somvati amavasya, somvati amavasya kab hai, somvati amavasya kab ki hai, somvati amavasya february 2023, somvati amavasya 2023 date, सोमवती अमावस्या, सोमवती अमावस्या कब है, सोमवती अमावस्या के टोटके, सोमवती अमावस्या का महत्व, सोमवती अमावस्या 2023, सोमवती अमावस्या के अचूक उपाय, आज सोमवती अमावस्या है, सोमवती अमावस्या इन 2023

2023 मे सोमवती अमावस्या कब है | 2023 me somvati amavasya kab hai

somvati amavasya kab hai : सोमवती अमावस्या फरवरी 2003 को सोमवार के दिन है। अगर किसी महीने में अमावस्या सोमवार को हो तो उसे सोमवती अमावस्या कहते हैं। 2023 में सोमवती अमावस्या फागुन के महीने में पढ़ रही है और अगर अंग्रेजी महीने के हिसाब से बात करें तो 2023 में फरवरी के महीने में 20 फरवरी 2023 को सोमवती अमावस्या पड़ेगी।

सोमवती अमावस्या का महत्व

हिंदू धर्म में अमावस्या का खास स्थान है खासकर अगर अमावस्या सोमवार या फिर शनिवार को पड़ी तो इसे बहुत ही अच्छा माना जाता है। 6 फरवरी 2023 से हिंदी पंचांग के अनुसार फागुन का महीना प्रारंभ हो जाएगा और 2023 में फागुन के महीने में ही सोमवती अमावस्या पड़ रही है। ऐसा माना जाता है कि सोमवती अमावस्या के दिन भगवान शिव का रुद्राभिषेक करने से जीवन की सारी कठिनाई और दुख दूर हो जाते हैं। सोमवती अमावस्या के दिन किसी तीर्थ स्थान में स्नान करने के बाद दान दक्षिणा करने और पूर्वजों को तर्पण करने से पितरों को सुख मिलता है और पितरों का आशीर्वाद मिलता है।

जनवरी 2023 में सोमवती अमावस्या कब की है | somvati amavasya kab hai

फरवरी 2023 में सोमवती अमावस्या 20 फरवरी 2023 को दिन सोमवार के दिन है। सोमवती अमावस्या 19 फरवरी की शाम 4:18 से प्रारंभ होगी तथा 20 फरवरी की दोपहर 12:35 तक सोमवती अमावस्या रहेगी। जो महिलाएं सोमवती अमावस्या के दिन फेरी लगाती है वह 20 फरवरी को दोपहर 12:35 के पहले पूजा पाठ और परिक्रमा लगा ले।

See also  घर मे रखे पिरामिड और अपने दुर्भाग्य को बदले सौभाग्य मे

सोमवती अमावस्या 20 फरवरी का मुहूर्त

  • सूर्य उदय का समय -> सुबह 6:54
    सूर्यास्त का समय ->  शाम 6: 15
  • अमावस्या समाप्त -> दोपहर 12:35 तक, 20 फरवरी को
    राहुकाल का समय -> सुबह 8:19 से लेकर सुबह 9:44 तक

सोमवती अमावस्या का महत्त्व | somvati amavasya ka mahatva

सोमवती अमावस्या के दिन हिंदू महिलाएं भगवान शंकर माता पार्वती और पीपल वृक्ष की पूजा करते हैं। महिलाएं इस व्रत को अपने पति की लंबी आयु के लिए तथा सदा सौभाग्यवती बने रहने के लिए इस व्रत को करती हैं। सोमवती अमावस्या की पूजा पीपल के पेड़ के नीचे की जाती है। ऐसा माना जाता है सोमवती अमावस्या के दिन भगवान शंकर का दूध से रुद्राभिषेक करने पर व्यक्ति सभी प्रकार के कष्टों से मुक्ति पाता है।

सोमवती अमावस्या के दिन क्या करना चाहिए

  • सोमवती अमावस्या के दिन भगवान शंकर और माता पार्वती का रुद्राभिषेक करना चाहिए इससे सभी प्रकार के रोग कष्ट और दुर्भाग्य दूर होते हैं
  • सोमवती अमावस्या के दिन पूर्वजों का तर्पण करने से पूर्वजों का आशीर्वाद मिलता है जिसकी वजह से पित्र दोष जैसे दोष दूर हो जाते हैं।
  • सोमवती अमावस्या के दिन वृक्षारोपण करना अत्यंत शुभ माना गया है इससे वंश वृद्धि होती है। अगर कोई व्यक्ति सोमवती अमावस्या के दिन वृक्ष लगाना चाहता है तो उसे पीपल बरगद आम नीम के पेड़ लगाने चाहिए।
  • सोमवती अमावस्या के दिन भगवान शिव की पूजा से व्यक्ति का चंद्रमा मजबूत होगा।
  • सोमवती अमावस्या के दिन शंकर भगवान और माता पार्वती जी की पूजा करने से वैवाहिक सुख शांति मिलती है और वैवाहिक जीवन अच्छा चलता है।
  • सोमवती अमावस्या के दिन माता लक्ष्मी की पूजा करने से सभी प्रकार के दरिद्रता और अशांति का नाश होता है।
See also  मगरमच्छ किस देवी या देवता का वाहन है?

सोमवती अमावस्या के दिन के टोटके

  • सोमवती अमावस्या के दिन रोटी मे सारसो का तेल लगा कर कुत्तो को खिलना चाहिए, इससे करियर मे आने वाली बाधा दूर होती हैं।
  • नमक को चन्द्र का प्रतिनिधि माना गया हैं, इस लिए सोमवती अमावस्या के दिन घर मे नमक मिले हुये पानी से पोछा लगाना चाहिए।
  • अगर पति-पत्नी मे लड़ाई झगड़ा होता रहता हैं तो नमक को एक काँच की कटोरी मे रख कर उसे बेडरूम मे रख दे, नमक नकारात्मक ऊर्जा को सोख लेता हैं।

Keyword – somvati amavasya, somvati amavasya kab hai, somvati amavasya kab ki hai, somvati amavasya february 2023, somvati amavasya 2023 date, सोमवती अमावस्या, सोमवती अमावस्या कब है, सोमवती अमावस्या के टोटके, सोमवती अमावस्या का महत्व, सोमवती अमावस्या 2023, सोमवती अमावस्या के अचूक उपाय, आज सोमवती अमावस्या है, सोमवती अमावस्या इन 2023

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *