logo of gitanjalididi.in

MERI BAATE

प्राचीन भारत में धार्मिक आंदोलन | नवीन धार्मिक आंदोलनों का उदय

प्राचीन भारत में धार्मिक आंदोलन ई.पू. छठी शताब्दी (600 B.C.) धार्मिक आन्दोलनों की शताब्दी मानी गयी है। उस समय विश्व में विभिन्न स्थानों पर नवीन धार्मिक विचारों का सूत्रपात हुआ। ईओनिया (Eoinia Island) में हेराक्लिटस (Heraclitus) ने, ईरान (Persia) में जोरास्टर (Zoraster) ने और चीन में कनफ्यूसियस (Confucius) ने नवीन धार्मिक विचारों का प्रचार किया। भारत भी इन युगान्तरकारी प्रभावों से मुक्त न रहा और यहाँ Read Full Article

मगध साम्राज्य का उदय एवं पतन पर टिप्पणी लिखिए।

मगध साम्राज्य का उदय मगध साम्राज्य का उदय लगभग 700 ईसा पूर्व हुआ था। उस समय मगध एक छोटा राज्य था, लेकिन यह जल्द ही एक शक्तिशाली राज्य बन गया। मगध एक शक्तिशाली राज्य था। उसका कार्यकाल छठी सदी ईसा पूर्व का था। आधुनिक बिहार राज्य के पटना और गया जिलों के क्षेत्र में यह विस्तृत था। इसकी राजधानियाँ क्रमशः गिरिव्रज, राजगृह और पाटलिपुत्र रहीं। बौद्ध, Read Full Article

चन्द्रगुप्त मौर्य का संक्षिप्त विवरण और चन्द्रगुप्त की विजय तथा साम्राज्य विस्तार

चन्द्रगुप्त मौर्य का संक्षिप्त विवरण संस्थापक चन्द्रगुप्त मौर्य था। उसका जन्म 345 ई. पूर्व में मोरिस या मौर्य वंश के क्षत्रिय कुल में हुआ था। यह वंश उ.प्र. के पिप्पलनावा में शासन करता था। चन्द्रगुप्त का पालन-पोषण पहले ग्वाले फिर एक शिकारी ने किया। खेलते समय चाणक्य की दृष्टि उस पर पड़ी। वह उससे प्रभावित हुआ तथा उसे तक्षशिला ले आया। उसे 8 वर्ष तक शिक्षा Read Full Article

अरबों और मुहम्मद बिन कासिम का सिन्ध पर आक्रमण का वर्णन

मुहम्मद बिन कासिम और अरबों का सिंध में आक्रमण अरब एशिया महाद्वीप का एक प्रायः द्वीप है। रेगिस्तान, वर्षा एक अचम्भा, खजूर तथा ऊँट अरब की पहचान है। अरब घुमक्कड़ जाति बेदुइन का प्रमुख कार्य पशुपालन, व्यापार तथा लोगों को लूटना था। एक अरबी लेखक के अनुसार, "हमारा कार्य है लूट के लिए धावे बोलना- शत्रु के विरुद्ध, पड़ोसी के विरुद्ध और कोई न मिले तो Read Full Article

मुहम्मद गौरी के भारत पर आक्रमण के प्रभाव का वर्णन कीजिये

महमूद गजनवी ने भारत पर आक्रमण करके भारत को आर्थिक तथा सैनिक दृष्टि से न केवल कमजोर किया तथा भारत की उत्तर-पश्चिम सीमा पर मुस्लिम राज्यों का निर्माण किया, परन्तु उसने भारत में मुस्लिम राज्य की स्थापना नहीं की। इस छूटे कार्य को मुहम्मद गौरी ने पूर्ण किया। मुहम्मद गौरी गोर वंश का शासक था। गोर क्षेत्र गजनवी तथा हिरात के बीच था। कुछ विद्वानों Read Full Article

धनाजी जाधव राव जी कौन हैं, क्यो मुगल नाम सुनकर काँपते थे?

धनाजी का परिचय धनाजी जाधव (1650-1708) को धनाजी जाधव राव के नाम से भी जाना जाता है , वह मराठा सेना के एक प्रमुख सेनापति थे और उन्होंने राजाराम प्रथम , ताराबाई और शाहू प्रथम के शासनकाल के दौरान मराठा साम्राज्य के सेनापति के रूप में कार्य करने का मौका प्राप्त हुआ था।  संताजी घोरपड़े के साथ मिलकर धनाजी जाधव जी ने 1689 से 1696 तक Read Full Article

भारतीय इतिहास का काल विभाजन किसने किया?

भारतीय इतिहास का काल विभाजन किसने किया? भारतीय इतिहास के वर्गीकरण के लिए कोई एक व्यक्ति या लोगों का समूह जिम्मेदार नहीं है। इसके बजाय, यह कई सदियों से कई इतिहासकारों के काम का एक उत्पाद है। भारतीय इतिहास को समय-समय पर विभाजित करने के शुरुआती ज्ञात प्रयास स्वयं प्राचीन भारतीय विद्वानों द्वारा किए गए थे। उदाहरण के लिए, अर्थशास्त्र, जो लगभग चौथी शताब्दी ईसा पूर्व में Read Full Article

आजादी से पहले भारत का नाम क्या था?

आजादी से पहले भारत का नाम क्या था? आजादी से पहले भारत का नाम "भारत" ही था। लेकिन वामपंथी और संस्कृति विरोधी हमेशा भारत के प्राचीन इतिहास को झुठलाने की कोशिस करते रहते हैं। भारत यह नाम प्राचीन काल से ही प्रचलित था। भारत शब्द का उल्लेख ऋग्वेद में मिलता है, जो कि एक प्राचीन भारतीय ग्रंथ है। ऋग्वेद में भारत शब्द का प्रयोग एक जनजाति Read Full Article

भारत का मैनचेस्टर किसे कहा जाता है

भारत का मैनचेस्टर किसे कहा जाता है भारत का मैनचेस्टर अहमदाबाद को कहा जाता है। अहमदाबाद, गुजरात राज्य का एक प्रमुख शहर है जो सूती वस्त्र उद्योग के लिए प्रसिद्ध है। अहमदाबाद में लगभग 5,000 से अधिक सूती कपड़ा मिल हैं, जो भारत में सूती कपड़े के उत्पादन का लगभग 25% हिस्सा बनाती हैं। अहमदाबाद में सूती वस्त्र उद्योग की स्थापना 19वीं शताब्दी में हुई थी, Read Full Article

1952 के आम चुनाव में दूसरे नंबर पर रहने वाले राजनीतिक पार्टी कौन सी थी?

1952 के आम चुनाव में दूसरे नंबर पर रहने वाले राजनीतिक पार्टी कौन सी थी 1952 के आम चुनाव में दूसरे नंबर पर रहने वाली राजनीतिक पार्टी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) थी। इस चुनाव में CPI ने 16 सीटें जीती थीं, जो कुल 489 सीटों में से लगभग 3% थी। पहले नंबर पर रहने वाली पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) थी, जिसने 364 सीटें जीती थीं। भारत Read Full Article

सातवाहन कौन थे और गौतमीपुत्र शातकर्णी का परिचय

सातवाहन कौन थे आन्ध्र एक जाति का नाम था, जो गोदावरी और कृष्णा नदियों के बीच के भाग पर निवास करती थी। आन्ध्रों की के विषय में कहा जाता है कि विश्वामित्र के वंशजों ने अनार्य स्त्रियों से विवाह कर लिया था, इस विवाह से जो सन्तानें उत्पन्न हुई वे आन्ध्र कहलातीं। आगे चलकर धीरे-धीरे यह एक जाति बन गयी, जिसने बाद में आर्य धर्म और Read Full Article

संस्कार का अर्थ? और 16 संस्कारों के नाम और विवरण

संस्कार का अर्थ संस्कार भी हिन्दू सामाजिक संगठन के मूल तत्वों में से एक है। संस्कार शब्द की व्युत्पत्ति समपूर्वक 'कुत्र' धातु से 'धज' प्रत्यय करके की गई है। शब्दार्थ की दृष्टि से संस्कार का अर्थ है-शुद्धि, परिष्कार अथवा स्वच्छता । वास्तव में संस्कार का अभिप्राय उस धार्मिक कृत्य अथवा अनुष्ठान से लगाया जाता है जो मनुष्य की शुद्धि तथा उसके शारीरिक, मानसिक और बौद्धिक परिष्कार Read Full Article

भारत में सबसे ज्यादा कपास की खेती कहां होती है

भारत में सबसे ज्यादा कपास की खेती कहां होती है भारत में सबसे ज्यादा कपास की खेती गुजरात मे होती हैं, नीचे हम भारत के शीर्ष 5 कपास उत्पादक राज्य की सूची दे रहे हैं, इसके साथ साथ 2021-22 में इन राज्यो के द्वारा उत्पादन की जानकारी भी शामिल हैं- गुजरात: 8.52 मिलियन गांठे महाराष्ट्र: 7.12 मिलियन गांठे तेलंगाना: 6.07 मिलियन गांठे राजस्थान: 5.5 मिलियन गांठे Read Full Article

विश्व की सबसे ऊंची मूर्ति | World's Tallest Statue

विश्व की सबसे ऊंची मूर्ति विश्व की सबसे ऊंची मूर्ति भारत के गुजरात राज्य में स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी है. यह प्रतिमा सरदार वल्लभ भाई पटेल को समर्पित है, जिन्हें भारत के "राष्ट्रपिता" कहा जाता है. प्रतिमा की ऊंचाई 182 मीटर (597 फीट) है और यह 2018 में बनकर तैयार हुई थी. स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा होने का गौरव प्राप्त है. विश्व Read Full Article

गांधी जी का पूरा नाम | महात्मा गांधी का नाम महात्मा कैसे पड़ा

गांधी जी का पूरा नाम महात्मा गांधी का पूरा नाम 'मोहनदास करमचंद गांधी' था। वह भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक थे और उन्हें आदर्शता के प्रतीक और अहिंसा के प्रचारक के रूप में जाना जाता है। उनका जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को गुजरात के पोरबंदर, भारत में हुआ था और उनका निधन 30 जनवरी, 1948 को नई दिल्ली, भारत में हुआ था। उन्हें राष्ट्रपिता (Father of Read Full Article

स्वतंत्र भारत में प्रथम आम चुनाव कब हुआ

स्वतंत्र भारत में प्रथम आम चुनाव कब हुआ 1947 मे भारत के बटवारे और आजादी मिलने के बाद लोकसभा का पहला चुनाव अक्टूबर 1951 से लेकर फरवरी 1952 के बीच हुये थे। यह भारत का पहला चौनव था जो भारतीय संविधान के बताए गए प्रावधानों के अनुसार हुये थे। इस लोकसभा चुनाव मे 489 सीट के लिए चुनाव हुये थे, इस 489 सीट मे 1949 उम्मीदवार Read Full Article

अलबरूनी कहां का निवासी था वह गजनी कैसे पहुंचा

अलबरूनी कहां का निवासी था वह गजनी कैसे पहुंचा अलबरूनी एक प्रसिद्ध लेखक था, अलबरूनी का जन्म खीव नाम के स्थान पर 973ई. में हुआ था। 1017ई. के समय महमूद गजनवी ने  खीव पर आक्रमण किया और खीव पर अपना अधिकार कर लिया। इस युद्ध में महमूद गजनवी को एक बंदी मिला, यह बंदी कोई और नहीं अलबरूनी था। अलबरूनी के ज्ञान और योग्यता से महमूद गजनवी Read Full Article

प्लासी का युद्ध | Battle of Plassey

प्लासी का युद्ध (Battle of Plassey) प्लासी का युद्ध ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी और बंगाल के नवाब सिराजुदौला के बीचा लड़ा गया था। यह युद्ध प्लासी नमके स्थान पर लड़ा गया था, इसलिए इस युद्ध को पलासी युद्ध के नाम से जानते हैं। इस युद्ध मे ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी का नेतृत्व लॉर्ड रोबर्ट क्लाइव ने किया था। या युद्ध 23 जून 1757 को हुआ था, Read Full Article

पानीपत का तृतीय युद्ध | panipat ka tritiya yuddh

पानीपत का तृतीय युद्ध पानीपत का तृतीय युद्ध पानीपत नाम के स्थान मे 14 जनवरी 1761 को मराठो और अफगानी लोगो के बीच मे लड़ा गया था। इस युद्ध मे मराठा शक्ति की हार हुई थी। पानीपत का तृतीय युद्ध पूरे विश्व स्तर पर एक महत्वपूर्ण घटना मनी जाती हैं। कई इतिहासकार का मानना हैं की भारत के इतिहास मे इस युद्ध ने भारत की आजादी की Read Full Article

भारत का राष्ट्रिय खेल कौनसा हैं? bharat ka rashtriya khel kaun sa hai

भारत का राष्ट्रिय खेल कौनसा हैं? bharat ka rashtriya khel kaun sa hai भारत सरकार के द्वारा किसी भी खेल को आधिकारिक रूप से राष्ट्रिय खेल का दर्जा नहीं दिया हैं, लेकिन भारत मे हाँकी को भारत का राष्ट्रिय खेल माना जाता हैं। शुरुआती समय मे भारत को हॉकी मे कई सफलताएँ मिली और इसीलिए जन-मानस के बीच यह लोकप्रिय हो गया। और भारत के राष्ट्रिय Read Full Article

भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन | bharat ka sabse bada railway station

भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन | bharat ka sabse bada railway station क्षेत्र और यात्रियों को संभालने की क्षमता के मामले में भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन कोलकाता, पश्चिम बंगाल में स्थित हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन है। हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन लगभग 23.5 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है और प्रतिदिन 600 से अधिक यात्री ट्रेनों का संचालन करता है, जिसमें प्रतिदिन 10 लाख Read Full Article

भारत का सबसे बड़ा राज्य | bharat ka sabse bada rajya

भारत का सबसे बड़ा राज्य | bharat ka sabse bada rajya भारत 28 राज्यों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित है। क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य राजस्थान है, जिसका क्षेत्रफल 342,239 वर्ग किलोमीटर है। यह देश के उत्तर-पश्चिमी भाग में स्थित है और अपने विशाल रेगिस्तान, रंगीन संस्कृति और समृद्ध इतिहास के लिए जाना जाता है। राजस्थान की राजधानी जयपुर है, Read Full Article

सबसे बड़ा ग्रह कौन सा है | Sabse bada grah kaun sa hai

सबसे बड़ा ग्रह कौन सा है | Sabse bada grah kaun sa hai हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति (Jupiter) है। यह ग्रह गैस से भरा हुआ हैं और इसका व्यास लगभग 86,881 मील (139,822 किलोमीटर) है, जो पृथ्वी के व्यास के 11 गुना से अधिक है। बृहस्पति इतना बड़ा है कि यह वास्तव में हमारे सौर मंडल के सभी ग्रहों को मिलाकर भी बड़ा Read Full Article

भारत का संविधान कितने पेज का है? | Bharat ka samvidhan kitane page ka hai?

भारत का संविधान कितने पेज का है? भारत का संविधान मे कुल 251 पेज हैं। भारत के संविधान को बनाने के लिए दुनिया भर के अलग अलग देशो के संविधान का अध्ययन किया गया था। इसके बाद भारत के संविधान को बनाया गया था। भारत का यह संविधान 26 नवंबर 1949 को पारित किया गया था और 26 जनवरी 1950 को यह भारत मे लागू हुआ Read Full Article

स्वदेशी व बहिष्कार आंदोलन के कारण और प्रभाव | Swadeshi Andolan Hindi Notes

भारत की स्वतंत्रता का स्वदेशी आंदोलन | Swadeshi Andolan भारत की स्वतंत्रता के लिए जारी राष्ट्रीय आंदोलन में सन 19 06 एक महत्वपूर्ण साल रहा क्योंकि इसमें बहुत ही महत्वपूर्ण घटनाएं घटित हुई। लॉर्ड कर्जन के द्वारा बंगाल के बटवारा हो जाने के बाद वहां पर लगातार विरोध होने लगा और शांति का इस्तेमाल करते हुए लोगों ने कानून को भंग करना प्रारंभ कर दिया। इस Read Full Article

1858 का भारतीय अधिनियम | Government of India act 1858 in Hindi

1858 का भारतीय अधिनियम 1857 के पहले तक भारत में ब्रिटिश की ईस्ट इंडिया कंपनी का शासन चल रहा था। इस दौरान कंपनी ने भारत में अपने सत्ता को बरकरार रखने के लिए भारत के नागरिकों पर दमनकारी नीतियों को थोप रही थी। लगातार भारत के निवासियों को कमजोर करने के लिए कंपनी के अधिकारियों द्वारा दमनकारी कृत्यो को किया जाता था। इन दमनकारी नीतियों Read Full Article

सिंधु घाटी की सभ्यता एवं संस्कृति | sindhu ghati sabhyata in hindi

Sindhu ghati sabhyata in hindi - सन 1922 में ब्रिटिश अधिकारी सर जॉन मार्शल की देखरेख में वर्तमान पाकिस्तान में स्थित हड़प्पा तथा मोहनजोदड़ो नाम के स्थान पर खुदाई कार्य क्रमशाह श्री राय बहादुर श्री दयाराम साहनी और श्री राखल दास बनर्जी के द्वारा किया गया था। नाम की सार्थकता इस सभ्यता के मुख्य स्थान सिंधु और उसकी सहायक नदियों के समीपस्थ क्षेत्रों में स्थित थे। इसलिए Read Full Article

India Gk : 1857 का विद्रोह कब हुआ? 1857 ki Kranti | Revolt of 1857

विद्रोह के मुख्य कारण क्या थे? 1857 ki kranti : लॉर्ड डलहौजी के द्वारा राज्य हड़प नीति लागू की गई थी, जिसकी वजह से भारतीय लोगों में रोष उत्पन्न हो गया था। इसके साथ ही लॉर्ड वेलेजली की सहायक संधि ने भी विद्रोह को भड़काने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 1857 के विद्रोह (1857 ki kranti) के लिए राजनीतिक कारण तो जिम्मेदार थे,  इसके अलावा प्रशासनिक कारण Read Full Article

बंगाल के गवर्नर जनरल | Bengal ke Governor General

आज इस लेख के माध्यम से हम बंगाल के गवर्नर-जर्नल के बारे मे जानेंगे, प्रतियोगी परीक्षाओ मे इनके बारे मे पूछा जाता हैं। यह पर इंडिया जीके और भारत के आधुनिक इतिहास का हिस्सा हैं। तो आइये जानते हैं बंगाल के गवर्नर-जर्नल के बारे मे। वारेन हेस्टिंग्स (1774-85 ई.) 1774 में वारेन हेस्टिंग बंगाल के गवर्नर-जनरल नियुक्त हुए थे। उन्हीं के शासनकाल में द्वैध शासन की Read Full Article


MENU


Secondary Menu
1. About Us
2. Privacy Policy
3. Contact Us
4. Sitemap


All copyright rights are reserved by MERI BAATE.