नींबू का परिचय

नीबू विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत हैं, और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए बहुत ही अच्छा साधन हैं, इसके अलावा स्कर्बी जैसी बीमारी मे भी नीबू बहुत ही कारगर होता हैं। नीबू का इस्तेमाल भारत मे लगभग हर घर मे होता हैं, लोग सुबह नींबू को गुंगुने पानी मे मिला कर पीते हैं, जिससे शरीर के सारे विषैले तत्व बाहर निकाल जाते हैं, बहुत से लोग नींबू को सौन्दर्य प्रसाधन के रूप मे इस्तेमाल करते हैं, और नीबू के रह को कई तरह के सौन्दर्य लेप मे मिलते हैं। इसके अलावा नींबू का आचार भी भारत मे बहुत ज्यादा पसंद किया जाता हैं वही गर्मी मे लोग शरीर को गर्मी से बचाने के लिए नींबू का शर्बत पीते हैं, रात को खाने को पचाने के लिए नींबू का सिकंजी भी बहुत ज्यादा इस्तेमाल होता हैं। नीबू के इतने सारे उपयोग और इस्तेमाल की वजह से बहुत से लोग नींबू का पेड़ घर मे भी लगाना चाहते हैं। लेकिन गाँव मे यह मान्यता हैं की घर मे नींबू नहीं लगाना चाहिए। जिसके वजह से अक्सर लोग घर मे नींबू लगाने से बचते आए हैं। आज इस लेख के माध्यम से हम जानेंगे की घर मे नींबू लगाना चाहिए या फिर नहीं लगाना चाहिए।

वस्तु शास्त्र नींबू के बारे मे क्या कहता हैं?

वास्तुशास्त्र कहता हैं की घर मे काँटेदार वृक्ष या फिर पौधा नहीं लगाना चाहिए, लेकिन लोगो ने इस बात को पढ़ लिया और वास्तुशास्त्र की दूसरी नसीहत को भूल गए, अगर वृक्ष या फिर पौधा फलदार हैं, तो भले ही वह काँटेदार हो, उसे घर मे लगाया जा सकता हैं। इस नियम के तहत ही घर मे बेल का पेड़ लगाया जाता हैं। ठीक उसी तरह से नींबू का पेड़ भले ही कांटा दार होता हैं लेकिन वह फल देता हैं, इस लिए उसे घर मे लगाया जा सकता हैं, दूसरी बात जिन पेड़ो को प्रतिबंधित किया गया हैं, उन्हे घर के आँगन मे लगाने से माना किया हैं, लेकिन घर के बाहर पड़ी जमीन मे आप उन पेड़ और पौधो को लगा सकते हैं। गाँव मे दो अगन होते हैं, एक घर के अंदर और दूसरा घर के बाहर। घर के अंदर वाले अगन मे तुलसी का पौधा या फिर फूल लगाए जा सकते हैं लेकिन, अमरूद, नींबू जैसे फलो को वहाँ लगाने की मनाही हैं। लेकिन जिन लोगो को नींबू घर मे लगाना चाहते हैं, तो वो लोग अपने घर के बाहर खाली जगह मे नींबू का पेड़ लगा सकते हैं। वास्तुशात्र वस्तु दोष का निवारण भी देता हैं, और कहता हैं की अगर कोई पेड़ घर मे ऐसी जगह लग गया हैं, जहां पर उसे नहीं होना चाहिए था, तो उस पेड़ के पास तुलसी का पौधा रख देने से उस पेड़ का दोष नियंत्रित हो जाता हैं।

See also  क्या वेस्ट इंडीज देश हैं? और कहाँ पर वेस्ट इंडीज स्थित हैं?

नींबू कांटेवाला पेड़ हैं, क्या उसे घर मे लगाया जा सकता हैं?

बिलकुल नींबू को घर मे लगाया जा सकता हैं, क्योंकि वास्तुशात्र कहता हैं की जो पेड़ या पौधे फल देते हैं, जो खाये जा सकते हैं तो उन पौधो को या फिर पेड़ो को घर मे लगाया जा सकता हैं, उदाहरण के लिए बेल का पेड़, नींबू का पौधा आदि। घर मे सिर्फ उन पेड़ को नहीं लगाया जा सकता जो काँटेदार तो होते हैं लेकिन फल नहीं देते। उदाहरण- बाबुल का पेड़। बैर का पेड़ घर के बगीचे मे लगाया जा सकता हैं, लेकिन उसकी परछाई घर मे नहीं पड़नी चाहिए। बैर भी एक काँटेदार पेड़ हैं लेकिन उसे भी घर मे लगाया जा सकता हैं, लेकिन उसका संबंध भूत-प्रेत से जोड़ कर देखा जाता हैं, इसलिए उसे लगाने की शर्त यह हैं की उसकी परछाई घर मे नहीं पड़नी चाहिए।

घर मे नींबू का पेड़ लगाने से फायदे

घर मे नींबू का पेड़ लगाने के बहुत से फायदे हैं। अगर आपने कोरोना काल मे देखा होगा तो आपको पता होगा की कोरोना से लड़ने के लिए डॉक्टर लोगो को विटामिन सी की गोलियां खिला रहे थे, लेकिन नींबू मे तो प्रकृतिक रूप से विटामिन सी होता हैं वह भी भरपूर मात्र मे पाया जाता हैं। जिन लोगो के घर मे नींबू का पेड़ लगा होता हैं वह नींबू का सेवन करके शरीर मे विटामिन सी की कमी को दूर कर सकते हैं। विटामिन सी की वजह से शरीर मे रोग-प्रतिरोधक क्षमता का निर्माण होता हैं। इसके अलावा नींबू भूत और प्रेत और टोटको को काट देता हैं, जिस घर मे नींबू लगा होता हैं, उस घर मे टोटके का कोई असर नहीं होता हैं और भूत प्रेत दूर दूर तक उस घर के आसपास भी नहीं भटकते हैं।

See also  अटल पेंशन योजना क्या हैं और आइये जानते हैं आप कैसे ले सकते हैं फायदा

घर को बुरी नजर से बचाता हैं नींबू

अगर घर को बूरी नजर से बचना चाहते हैं तो नींबू यहाँ पर बहुत ही काम का फल हैं, नींबू के उपाय से घर को बुरी नजर से बचाया जा सकता हैं। पाँच हरी मिर्च को लेकर और एक नींबू के साथ सुई-धागे से सील कर घर के बाहर टांग देने से घर मे किसी की बुरी नजर नहीं लगती हैं। नींबू और हरी मिर्च को कैसे सीना हैं, इसके लिए नीचे फोट दिखाया गया हैं।

नींबू का पेड़ घर में लगाना चाहिए या नहीं, घर में नींबू का पेड़, नींबू का पेड़ लगाने का तरीका, घर में कौन सा पेड़ नहीं लगाना चाहिए, घर में अमरूद का पेड़ शुभ या अशुभ, घर में मिर्च का पेड़ शुभ या अशुभ, nimbu ka paudha ghar mein lagana chahie ya nahin, ghar mein kaun sa ped lagana chahie, ghar mein kele ka ped lagana chahie ya nahin, ghar mein kaun kaun sa ped lagana chahie, nimbu ka ped ghar me lagana chahiye ya nahi

नींबू बुरी नजर उतारे

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर किसी व्यक्ति को बुरी नजर लगी हुई हैं तो वह व्यक्ति नींबू का इस्तेमाल करके बुरी नजर को उतार सकता हैं। नींबू को लेकर नजर लगे हुये व्यक्ति के सिर से लेकर पैर तक नींबू को सात बार घूमा ले, इसके बाद उस नींबू के 4 टुकड़े करके उसे सुनसान जगह पर फेक दे। सुनसान जगह मे निमु को फेकने के बाद पलट कर बिलकुल भी नहीं देखना चाहिए।

व्यापार मे बढ़ोतरी के लिए नींबू का टोटका

अगर किसी व्यक्ति को व्यापार मे लाभ नहीं हो रहा है तो वो नींबू का टोटका एक बार इस्तेमाल करके देख सकते हैं। रविवार के दिन दोपहर के समय पाँच नींबू लेकर उसे व्यापार की जगह पर काट कर रख दे, नींबू के साथ एक मुट्ठी काली मिर्च और पीली सारसो को भी वही पर कटे हुये नींबू के पास रख दे। एक दिन रखने के बाद उन सभी चीजों को अगले दिन किसी सुनसान जगह पर रख सकते हैं।

बिगड़े काम को सुधारने के लिए

ज्योतिष के अनुसार अगर किसी व्यक्ति का बना हुआ काम बिगड़ जाता हैं, तो उस व्यक्ति को एक बार नींबू का टोटका जरूर अपनाना चाहिए। इसके लिए रविवार के दिन एक नींबू लेकर उसमे चार लौंग गाड़ दे, इसके बाद उसे हाथ मे लेकर 108 बार “ॐ श्री हनुमते नमः” मंत्र का जाप करके नींबू को अभिमंत्रित करना होगा। जिस काम मे आप जाए, उस समय इस नींबू को अपने साथ जरूर रखे, जैसे अगर इंटरव्यू देने जा रहे हैं तब इस नींबू को अपने साथ बैग मे या फिर पैंट की जेब मे रखे।

See also  आइसलैंड शादी नियम | Iceland me Shadi ke niyam kya hai

नींबू के आयुर्वेदिक लाभ

वजन कम करने मे नींबू मददगार

अगर कोई व्यक्ति अपने बढ़ते हुये वजन को लेकर चिंतित हैं, तो उस व्यक्ति को नींबू का इस्तेमाल करना चाहिए और बढ़ते हुये वजन को नियंत्रित करना चाहिए, नींबू मे मौजूद गुण मे फैट कम के आश्चर्य चकित करने वाली ताकत होती हैं। सुबह गुनगुने पानी मे नींबू के रस को डाल प्रतिदिन पीने से वजन नियंत्रित होता हैं।

स्किन के लिए भी नींबू

नींबू को रस को पानी मे मिलकर प्रतिदिन पीने से स्किन स्वस्थ्य होती हैं, और स्किन मे चमक आता हैं। नींबू का चाय पीने से स्किन पर आने वाले मुहासे और झुर्रिया को नियंत्रित करता हैं। उनके बढने की स्पीड को कम करता हैं।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण): ये खबर लोक मान्यताओं पर आधारित है। इस खबर में शामिल सूचना और तथ्यों की सटीकता, संपूर्णता के लिए अमर उजाला उत्तरदायी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *