logo of gitanjalididi.in

MERI BAATE

कुषाण कौन थे? और कुषाण वंश का संस्थापक कौन था?

कुषाण कौन थे कुषाणों की राष्ट्रीयता के बारे में इतिहासकारों में मतभेद हैं। उनके शारीरिक लक्षण, उनकी वेशभूषा, भाषा तथा उनके पूर्व इतिहास के आधार पर कई विद्वानों ने उन्हें तुर्की, ईरानी या तिब्बती कहा है। डी.सी. सरकार ने कुषाणों को मूची जाति की एक शाखा माना है। करीब 165 ई.पू. में हिंगनू जाति ने उन्हें अपने निवास स्थान से निकाल दिया था। नये स्थान की Read Full Article

वैम्पायर कहाँ रहते हैं

वैम्पायर कहाँ रहते हैं वैम्पायरों को अक्सर पुराने महलों, कब्रों और अन्य प्राचीन इमारतों में रहने के लिए कहा जाता है. वे अक्सर ऐसी जगहों पर रहते हैं जो अंधेरी और सुनसान हों, ताकि उन्हें मनुष्यों द्वारा आसानी से नहीं देखा जा सके. वैम्पायरों को अक्सर चांदी और क्रॉस से नफरत करने के लिए भी कहा जाता है, इसलिए वे अक्सर ऐसी जगहों पर नहीं रहते Read Full Article

पूजा नाम की लड़कियां कैसी होती है

पूजा नाम की लड़कियां कैसी होती है पूजा एक बहुत ही सुंदर और प्यारा नाम है. यह एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है "पूजा" या "आराधना". पूजा नाम की लड़कियां आमतौर पर बहुत ही दयालु, करुणामय और मददगार होती हैं. वे दूसरों की मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहती हैं और वे हमेशा दूसरों के बारे में अच्छा सोचती हैं. पूजा नाम की लड़कियां Read Full Article

संविधान सभा की अंतिम बैठक कब हुई

संविधान सभा की अंतिम बैठक कब हुई भारत की संविधान सभा की अंतिम बैठक 24 जनवरी, 1950 को हुई थी. इस बैठक में भारत के संविधान को अपनाया गया था और डॉ. राजेंद्र प्रसाद को भारत का पहला राष्ट्रपति चुना गया था. इस बैठक में संविधान सभा ने भारत के संविधान को लागू करने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया था. इस प्रस्ताव में भारत को Read Full Article

रामायण : अंगद और अक्षय कुमार की रोचक कहानी | Angad aur Akshay kumar ki kahani

अकसर कई लोगो को यह प्रश्न परेशान करता हैं की जब अंगद भी समुद्र को लांघ सकते थे तो क्यो हनुमान जी सबसे पहले लंका गए? आज इसी प्रश्न के उत्तर मे यह लेख लिख रहा हूँ। अंगद जी से जब समुद्र लाघने के लिए पूछा गया था, तब उन्होने निम्न पंक्ति कही थी। अंगद कहइ जाउँ मैं पारा। जियँ संसय कछु फिरती बारा॥ अंगद जी बाली Read Full Article

हमारे देश का सबसे बड़ा हीरो कौन है?

हमारे देश का सबसे बड़ा हीरो कौन है यह प्रश्न थोड़ा सा भ्रमित करने वाला प्रश्न हैं, क्योंकि इसमे यह पता नहीं चल पा रहा हैं की यह प्रश्न किस परिपेक्ष मे पूछा गया हैं। भारत मे कलाकार को भी हीरो का दर्जा मिला हुआ हैं तो वही देश के लिए रक्षा करने वाले सैनिको को भी हीरो कहा जाता हैं तो वही खिलाड़ियों को Read Full Article

सचिन तेंदुलकर की कुल संपत्ति | सचिन तेंदुलकर टोटल शतक

सचिन तेंदुलकर की कुल संपत्ति सचिन तेंदुलकर अपने पूरे करियर में विभिन्न ब्रांडों से जुड़े रहे हैं, और उन्हें अब तक के सबसे धनी क्रिकेटरों में से एक माना जाता है। विभिन्न स्रोतों के अनुसार उनकी कुल संपत्ति लगभग $150 मिलियन आंकी गई है। पूरा नाम सचिन रमेश तेंदुलकर पत्नी का नाम अंजलि तेंदुलकर सचिन का प्रोफेशन क्रिकेटर, कमेंटेटर, मेंटर सचिन की कुल संपत्ति 1350 करोड़ रूपाय (150 मिलियन डालर) सचिन तेंदुलकर का छोटा सा Read Full Article

नर्मदा नदी को चिर कुमारी नदी क्यों कहा जाता हैं? | narmada ko chir kunwari nadi

Narmada ko chir kunwari nadi kyo kahate hain: बचपन मे कई बार दादी के सुनाये किस्से मो नर्मदा माँ की कहानी सुनी हैं। दादी ने बताया था की नर्मदा आजीवन कुमारी थी, इस लिए उन्हे चिर कुमारी नदी कहा जाता हैं। पर अक्सर हम सभी को नर्मदा नदी के चिर कुमारी होने की बात पता चलती हैं तो मन मे पहला प्रश्न यही आता हैं Read Full Article

सामान्य ज्ञान : भारत के रूपय का इतिहास | History of Indian Currency

रूपय का परिचय History of Indian Currency : वर्तमान में अभी दो तरह की मुद्राओं का प्रचलन है, एक तो सिक्कों का और दूसरा कागज के बने रूपाय का हैं। छोटी रकम को सिक्कों के रूप मे इस्तेमाल किया जा रहा है, जबकि बड़े रकम को कागज के बने नोट के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन जब भारत में अंग्रेजों का शासन था, Read Full Article

वस्तु टिप्स : वैजयंती माला और फूल से बदल जाती हैं घर की किस्मत [vaijanti phool ki mala]

Vaijanti Phool ki Mala- वैजयंती के पौधे पर बहुत ही खूबसूरत और मनमोहक सुंदर फूल लगते हैं। यह फूल देखने में बहुत ही मनमोहक होते हैं। वैजयंती के पौधे पर फूलों के बाद बीज भी आते हैं, इन बीजों का इस्तेमाल करके माला बनाई जाती है। वैजयंती के पौधे में लगे हुए फूल भगवान विष्णु को और माता लक्ष्मी को बहुत ही पसंद है। माना Read Full Article

ये हैं भारत के "Big Four" सबसे जहरीले सांप (Most Venomous Snake In India)

भारत के जहरीले साँप का परिचय Most Venomous Snake In India : प्रतिवर्ष 16 जुलाई को पूरे विश्व मे "विश्व सर्प दिवस" यानि World Snake Day को मनाया जाता है। पूरे विश्व मे सर्प दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य यह हैं की लोगों के मन से नाग/साँप के डर को दूर किया जा सके और विश्व भर मे फैले साँपो से संबन्धित भ्रामक जनकारियों के Read Full Article

राजीव दीक्षित : आयुर्वेद की इन बातों का ध्यान रखे तो बीमारियाँ रहेंगी दूर

आज हम राजीव दीक्षित जी के बताए कुछ आयुर्वेदिक सुझाव पर चर्चा कर रहे हैं। उन्होने आयुर्वेद के विषय पर काफी चीजों को स्पष्ट किया हैं। आज उनके ही सूत्रो के माध्यम से जानेंगे की किस प्रकार की सावधानी रख कर व्यक्ति आज के बुरे खान-पान के समय वाले युग मे अपने को सुरक्षित रख सकता हैं। नमक मे कैसी सावधानी बरतनी चाहिए? राजीव दीक्षित जी कहते Read Full Article

Mp4Moviez : कोई भी मूवी कैसे डाउनलोड करें, how download free movie in 300mb

Mp4Moviez.town: अक्सर लोग हिंदी में मूवी डाउनलोड करने की कोशिश करते हैं। वर्तमान समय में पर्याप्त रूप से इंटरनेट डाटा लगभग सभी के पास होता है, जिसकी वजह से हर कोई व्यक्ति अपने खाली समय में मूवी डाउनलोड करके उन्हें देखने की इच्छा रखते हैं। इसके लिए वह गूगल में download Hindi movie या फिर download movie in Hindi जैसे कीवर्ड का इस्तेमाल करके मूवी Read Full Article

अप्रैल फूल का इतिहास और आज का अँग्रेजी कलेंडर गलतियों से भरा हुआ हैं

अप्रैल फूल क्यो मनाया जाता हैं? पुराने समय मे पश्चिम के असभ्य लोग जोर्जियन कलेंडर के हिसाब से अपने कार्यो का निपटान किया करते थे। लेकिन 1582 मे फ्रांस ने जोर्जियन कलेंडर को त्यागकर नए कलेंडर पद्धति को अपना लिया। यह नया कलेंडर ईसाईयों के सबसे बड़े धार्मिक नेता पोप ग्रेगोरियन 13वे के द्वारा बनाया गया था। इसलिए इस कलेंडर को ग्रेगोरियन कलेंडर कहा जाता हैं। Read Full Article

Best शेखचिल्ली की कहानियाँ 01 - शेख साहब के घर का रास्ता

एक दिन की बात हैं शेखचिल्ली कस्बे के कुछ लड़कों के साथ, कस्बे के बाहर बने एक छोटे से पुल पर बैठा था। उसी समय एक व्यक्ति नगर से आए और वहाँ पर बैठे लड़कों से पूछने लगे- "क्यों लड़को शेख साहब का घर की ओर कौनसा रास्ता जाता हैं? शेखचिल्ली के पिता को जानपहचान के लोग शेख साहब कहा करते थे। उस गाँव में Read Full Article

INSTRUCTION CYCLE क्या होता हैं? What is Instruction Cycle?

सीपीयू का मुख्य कार्य प्रोग्राम को execute करना होता हैं। प्रोग्राम मे बहुत सारे instruction होते हैं, जो की किसी निश्चित कार्य को करता हैं। प्रोग्राम RAM मे स्टोर होता हैं। जब सीपीयू प्रोसैस करता हैं तो वह पूरे प्रोग्राम को fetch करके CPU मे नहीं लाता हैं, बल्कि एक एक इन्सट्रक्शन को fetch करके CPU मे लाता हैं। सबसे पहले CPU मेमोरी से प्रोग्राम मे Read Full Article

पंचतंत्र कहानी - लड़ते बकरे और सियार (Hindi Story)

एक दिन एक सियार किसी गाँव से गुजर रहा था। उसने गाँव के बाजार के पास लोगों की एक भीड़ देखी। कौतूहलवश वह सियार भीड़ के पास यह देखने गया कि क्या हो रहा है। सियार ने वहां देखा कि दो बकरे आपस में लड़ाई कर रहे थे। दोनों ही बकरे काफी तगड़े थे इसलिए उनमे जबरदस्त लड़ाई हो रही थी। सभी लोग जोर-जोर से Read Full Article

हिन्दी कहानी - आज का काम कल पर न छोड़े | Hindi Story- Aaj ka Kaam kal par nahi chhode

यह hindi story ज्ञानवर्धक कहानी हैं, क्योकि यह हमे आलस न करने की शिक्षा देती हैं, जब आप इस hindi story को पढ़ेंगे तो पता चलेगा की यह hindi story एक आलसी सिपाही की हैं, और आलस करने की वजह से उसे नुकसान हुआ। एक शहर में ताकतवर सिपाही रहता था। वह बहुत बहादुर था। उसके पास एक घोड़ा था वह भी अपने मालिक की तरह Read Full Article

हिन्दी कहानी - ट्रेन और एक छोटा बच्चा | Hindi Story - Train and a Little Child |

आज से पचास वर्ष पहले भारत में आने जाने की इतनी अधिक साधन नहीं थे। ना बहुत अधिक बसें थी ना ही रेलगाड़ियां थी। एक दिन की बात है एक मारवाड़ी महिला अपने ढाई साल के बेटे के साथ स्टेशन पर आई। वह कोलकाता जाने के लिए आगरा से गाड़ी में सवार हुई। उसके बेटे ने हाथों मे सोने के कड़े और गले में जंजीर Read Full Article

Sakshi Ji ki Kavita - अपूर्व आभास

इस कविता को ईमेल के द्वारा भेजा है साक्षी जी ने। साक्षी जी, हिन्दी साहित्य की विद्यार्थी हैं, दिल्ली से हिन्दी साहित्य मे MA और MPHIL किया हुआ हैं। इस कविता का शीर्षक हैं - अपूर्व आभास जो की साक्षी जी के द्वारा लिखी गई हैं।   अपूर्व आभास हमें ना था कि इस कदर तुममें सिमट जाएंगे हम । अपूर्व आभास हमें ना था कि इस Read Full Article


MENU


Secondary Menu
1. About Us
2. Privacy Policy
3. Contact Us
4. Sitemap


All copyright rights are reserved by MERI BAATE.