क्या आपको पता हैं की tota kya khata hai, parrot food list in hindi ? यदि आपको पक्षियो से प्रेम हैं और आप तोता पाल रहे हैं या फिर भविष्य मे तोता पालने के बारे मे सोच रहे हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित हो सकता हैं। तोता बहुत ही खूब सूरत पक्षी हैं। और भारत मे ज़्यादातर लोग तोते को पालना पसंद करते हैं। जैसे जैसे लोग संचार तकनीकों से जुडते जा रहे हैं, यह दुनिया छोटी होती जा रही हैं। और पूरे दुनिया मे किसने प्रकार के तोते पाये जाते हैं, लोग इंटरनेट मे खोज कर उन्हे मँगवा कर पाल रहे हैं। मेरी मौसी के कोई परिचित ब्राज़ील मे रहते थे, ब्राज़ील मे नीले रंग का तोता पाया जाता हैं, जब यह बात मेरी मौसी को पता चला तो उन्होने ब्राज़ील से नीले रंग का तोता मँगवा कर पाला।

तोता अगर आप भी पालना चाहते हैं तो सबसे पहले इस बात को पक्का कर ले की तोते हमेशा जोड़े मे होने चाहिए, यानि की नर-मादा तोते को पाले। इससे आपको तोते के बच्चे भी मिलेंगे, जिनहे आप अपने रिश्तेदारों मे बाँट सकते हैं, तथा तोतो की संख्या भी बढ़ेगी। आज के समय मे हम इंसानो की वजह से पक्षियो के प्रकृतिक निवास पर बहुत आघात पाहुचा हैं जिसकी वजह से कई पक्षी अब संकटग्रस्त हो गए हैं तथा कई पक्षी तो अब लुप्त हो चुके हैं। दूसरी बात जो हमेशा ध्यान रखनी चाहिए वो ये हैं की तोता अगर आप पालना चाहते हैं  तो उन्हे सुरक्षा के लिए व्यापक और अच्छी व्यवस्था करे। अक्सर हमने देखा हैं की सौख पूरा करने के चक्कर मे लोग तोता तो पाल लेते हैं पर उसकी सुरक्षा की व्यवस्था नहीं कर पाते जिसकी वजह से तोते को अपने प्राण से हाथ गवाने पड़ जाते हैं। घर मे तोते का सबसे बड़ा दुश्मन बिल्ली होती हैं। और अगर तोता बचपन से ही पालतू हैं तो फिर घर के आसपास रहने वाले बड़े पक्षी भी तोते के लिए घटक हो सकते हैं। इस लिए तोता पालने की इच्छा है तो सबसे पहले मजबूत और दो तोता के लिए जगह वाला पिंजड़ा जरूर बनवाए। और उसी मे तोते को रखे तथा समय समय मे पिंजड़े को साफ करते रहे।

एक बार मेरे गाँव मे एक मित्र जी ने तोता पाला था, उन्होने पिजड़े की जगह तोते को बांस के बने एक टुकनी मे रखा था, और एक दिन लापरवाही के चलते तोता टुकनी से बाहर आ गया और बिल्ली ने उसे अपना शिकार बना लिया।

See also  गधे, खच्चर, टट्टू और घोड़े मे क्या अंतर हैं?

अक्सर लोग जब तोता पालते हैं तो तोता वयस्क नहीं होता हैं बल्कि तोते के बच्चे को ही वो घर ले आते हैं। यह बेबी तोता आम खाना नहीं खा सकते हैं, और छोटे होने की वजह से यह चोच के माध्यम से चुग कर भी भोजन नहीं कर सकते हैं। इसलिए ऐसी स्थिति मे छोटे तोते के बच्चे को अपने हाथो से उबले चावल को उनके चोंच मे डालना होगा जैसे तोते की माँ खाने को अपने बच्चो के चोंच मे डालती हैं।

chota tota kya khata hai तोते के बच्चे को कैसे खिलाएं

‌‌‌अगर आप कोई तोते के बच्चे को पालने वाले हैं  तो आपको ऊपर लिखे पैराग्राफ को पढ़ कर समझ आ गया होगा की  तोते के छोटे बच्चे अपने से खाना नहीं खा पते हैं इस लिए आपको अपने उँगलियो को चोच की तरह बना कर खाने को तोते के बच्चे के चोंच मे डालना होगा।

अब अगर आप तोते के बच्चे को पाल रहे हैं तो सवाल यह उठता हैं की उन्हे खाने मे क्या खिलाया जाए?

तो यही पार ध्यान दे की अगर तोते का छोटा बच्चा आपने पाला हुआ हैं तो आप उबले हुये चावल को अपने हाथो से एक एक दाना पकड़ कर उनके चोंच मे डाल सकते हैं, इसके अलावा पानी मे अच्छे से फुला हो पोहा भी आप एक एक पोहा की फली उँगलियो से पकड़ कर उनके चोंच मे डाल सकते हैं।

इसके अलावा आप गेंहू के आटे को पानी मे मिला कर, मक्के के आटे को पानी मे मिला कर चम्मच की मदद से भी तोते के छोटे से बच्चे को खाना खिला सकते हैं।

ध्यान रहे तोते के बच्चे को पूरे दिन मे सिर्फ दो बार ही भोजन देना हैं।

tota kya khata hai parrot food list in hindi  तोतें को खिलाने के लिए फल

दोस्तो अगर तोता बड़ा हैं यानि की वह स्वयं खाना खा सकता हैं, तब आप तोते को खाने के लिए फल भी दे सकते हैं। आम तौर पर तोते हर वो फल खा सकता हैं जो हम लोग खा सकते हैं।  लेकिन फिर भी हमे तोते के खाने मे सावधानी बरतनी होती हैं, इस लिए इस लेख के माध्यम से हम आपको बताने जा रहे हैं की कौनसे फल खाने के लिए तोते को दे सकते हैं।

See also  1998 के चुनाव में रीवा के राजा पुष्पराज सिंह जी बनाम राजेंद्र शुक्ल जी

तोते को केला

तोतों को केला बहुत ही पसंद है अगर आप तोता पालते हैं तो आप उन्हें भोजन में केला भी दे सकते हैं। केला एक मीठा फल है जिसमें कई पोषक तत्व होते हैं इसलिए आप कच्चा केला या फिर पका केला तोता को खिला सकते हैं। हमारी एक बुआ है जोकि पश्चिम बंगाल में रहती हैं उनके पास भी दो तोते हैं वह तोते करण तोते कहलाते हैं इनके गले में लाल और काले रंग का एक अंक बनता है। उन्होंने अपने दोस्तों को ज्यादातर अकेला ही भोजन के रूप में खिलाया है।

उन्होंने अपने तोते को कभी कच्चा केला तो कभी पका केला और कई बार कच्चे केले को उबालकर भी अपने तोते को खिलाया है। केला एक ऐसा फल है जो भारत में किसी भी स्थान पर मिल जाता है तथा यह बारहमासी फल है यानी कि यह फल साल के 12 महीने मिलते हैं। इसलिए अगर आप अपने घर में तोता पाले हुए हैं तो आप अपने तोते को खाने के रूप में अकेला भी दे सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे केले को छीलकर अपने तोते को खाने के लिए दें।

तोता को दिखाने में बरबटी

तोता को बरबटी खाना बहुत ही पसंद है अगर आप ने तोता पाला हुआ है और बरबटी का सीजन चल रहा है तो आप उन्हें भरती जरूर खिलाएं बरबटी पाते ही तोता बहुत प्रसन्न हो जाता है और प्रसन्नता से हो मस्ती में झूम कर चल चाहने लगता है। बरबटी को अंग्रेजी में बींस बोलते हैं जैसे ही तोते को बरबटी खाने के लिए मिलती है वह उसे अपने पंजों से पकड़ कर सोच से उनके दाने निकाल निकाल कर मजे के साथ खाता है अगर तोतों के खाने की सूची बनाई जाए तो उसमें बरबटी विशेष स्थान रखती है जिस प्रकार शाकाहारी लोग सब्जी में पनीर को ज्यादा महत्व देते हैं उसी तरीके से तोते अपने खाने में बरबटी को बहुत ज्यादा पसंद करते हैं एक बार हमने तोते की पसंद को जानने के लिए तोते के सामने बरबटी और कुदुरु को रखा लेकिन तोता बरबटी को पहले चुना और फिर बहुत मजे से उसे खाया। तो दोस्तों आप समझ गए होंगे कि बरबटी तोते के लिए बहुत ही पसंदीदा खाद्य है तो अगर आप तोते को पाले हुए हैं तो आप उन्हें बरबटी जरूर खिलाएं बरबटी के साथ समस्या यह है कि यह 12 महीने नहीं मिलती है इनका सीजन ठंड के मौसम पर होता है। हालांकि भारत में आप कई विदेशी बींस भी मिल जाती हैं लेकिन वह महंगी होती हैं। तो आप अपने आर्थिक दशा को देखते हुए तोते को बरबटी उपलब्ध करा सकते हैं। हालांकि भारत के तोते बरबटी खाना बरबटी के सीजन में ही पसंद करते हैं।

See also  Worm Snake यानि तेलिया साँप - ये दुनिया का सबसे छोटा साँप हैं

तोते को खाने मे दे कुंदरु की सब्जी

कुंदरू एक गुणकारी सब्जी है इसे बिंबी फल के नाम से भी जाना जाता है कुदुरु बहुत ही पौष्टिक होता है। यह एक उष्णकटिबंधीय लता होती है कुंदूरु कच्चे रहने पर हरे और सफेद धारियों से उपयुक्त होते हैं। इनका आकार चिकना और अंडाकार होता है। कुंदूरु में काफी मात्रा में फाइबर कैल्शियम और विटामिन बी1 पाया जाता है।

कुंदूरु तोते को बहुत पसंद है कुंदूरु में फाइबर होने की वजह से यह पाचन तंत्र के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है इसलिए बरबटी के बाद अगर कुंदरू को कोई सब्जी बहुत पसंद है तो वह कुदुरु है। जिस प्रकार भारतीय लोगों के लिए गाजर का हलवा होता है ठीक उसी तरीके से तोते के लिए कुंदूरु का फल होता है। अगर आपने तोता पाला हुआ है तो आप अपने तोते को कुंदूरु खिला सकते हैं कुंदूरु कच्चा और पका दोनों रूप में होता है और दोनों ही तोते को बहुत पसंद है मेरे घर में एक नीम का पेड़ था उस पेड़ में कुंदूरु कि लता फैली हुई थी और जब कुदुरु फलते थे तो ना जाने कहां-कहां से तोते आकर उनको दुरु को बड़े चाव के साथ खाया करते थे इसके अलावा कुंदरू पढ़कर जब लाल हो जाया करते थे तब भी तोते उस नीम के पेड़ पर बैठकर उन पके हुए कुंदरू को खाया करते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *