मंगलवार के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं

मंगलवार का व्रत बहुत ही अच्छा माना गया है। इस व्रत से व्यक्ति को बाल साहस सम्मान और पुरुषार्थ प्राप्त होता है। मंगलवार के व्रत से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं और जीवन में आ रही बाधाओं को दूर करते हैं। लेकिन बहुत से लोग जो मंगलवार का व्रत करते हैं उन्हें यह जानकारी नहीं होती है कि मंगलवार के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं तो ऐसे उपास को को यह तय कर लेना चाहिए कि अगर आप मंगलवार का व्रत कर रहे हैं तो आप नमक को ग्रहण नहीं करेंगे सरल शब्दों में मंगलवार के व्रत में नमक नहीं खाना चाहिए।

मंगलवार को व्रत क्यों करना चाहिए

जैसा कि हम सभी को पता है कि मंगलवार भगवान हनुमान जी का दिन है और यह दिन हनुमान जी की पूजा के लिए आरक्षित है। भगवान हनुमान जी शक्ति, साहस, मान सम्मान और समस्याओं एवं परेशानियों के नाशक हैं। इसलिए जो व्यक्ति अपने जीवन आने वाले संकटों को दूर करना चाहता है तथा अपनी इच्छाओं को पूर्ण करना चाहता है ऐसे लोगों को मंगलवार के दिन व्रत रहकर हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। इसके अलावा जिन लोगों की प्रवृत्ति हिंसक और क्रोधी होती है ऐसे लोग अगर शांति प्राप्त करना चाहते हैं तो उन्हें मंगलवार का व्रत करना चाहिए और हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए।

सभी प्रकार के कष्टों को दूर करने वाला यह व्रत होता है। हनुमान जी कलयुग के राजा हैं और इसलिए हमारी समस्याएं सबसे पहले अगर कोई सुनेगा तो वह भगवान हनुमान जी ही हैं इसलिए कलयुग में हनुमान जी की विशेष पूजा एवं भक्ति हो रही है। आप देखेंगे कि हर मंगलवार और शनिवार को मंदिरों में बहुत ज्यादा भीड़ होती है। इसलिए मंगलवार का व्रत करना बड़ा ही लाभकारी होता है और जल्दी ही परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

See also  2023 मे होलाष्टक कब हैं? | होलाष्टक क्यो अशुभ हैं? | holashtak 2023

मंगलवार का व्रत किस तरीके से करना चाहिए

मंगलवार के दिन सुबह उठने के बाद स्नान आदि से मुक्त होकर पहले घर में हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए उन्हें लाल रंग का नवीन वस्त्र अर्पित करना चाहिए। फल फूल अर्पित करने के बाद बजरंग बाण और हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए इसके बाद अपने शहर या गांव के हनुमान मंदिर में जाकर वहां पर हनुमान जी को सिंदूर चढ़ानी चाहिए। इसके बाद अगर समय हो तो सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए अगर सुबह के समय सुंदरकांड करने का समय ना मिल रहा हो तो शाम के समय सुंदरकांड का पाठ अवश्य करना चाहिए। व्रत करने के पहले यह संकल्प लेना चाहिए कि यह व्रत कितने मंगलवार करना है। हालाकी 21 मंगलवार व्रत करना लाभकारी होता है। जो मंगलवार का व्रत करना चाहते हैं वह व्रत करने के पहले ही भगवान के सामने कितने मंगलवार तक व्रत करना है इसका संकल्प जरूर ले ले। मंगलवार के दिन जो लोग व्रत रहते हैं संभव हो तो उन्हें लाल वस्त्र ही धारण करना चाहिए तथा घर के कोने कोने में गंगाजल से छिड़काव करना चाहिए। हनुमान जी को देसी घी का दीपक पसंद है तो उन्हें देसी घी का दीपक जलाएं। प्रसाद में चना और गुड़ चाहा ना बहुत ही अच्छा माना गया है।

क्या मंगलवार के व्रत में मूंगफली खा सकते हैं?

बहुत से लोगो को यह संका रहती हैं की क्या मंगलवार के दिन मूँगफली खा सकते हैं या नहीं, तो जिन लोगो को यह शंका हैं तो उन्हे अपनी इन शंकाओ को त्याग देना चाहिए। क्योंकि मंगलवार व्रत के दिन व्रत पारण के समय मूँगफली खा सकता हैं। मूँगफली मे प्रचुर मात्र मे प्रोटीन और फैट्स होता हैं, इसलिए व्रत मे मूँगफली को खाने से शरीर मे कमजोरी महसूस नहीं होती हैं। इस लिए सभी प्रकार के व्रत मे मूँगफली को खाया जाता हैं।

See also  जन्म के माह के आधार पर जानिए अपना और अपनों का भविष्य

क्या लड़कियां मंगलवार का व्रत कर सकती है?

बहुत से महिलाओं एवं लड़कियों को यह शंका रहती है की क्या वह भी मंगलवार का व्रत रह सकती है या नहीं। लेकिन पुराणों में बताया गया है कि अगर कोई महिला बजरंगबली की पूजा करना चाहती है और उनका व्रत करना चाहती है तो वह ऐसा कर सकते हैं। हिंदू शास्त्र में कहीं भी ऐसा नहीं लिखा है कि महिलाओं एवं लड़कियों को भगवान बजरंगबली की पूजा नहीं करनी चाहिए और व्रत नहीं करना चाहिए। केवल एक चीज की मनाही है और वह यह है कि महिलाएं हनुमान जी को नहीं छुएंगी और उन्हें लाल वस्त्र एवं चोला अपने हाथों से नहीं जाएंगे। क्योंकि हनुमानजी आजीवन ब्रह्मचारी व्रत का पालन कर रहे हैं।

मंगलवार के दिन क्या नहीं खाना चाहिए

मंगलवार का व्रत रखने वाले साधकों को व्रत के दिन कुछ नियमों का पालन करते हुए कुछ निश्चित सामग्री के सेवन से बचना चाहिए जिसे नीचे बताया जा रहा है।

  • मंगलवार के दिन खिचड़ी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि मंगलवार ऊर्जा से संबंधित होता है और खिचड़ी उर्जा का विपरीत माना गया है इसलिए मंगलवार के दिन खिचड़ी का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगलवार के दिन नमक को ग्रहण नहीं करना चाहिए। जो लोग मंगलवार के दिन व्रत करते हैं उन्हें नमक से परहेज करना चाहिए।
  • जो लोग मंगलवार का व्रत करते हैं संध्या के समय जब अपना व्रत करें तो उन्हें मीठे पकवानों की सहायता से ही व्रत होना चाहिए।
  • मंगलवार के दिन दूध भी फल और मिठाइयों का सेवन किया जा सकता है।

मंगलवार के व्रत में भोग में क्या लगाना चाहिए

शाम के समय जब हनुमान जी की पूजा पूर्ण हो रही हो और उन्हें भूख चढ़ाने का समय आए तो हनुमान जी को मोतीचूर का लड्डू या फिर बेसन का लड्डू भोग में चढ़ाना चाहिए। इसके अलावा हनुमान जी को मीठे खीर का भोग भी लगाया जा सकता है। जो व्यक्ति मंगलवार का व्रत करता है उसी मंगलवार के दिन व्रत पारण करते समय मीठा भोजन ही करना चाहिए।

See also  यह पांच पेड़ लगाने से नौकरी या प्रमोशन मिलने की संभावना बढ़ सकती है

मंगल की महादशा होती है दूर

जो लोग मंगलवार के दिन व्रत करते हैं उन लोगों को कई प्रकार से इस व्रत के लाभ मिलते हैं जैसे भूत प्रेत और काली शक्तियों से बचाव होता है इसके अलावा जिन लोगों का मंगल कुंडली के अनुसार कमजोर होता है ऐसे लोग कुछ भी कार्य करते हैं तो उन्हें कोई फल नहीं मिलता लेकिन अगर वह मंगलवार का व्रत करने लगे हैं तो उनके मंगल मजबूत हो जाता है और कार्य के अनुसार शुभ फल मिलने लगता है। जिन लोगों के ऊपर मंगल की महादशा हो ऐसे लोग भी अगर मंगलवार के दिन व्रत करते हैं तो उनकी महादशा दूर हो जाती है और उन्हें अपने जीवन में लाभ मिलता है।

 Keyword – मंगलवार के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं, मंगलवार के व्रत में सेंधा नमक खाना चाहिए या नहीं, व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं, मंगलवार व्रत में नमक खाना चाहिए, मंगलवार व्रत में सेंधा नमक खाना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *