाने का दोष नहीं लगता है। पूजा के बाद गंगाजल को अपने ऊपर जरूर छिड़के।

मंगलवार को बाल कटवाना चाहिए या नहीं

मंगलवार को भी बाल और दाढ़ी बनवाना एवं कटवाना अच्छा नहीं माना जाता है, ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति मंगलवार के दिन बाल कटवाना है या फिर दाढ़ी-मूछ बनवाता है उसकी उम्र कम हो जाती है। इसीलिए अक्सर देखने को मिलता है कि मंगलवार के दिन ज्यादातर सलून की दुकानें बंद रहती हैं क्योंकि भारत के ऐसे बहुत से क्षेत्र हैं जहां पर मंगलवार के दिन लोग अपने बाल नहीं कटवाते हैं और ना ही दाढ़ी मूछ बनवाते हैं। इसलिए भूल कर भी किसी भी व्यक्ति को मंगलवार के दिन बाल नहीं कटवाना चाहिए।

बुधवार को बाल कटवाना चाहिए या नहीं

बुधवार का दिन माता लक्ष्मी को समर्पित होता है यह दिन माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना का दिन है। मनुष्य के जब बाल और दाढ़ी-मूछ बढ़ जाते हैं तो वह बीमारियों का और किटाणुओ का घर हो जाता है यानी वहां पर दरिद्रता का निवास हो जाता है। इसलिए बुधवार के दिन अपने शरीर की सफाई करनी चाहिए। खासकर बाल कटवाना, दाढ़ी बनवाना बहुत ही शुभ माना गया है जो व्यक्ति बुधवार के दिन अपने बाल और दाढ़ी बनवाता है तथा हाथ-पैर के नाखूनों को कटवाता है, उसके घर में माता लक्ष्मी का आशीर्वाद होता है और वह घर लगातार बरकत करता रहता है। इसलिए ज्यादातर लोगों को हमने यह देखा है कि वह बुधवार के दिन ही बाल कटवाते हैं और हर किसी को कोशिश करनी चाहिए कि बुधवार के दिन ही बाल कटवाए या दाढ़ी मूछ बनवाएं, यह दिन इन कामों के लिए बहुत ही शुभ माना गया है।

See also  2023 मे महाशिवरात्री कब हैं | 2023 me Mahashivratri kab hai

गुरुवार को बाल कटवाना चाहिए या नहीं

शास्त्रों के अनुसार गुरुवार का दिन भगवान विष्णु तथा बृहस्पति भगवान को समर्पित होता है। ऐसा माना जाता है कि जो गुरुवार के दिन बाल नाखून आदि नहीं कटवाने चाहिए। जो व्यक्ति गुरुवार के दिन बाल नाखून या फिर दाढ़ी-मूछ बनवाता है उसके मान-सम्मान और प्रतिष्ठा में हानि पहुंचती है तथा लक्ष्मी का नुकसान भी होता है। इसलिए भूलकर भी गुरुवार के दिन बाल नहीं कटवाना चाहिए और ना ही नाखून तथा दाढ़ी मूछ बनवाना चाहिए।

शुक्रवार को बाल कटवाना चाहिए या नहीं

शुक्रवार का दिन बाल कटवाने की दृष्टि से बहुत ही उचित दिन माना गया है। यह दिन देवियों के लिए समर्पित होता है। और हिंदू धर्म की सभी देवियों को साफ-सफाई बहुत ही पसंद है इसलिए शुक्रवार के दिन जो व्यक्ति अपने घर की सफाई करता है या फिर बाल कटवाता है, नाखून कटवाता है, उस पर सभी देवियां प्रसन्न होती हैं। इसीलिए शुक्रवार के दिन बाल, दाढ़ी-मूंछ कटवाना अति शुभ माना गया है। अगर सप्ताह में कोई एक दिन बाल कटवाने का मौका मिले तो सबसे शुभ दिन शुक्रवार का दिन ही है। जो व्यक्ति शुक्रवार के दिन अपने बाल कटवाता है उसकी जीवन में तरक्की आती है। उसका माना सम्मान बढ़ता हैं, समाज मे प्रतिष्ठा बढ़ती हैं।

शनिवार को बाल कटवाना चाहिए या नहीं

शनिवार के दिन भूल से भी बाल नहीं कटवाना चाहिए। बाल कटवाना तो छोड़िए, शनिवार के दिन तो बाल में तेल भी नहीं लगाना चाहिए। शनिवार का दिन न्याय के देवता भगवान शनि को समर्पित होता है और इस दिन बाल कटवाना अशुभ माना जाता है। जो व्यक्ति शनिवार के दिन बाल कटवाता है, ऐसे व्यक्ति को जीवन संकट की संभावना होती है। इसलिए शनिवार के दिन भूल से भी बाल नहीं कटवाना चाहिए और संभव हो तो शनिवार के दिन बाल में तेल भी नहीं लगाना चाहिए।

रविवार को बाल कटवाना चाहिए या नहीं

रविवार का दिन भगवान सूर्य को समर्पित होता है, ऐसा महाभारत के अनुशासन पर्व में बताया गया है। जो व्यक्ति रविवार के दिन अपने बाल, नाखून, दाढ़ी-मूछ करवाता है, ऐसे व्यक्ति को धन का, धर्म का और बुद्धि का नुकसान होता है। यह दिन बहुत ही विशेष होता है, रविवार के दिन भूलकर भी बाल और नाखून नहीं काटना चाहिए, लेकिन भारत में अंग्रेजी सभ्यता का पालन करते हुए रविवार के दिन छुट्टी मिलती है और भारत में ज्यादातर लोग रविवार के दिन ही बाल कटवाते हैं। लेकिन जो लोग भारतीय संस्कृति से जुड़े हुए हैं और पश्चिम के चीजों को आंख मूंदकर नहीं मानते हैं, वह रविवार के दिन बाल काटने से बचते हैं।

See also  सपने में सब्जी देखना | sapne me sabji dekhna

हर चीज पश्चिम का सही नहीं होता है उदाहरण के लिए अंग्रेजों का कैलेंडर में 12वां महीना दिसंबर होता है लेकिन दिसंबर का असली मतलब 10 होता हैं। इसी तरीके से नवंबर 9 का प्रतीक है, लेकिन कैलेंडर में वह 11 महीने में आता है। अक्टूबर 8 का प्रतीक है, लेकिन कैलेंडर में 10वें महीने में आता है। इसलिए हर चीज अंग्रेजों का पालन नहीं करना चाहिए और अपनी संस्कृति और धर्म से जुड़ कर धर्म और संस्कृति का पालन करना चाहिए। तो जो लोग रविवार के दिन बाल काटते हैं कोशिश करें कि रविवार की जगह शुक्रवार या बुधवार के दिन अपने बाल को कटवाए।

बाल कटवाते समय ध्यान रखें बात

जब भी आप अपने बाल या दाढ़ी-मूछ बनवाने के लिए नाई की दुकान में जाते हैं तो यह ध्यान रखना चाहिए कि जब भी आप के बाल काटे जा रहे हो या दाढ़ी-मूछ बनाई जा रही हो उस समय आप का मुख उत्तर दिशा या फिर पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए। शास्त्रों में ऐसा बताया गया है कि बाल कटवाते समय जो व्यक्ति अपने मुख को उत्तर दिशा या पूर्व दिशा की ओर करता है, उसे बाल कटवाने का कोई दोष नहीं लगता है तथा उसकी आयु में वृद्धि होती है।

लेकिन अगर कोई व्यक्ति बाल कटवाते समय दक्षिण या पश्चिम दिशा की ओर मुख करके बैठता है तो वह उचित नहीं है, इससे उस व्यक्ति को दोष लगता है। ध्यान रहे जब कोई व्यक्ति खत्म हो जाता है तो उसके दसवें दिन जब बाल कटवाते हैं तो उस समय व्यक्ति का मुख दक्षिण की ओर होता है। इसलिए दक्षिण और पश्चिम की दिशा की ओर मुख कराकर कभी भी बाल नहीं कटवाना चाहिए। ऐसी दुकानों में ही जाइए जहां पर बाल कटवाने के लिए जब बैठे तो मुख उत्तर की ओर हो या फिर पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए।

बाल कटवाने के तुरंत बाद ही स्नान जरूर करना चाहिए, जो व्यक्ति बाल कटवाने के बाद स्नान नहीं करते हैं उनको दोष लगता है और इस दोष की वजह से उनका मान सम्मान में बाधाएं आती हैं। इस लिए बालल कटवाने के बाद स्नान जरूर करना चाहिए।

तेल लगाते समय यह गलती ना करें

अक्सर लोग जब नहा कर अपने बालों में तेल लगाते हैं तो तुरंत बाल में तेल लगाते हुए उस तेल को शरीर में भी लगा लेते हैं। जब भी अपने शरीर में तेल लगाने के लिए बैठे तो सबसे पहले पूरे शरीर में तेल लगा ले और इसके बाद अंत में सर पर तेल लगाएं। ऐसा माना जाता है कि सर पर तेल लगाने के बाद उस हाथ को शरीर के किसी और भाग में नहीं छूआना चाहिए। ऐसा करने से बुद्धि और आयु दोनों ही क्षीण होते हैं।

See also  सपने में मिठाई देखना | sapne me mithai dekhna

किस दिन बाल कटवाने से धन की प्राप्ति होती है

बुधवार माता लक्ष्मी को समर्पित दिन है, इसलिए अगर कोई व्यक्ति आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए कार्य कर रहा है और वह चाहता है कि उसकी आर्थिक स्थिति मजबूत हो तो उसे बाल कटवाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए। बाल कटवाने के लिए सबसे उत्तम दिन बुधवार है और जो व्यक्ति बुधवार के दिन बाल कटवाता है, उसे धन और मन-सम्मान मे लाभ होता हैं।ऐसे लोगो पर माता लक्ष्मी प्रसन्न रहती हैं। जिस पर माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं उस पर कभी भी आर्थिक विपत्ति नहीं आती है। इसीलिए आर्थिक विपत्ति से बचना है और आर्थिक स्थिति को सुधारना है तो बाल कटवाने के लिए सप्ताह में 2 दिन तय किए गए हैं। वह दो दिन बुधवार और शुक्रवार हैं। इसीलिए बुधवार को ही बाल दाढ़ी-मूछ तथा नाखून कटवाने चाहिए।

Keyword – किस दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए, किस दिन बाल कटवाना चाहिए, बुधवार को बाल कटवाने चाहिए, रविवार को बाल कटवाना चाहिए कि नहीं, baal kis din katna chahiye, baal kis din katne chahiye, kis din baal nahi katne chahiye, baal kis din karna chahie, शनिवार को बाल कटवाना चाहिए

नोट/डिस्क्लेमर– यह लेख पुरानी मान्यता और स्वप्न दोष की किताबों और तरह-तरह की वैबसाइट से लिया गया हैं, इस लिए इस पोस्ट की सत्यता की पुष्टि meribaate.in नहीं करता हैं। यह सिर्फ सामान्य ज्ञान की दृष्टि से लिखा गया हैं। हमारी वैबसाइट और लेखक इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *