amrood, amrud, अमरूद , बिही, जामफल, गुआवा

घर मे अमरूद लगाना शुभ या अशुभ, आइए जानते हैं? | Amrood ka Pedh Shubh ya Ashubh

अमरूद का फल बहुत ही गुणकारी और शरीर के पाचन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण फल है और इसीलिए आजकल बहुत से लोगों के घर में अमरूद का पेड़ लगा होता है। लेकिन बहुत कम लोग ही इस विषय पर चिंता करते हैं की अमरूद का पेड़ घर में लगाना चाहिए या नहीं लगाना चाहिए। सबसे पहले दोस्तों हम यह जान लेते हैं कि अमरूद के पेड़ मुख्य रूप से कहां से संबंधित हैं। दोस्तों अमरूद का पेड़ भारतीय फल नहीं है। इस पेड़ की उत्पत्ति वेस्टइंडीज नाम के कैरेबियाई देशों से मानी जाती है। लेकिन भारत में आने के बाद भारत के लोग इस फल को बहुत पसंद करते हैं और इसकी खेती भारत में बहुतायत मात्रा में की जाती है।

पाचन की दृष्टि से भी यह बहुत लाभकारी फल है, इसीलिए लोग इस फल को बड़े ही प्राथमिकता के साथ घर में लगाते हैं। यह बहुत ज्यादा फल देता है। इसलिए अगर घर में एक पेड़ लगा हुआ है तो यह पर्याप्त फल दे देता है। लेकिन वास्तु शास्त्र के अनुसार पेड़ों को लगाने के लिए नियम दिशा बताए गए हैं। वास्तु शास्त्र में उनकी पहचान बताई गई है जिसके अनुसार हमें पता चल जाता है कि हमें किस प्रकार के पेड़ लगाने चाहिए तथा समय के साथ-साथ जिन पेड़ों के बारे में जानकारी नहीं होती है, उन पेड़ों के होने से घर में किस प्रकार के प्रभाव पड़ते हैं उन प्रभाव के अनुभव के आधार पर भी यह पता चल जाता है कि वह पेड़ घर में लगाना चाहिए कि नहीं लगाना चाहिए।

कुछ लोगों को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि पेड़ को घर में लगाने से सकारात्मक ऊर्जा या नकारात्मक ऊर्जा का उत्सर्जन होगा कि नहीं होगा क्योंकि वह इन सब चीजों पर विश्वास नहीं करते। उन पर एक आधुनिक वाद होने का भूत सवार होता है इसलिए वह भारतीय मतों पर विश्वास नहीं करते जबकि अंग्रेजों के बनाए हुए ऊल-जलूल अंधविश्वास को भयानक रूप से लागू करते हैं।

आज इस आर्टिकल में हम लोग जानेंगे की घर में अमरूद का पेड़ लगाना चाहिए कि नहीं लगाना चाहिए। अमरूद के पेड़ से घर में शुभ या अशुभ किस प्रकार का माहौल निर्मित होता है इस विषय पर भी आज हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे।

घर के मुख्य द्वार में नहीं लगाना चाहिए अमरूद का पेड़

बहुत से लोग अमरूद के पेड़ को अपने घर के मुख्य द्वार के निकट लगा लेते हैं या फिर अमरुद के पेड़ को घर के अंदर वाले आंगन में लगा लेते हैं। कई लोगों का मानना है कि अमरूद के पेड़ को घर के मुख्य द्वार के निकट नहीं लगाना चाहिए तथा भूलकर भी अमरूद के पेड़ को घर के आंगन में नहीं लगा चाहिए। अगर घर में आप अमरुद लगाना चाहते हैं तो अमरूद लगाने के लिए सबसे उत्तम स्थान पूर्व दिशा या उत्तर दिशा माना गया है।

See also  सपने में चोरी करना | sapne me chor dekhna

अमरूद के आयुर्वेदिक लाभ

अमरूद वजन कम करने में लाभकारी है

बहुत से लोगों का आज के समय में असंतुलन जीवन जीने की वजह से लगातार वजन बढ़ता जा रहा है जिसकी वजह से उनको उठने, बैठने, चलने, फिरने में बहुत ही दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। एक बार वजन बढ़ जाता है तो उसे कम करना बहुत ही कठिन होता है और खूब पसीने बहाने पढ़ते हैं। बहुत से लोग तो ऑपरेशन करा कर अपने वजन को कम कराते हैं जो कि बहुत ही ज्यादा रिस्की होता है। ऐसे में अगर आप अमरूद का सेवन करें तो कोई भी व्यक्ति आसानी से अपने वजन को घटा सकता है। पके हुए अमरूद के छिलके का सेवन करने से बहुत तेजी से वजन कम होता है।

प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है अमरूद

आज के समय में पता नहीं कौन-कौन सी बीमारियां आसानी से किसी को भी पकड़ लेती हैं क्योंकि लापरवाही और आलस को जीवन की वजह से लोगों के रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती जा रही है। कोरोनावायरस के समय हम सब ने रोग प्रतिरोधक क्षमता के महत्व के बारे में अच्छे से जान लिया है। इसलिए अब लगभग सभी को पता है कि अगर किसी रोग को हराना है तो रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करना होगा और इस के लिए अमरूद एक कारगर फल है। अमरूद में विटामिन सी मिलता है जो कि शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को अत्यधिक रूप से मजबूत करने में काम करता है। इसलिए जिन लोगों को नींबू से एलर्जी है वह लोग नींबू की जगह अमरूद के फल का सेवन कर सकते हैं।

See also  सपने मे नहाना देखना | sapne me nahana dekhna

FAQ : घर में कौन सा पौधा लगाना चाहिए?

घर में तुलसी का पौधा जरूर लगाना चाहिए क्योंकि तुलसी के पौधे को माता लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। जिस घर में लोग तुलसी के पत्ते की बनी चाय पीते हैं वह लोग कभी बीमार नहीं पड़ते हैं। कोरोना काल में भी जिन लोगों ने तुलसी के पत्ते की बनी चाय पी थी उन लोगों को कोरोनावायरस प्रभावित नहीं कर पाया।

FAQ : अमरूद का फल किस दिन घर में लगाना चाहिए?

अमरूद का फल अगर कोई व्यक्ति अपने घर में लगाना चाहता है तो अमरुद को लगाने का सबसे सही जगह घर का बगीचा है। अमरुद को सोमवार, बुधवार या फिर शुक्रवार के दिन घर में लगाया जा सकता है।

FAQ : अमरुद को किस दिशा में लगाना चाहिए?

घर में अमरूद को लगाने का सही दिशा उत्तर और पूर्व दिशा है अगर आपके घर में बगीचा है तो अमरूद को वहीं पर पूर्व दिशा और उत्तर दिशा की ओर लगा सकते हैं।

FAQ : किस दिशा में अमरूद के पेड़ को नहीं लगाना चाहिए?

अमरूद को भूल कर भी दक्षिण दिशा और पश्चिम दिशा में नहीं लगाना चाहिए। अमरुद को लगाने का सही दिशा पूर्व दिशा या फिर उत्तर दिशा हैं।

FAQ : अमरूद का फल किस काम आता है?

जो व्यक्ति अमरूद का सेवन करता है उसकी पाचन क्षमता मजबूत होती है तथा अमरुद बहुत ही गुणकारी होता है इसीलिए वह कई प्रकार के रोगों को रोकने का काम करता है।

FAQ : अमरुद को किन नामों से जाना जाता है?

अमरूद को हिंदी में अमरुद कहते हैं, इसके अलावा अमरुद को जामफल भी कहा जाता है ऐसा माना जाता है कि जामवंत को अमरूद का फल बहुत पसंद था इसीलिए इसे जामफल भी कहते हैं। उत्तर प्रदेश में अमरुद को बीही के नाम से भी जाना जाता है। जबकि अंग्रेजी में अमरुद को गुआवा कहा जाता है।

See also  सपने में पानी देखना | sapne me pani dekhna

FAQ : अमरूद किस देश का वास्तविक फल है

भारत के इतिहास को इतिहासकारो ने तुक्के के आधार पर लिखा हैं किसी की सुनी सुनाई बातों को उन्होंने लिख दिया और उनके पास अपना कोई तर्क नहीं है कि वह तथ्यो की तर्क के आधार पर पुष्टि कर ले। सी तरीके से सुनी सुनाई बातों में भारत के कुछ इतिहासकारों ने बताया है कि अमरुद 17वीं शताब्दी में वेस्टइंडीज से भारत लाया गया था हालांकि महाभारत में जामवंत का प्रिय फल अमरुद बताया गया है।

FAQ : अमरूद को इंग्लिश मे क्या बोलते हैं?

अमरूद को इंग्लिश मे गुआवा बोलते हैं। जबकि अमरूद का वैज्ञानिक नाम पिसीदिउम गुआजावा (Psidium guajava) हैं।

FAQ : अमरूद का सपना देखने से क्या होता है?

सपने मे अमरूद (sapne me amrud) को तोड़ते देखने का मतलब हैं की जल्दी ही आपको कुछ अच्छी खबर सुनने को मिलेगी, अगर सपने मे कोई आपका अमरूद लेकर भाग रहा हैं तो इसका मतलब हैं की आपके किए गए किसी कार्य का श्रेय कोई और ले रहा हैं। अगर सपने कोई अमरूद का पेढ चढ़ रहा हैं तो इसका मतलब हैं की आप कोई ऐसा कार्य करने वाले हैं, जिसमे आपको असफलता मिल सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *